NDTV Khabar

छत्तीसगढ़ के किसानों को धान का बोनस, किसानों के खातों में पहुंची 281 करोड़ रूपए से ज्यादा राशि

छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य के किसानों को धान खरीदी पर बोनस देने की शुरूआत कर दी है. राज्य व्यापी बोनस तिहार त्योहार की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री रमन सिंह ने किसानों के खाते में 281 करोड़ रूपए से ज्यादा बोनस की राशि का ऑनलाइन भुगतान किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
छत्तीसगढ़ के किसानों को धान का बोनस, किसानों के खातों में पहुंची 281 करोड़ रूपए से ज्यादा राशि

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. दिवाली से पहले किसानों को मिला धान बोनस
  2. किसानों के खातों में 281 करोड़ से अधिक राशि ट्रांसफर की गई
  3. मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार अपना बड़ा संकल्प पूरा कर रही है
रायपुर:

छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य के किसानों को धान खरीदी पर बोनस देने की शुरूआत कर दी है. राज्य व्यापी बोनस तिहार त्योहार की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री रमन सिंह ने किसानों के खाते में 281 करोड़ रूपए से ज्यादा बोनस की राशि का ऑनलाइन भुगतान किया. आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि मुख्यमंत्री ने जिला मुख्यालय बलौदाबाजार और बिलासपुर में राज्य व्यापी बोनस तिहार की शुरूआत की. उन्होंने दोनों जिला मुख्यालयों में एक लाख 83 हजार किसानों को 281 करोड़ 41 लाख रूपए की बोनस राशि का ऑनलाइन भुगतान किया.अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने बलौदाबाजार के नवनिर्मित स्टेडियम में आयोजित बोनस तिहार में एक लाख नौ हजार किसानों को लगभग 166 करोड़ 68 लाख रूपए की बोनस राशि का ऑन लाइन वितरण किया.

यह भी पढें: किसानों के साथ योगी सरकार का ये कैसा इंसाफ, 1.5 लाख के कर्ज में से 1 पैसा किया माफ


टिप्पणियां


उन्होंने बिलासपुर के साइंस कॉलेज मैदान में आयोजित बोनस तिहार में 74 हजार 500 किसानों को 114 करोड़ 73 लाख रूपए का बोनस की राशि का ऑनलाइन भुगतान किया. इस अवसर पर सिंह ने कहा कि किसान और मजदूर छत्तीसगढ़ राज्य के असली निर्माता हैं, जिनकी मेहनत से ही राज्य निरंतर प्रगति की ओर अग्रसर है. मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को उनकी मेहनत का वाजिब मूल्य दिलाने के लिए, जहां प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के उपार्जन केन्द्रों में धान खरीदी की बेहतर व्यवस्था की गई है, वहीं उन्हें वर्ष 2016 के धान के लिए 300 रूपए प्रति क्विंटल की दर से 2100 करोड़ रूपए का बोनस भी दिया जा रहा है.

VIDEO: तीन साल बाद भी नहीं बन पाई किसान मंडी
उन्होंने दोनों जिला मुख्यालयों में जनसभाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि बोनस वितरण के माध्यम से राज्य सरकार अपना एक बड़ा संकल्प आज पूरा कर रही है. राज्य सरकार ने किसानों को दीपावली से पहले बोनस देने का संकल्प लिया था. सहकारी समितियों में इस वर्ष धान बेचने वाले किसानों को अगले वर्ष बोनस दिया जाएगा. उन्होंने बोनस राशि की स्वीकृति प्रदान करने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार प्रकट किया. रमन सिंह ने इस बार अल्पवर्षा की वजह से छत्तीसगढ़ की 96 तहसीलों में सूखे की स्थिति उत्पन्न होने का भी उल्लेख किया और कहा कि राज्य सरकार इस प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए किसानों को हर संभव मदद कर रही है. इस अवसर पर राज्य सरकार के मंत्री, क्षेत्र के सांसद, विधायक और अन्य नेता मौजूद थे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement