NDTV Khabar

मध्य प्रदेश में बारिश का कहर: खाली हो रहे 34 गांव, बाढ़ का पानी घरों और दुकानों में घुसने से लोग बेहाल

मध्य प्रदेश के कई इलाकों में हो रही लगातार बारिश से नदी नाले उफान पर हैं. नर्मदा नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मध्य प्रदेश में बारिश का कहर: खाली हो रहे 34 गांव, बाढ़ का पानी घरों और दुकानों में घुसने से लोग बेहाल

बाढ़ की प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. मध्य प्रदेश में झमाझम बारिश
  2. पानी से बाढ़ की स्थिति उत्पन्न
  3. गांव छोड़ने को हुए मजबूर
मध्य प्रदेश:

मध्य प्रदेश के कई इलाकों में हो रही लगातार बारिश से नदी नाले उफान पर हैं. नर्मदा नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है. बड़वानी और आसपास के इलाकों में एहतियात के तौर पर प्रशासन ने नर्मदा किनारे के 34 गांवों को खाली कराने का काम शुरू कर दिया है. सुरक्षा की दृष्टि से नर्मदा के किनारे बसे रिहाइशी इलाकों में एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और जिला प्रशासन तैनात है. उधर, नर्मदा बचाओ आंदोलन के बैनर तले मेधा पाटकर के नेतृत्व में करीब 300 प्रभावितों ने सत्याग्रह आंदोलन छेड़ दिया है.

महाराष्ट्र के सांगली में बाढ़ मचा रही तबाही, सीएम देवेंद्र फडणवीस ने किया हवाई दौरा

गुजरात इस दफे सरदार सरोवर डैम को उसकी पूरी क्षमता यानी 138.68 मीटर तर भरने चाहते हैं, जिससे कई गांव में पानी भरना तय है. एनबीए का आरोप है कि अभी भी बड़ी तादाद में लोगों का पुनर्वास नहीं हुआ है. ऐसे में उनकी मांग है कि नर्मदा घाटी के सैकड़ों लोगों को बचाने के लिये मध्य प्रदेश सरकार को फौरन गुजरात सरकार से बात करके सरदार सरोवर बांध के गेट खुलवाने की व्यवस्था करना चाहिये, साथ ही मुआवजे और पुनर्वास का काम भी तेजी से पूरा करना चाहिये.


उधर सरदार सरोवर बांध में बैक वाटर बढ़ने से धार जिले के निसरपुर में बाढ़ का पानी घुसने लगा है और व्यापारी अपनी दुकानें खाली कर रहे हैं. बैक वाटर का स्तर बढ़ने से निसरपुर के पास बहने वाली उरी और बाघनी नदी का पानी निसरपुर में घुस रहा है जिससे निसरपुर डूबने की स्थिति में पहुंच गया है इसी के चलते निसरपुर के व्यापारी अपनी दुकान खाली कर रहे हैं तो वहीं कुछ स्थानीय लोग जब तक शासन की ओर से मिलने वाली प्रभावितों की सारी सुविधाएं नहीं मिल जाती तब तक खाली नहीं करने की बात कर रहे हैं.

महाराष्ट्र: सांगली में रेस्क्यू के दौरान नाव पलटी, 14 लोगों की मौत, 9 के शव मिले

धार जिले सहित धार शहर में भी बीती रात से लगातार बारिश के चलते सड़कें जलमग्न हो गई है और कई कॉलोनियों में पानी की निकासी नहीं होने से ओमकार नगर, जानकीनगर, कॉलोनी में लोगों के घरों में पानी घुस गया है. धार जिले के धारावर गांव में लगातार बारिश से एक शख्स शाहिद मंसूरी का मकान ढह गया.

वहीं पांढुर्णा के बेलगांव में जाम नदी के उफान पर आने से प्रसव पीड़ा से जूझ रही महिला को खटिया पर डाल कर ग्रामीणों ने अस्पताल पहुंचाया. रास्ते में पुल के ऊपर था 2 फीट पानी बह रहा था जिससे गांव में एंबुलेंस का पहुंचना मुश्किल था. शाजापुर ज़िले में भी लगातार बारिश का दौर जारी है, कई नदी नाले उफान पर हैं. कई क्षेत्रों का संपर्क टूट गया है. शहर को दो हिस्सों में बांटने वाली चीलर नदी के पुल पर पानी भरा है लेकिन लोग जान जोखिम में डाल कर पुल पार कर रहे हैं.

देश के अधिकांश हिस्सों में भारी बारिश, कर्नाटक और महाराष्ट्र में स्थिति गंभीर

टिप्पणियां

मध्यप्रदेश के मंदसौर में पिछले 3 दिनों से लगातार हो रही बारिश से ग्रामीण अंचल में लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. ज़िले के अफजलपुर थाना क्षेत्र के रठाना में एक युवक पानी में बह गया, जिसे गांव वालों ने बड़ी मशक्कत से बचा लिया. अफजलपुर में 3 दिन से हो रही बरसात से तुंबड़ नदी उफान पर है. ऐसे में नाले के पार रहने वाले ग्रामीणों को मजबूरी में रास्ता पार करना पड़ रहा है. जबकि शामगढ़ थाना क्षेत्र के असावती के हाई स्कूल के बच्चे रास्ते में उफनते नाले को ग्रामीणों की मदद से रस्सी के सहारे पार करके अपने घर पहुंचे. 

Video: महाराष्ट्र के सांगली में बचाव कार्य में जुटी नौका पलटने से 14 लोगों की मौत



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement