NDTV Khabar

पीएम मोदी के तीन साल के शासनकाल में भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा : अमित शाह

शाह ने यह भी दावा किया कि गरीबों के बैंक खाते खोलने से उनके खाते में सीधे पैसे जमा हो रहे हैं इससे लगभग 69,000 करोड़ रूपये की सब्सिडी राशि की चोरी रूकी है, जो कि एक बड़ी रकम है.

167 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी के तीन साल के शासनकाल में भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा : अमित शाह

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह...

भोपाल: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के तीन साल के शासनकाल के दौरान उन पर एक भी भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा है, जबकि पूर्ववर्ती संप्रग सरकार ने अपने 10 साल के शासन के दौरान 12 लाख करोड़ रूपये के घोटाले किये थे. शाह ने ‘नया भारत मंथन संकल्प से सिद्धि नामक प्रबुद्ध नागरिक’ सम्मेलन को यहां संबोधित करते हुए कहा, ‘‘भाजपा सरकार लोगों का विकास करने में विश्वास करती है. मोदी सरकार का 60 प्रतिशत समय अब तक पूरा हो चुका है. लेकिन विपक्ष द्वारा उन पर अब तक भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगाया गया है.’’ वह तीन दिवसीय भोपाल के दौरे पर आज यहां पहुंचे.

भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के मुद्दे पर मोदी की तारीफ करते हुए उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोला और आरोप लगाया, ‘‘पिछली संप्रग सरकार ने 12 लाख करोड रूपये का भ्रष्टाचार किया.’’ शाह ने यह भी आरोप लगाया कि पिछली संप्रग सरकार के दौरान प्रधानमंत्री पद की गरिमा कम हो गई थी. उन्होंने कहा, ‘‘मोदी ने प्रधानमंत्री एवं उसके पद की गरिमा वापस कराई और निर्णायक सरकार दी. मोदी सरकार ने ऐसे फैसले लिये हैं, जो लोगों के लिए अच्छे हों.’’ नोटबंदी तथा जीएसटी जैसे कडे़ फैसलों का उल्लेख करते हुए शाह ने कहा, ‘‘ये फैसले लोगों के लिए अच्छे हैं और मोदी जी ही ऐसे कडे़ फैसले ले सकते हैं. जनता के हित में दूसरी किसी भी सरकार में ऐसे फैसले लेने का साहस नहीं है.’’ 

उन्होंने कहा कि भाजपा विकास में विश्वास करती है और जिस-जिस राज्य में भाजपा की सरकारें बनी, उन राज्यों में विकास हुआ. इस संदर्भ में उन्होंने एक जमाने में बीमारू राज्य कहे जाने वाले मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ एवं राजस्थान का जिक्र किया, जहां भाजपा की सरकार बनने के बाद विकास हुआ और इन राज्यों को बीमारू राज्य का जो तमगा लगा था, उससे मुक्ति मिल गई.

बिहार की बात करते हुए शाह ने कहा कि जब वहां भाजपा शासन में थी तब वहां काफी विकास हुआ था, लेकिन भाजपा के हटने के बाद बिहार पीछे चला गया. अब पुन: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में जनता दल :यू: के साथ भाजपा का शासन आने पर राज्य प्रगति करेगा.

उन्होंने कांग्रेस की परिवार केन्द्रित राजनीति की तीखी आलोचना करते हुए आरोप लगाया कि इसके चलते 67 सालों में देश विकास के मामले में असफल रह गया.

भाजपा की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि देश की यह अकेली ऐसी पार्टी है जो कुछ सिद्धातों के साथ बनी है और इन्हीं सिद्धातों से यह सत्ता में आयी है. यह दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी भी है तथा यह समाज के अंतिम व्यक्ति के विकास के लिये प्रतिबद्ध है.

उन्होंने जनधन खाते और गरीबों को रसोई गैस उपलब्ध कराने वाले उज्जवला गैस योजना के लिये केन्द्र की मोदी सरकार की प्रशंसा की. उन्होंने बताया कि आज सुबह तक देश में इस योजना के तहत 2.8 करोड़ गैस कनेक्शन दिये जा चुके हैं.

शाह ने यह भी दावा किया कि गरीबों के बैंक खाते खोलने से उनके खाते में सीधे पैसे जमा हो रहे हैं इससे लगभग 69,000 करोड़ रूपये की सब्सिडी राशि की चोरी रूकी है, जो कि एक बड़ी रकम है.

शाह ने मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह द्वारा पत्र लिखकर लगाये गए इस आरोप का खंडन किया कि केन्द्र की वर्तमान भाजपा सरकार ने मध्यप्रदेश को पिछली संप्रग सरकार की तुलना में कम धनराशि आवंटित की है. शाह ने आंकड़े पेश करते हुए कहा कि विभिन्न् योजनाओं में मध्यप्रदेश को पांच लाख करोड़ रूपये केन्द्र सरकार की ओर से दिये जा चुके हैं. उन्होंने इस मामले में नेता प्रतिपक्ष सिंह को चुनौती दी कि मुझे गलत साबित करके बतायें.

उन्होंने कहा कि भाजपा विकास के मुद्दे पर लोकसभा चुनाव में जीतकर सत्ता में आई और सत्ता में आने के तीन सालों में ही मोदी सरकार ने लोगों के कल्याण के लिये 106 योजनाएं लागू की हैं.

इस कार्यक्रम के दौरान शाह ने उदय महुरकर द्वारा लिखित ‘माचिंग विद अ बिलियन’ का विमोचन भी किया. इसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार के अब तक के कार्यकाल के कामों का विश्लेषण किया गया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement