NDTV Khabar

मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार के छह मंत्री हटाए जाएंगे, जानिये क्या है वजह...

मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार के छह मंत्रियों को हटाए जाने की चल रही चर्चाओं की पुष्टि लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने सोमवार को कर दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार के छह मंत्री हटाए जाएंगे, जानिये क्या है वजह...

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ. (फाइल फोटो)

इंदौर:

मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार के छह मंत्रियों को हटाए जाने की चल रही चर्चाओं की पुष्टि लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने सोमवार को कर दी है. सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि कई लोगों को एकोमोडेट किया जाना है, इसलिए पांच-छह मंत्रियों को हटाया जा सकता है. उन्हें संगठन में जिम्मेदारी दी जा सकती है. वर्मा ने आगे कहा, 'किसी भी राज्य की सरकार को चलाने की प्रक्रिया होती है. नए लोगों को जोड़ें, पुराने लोगों को भी काम दें, किसी को संगठन की जिम्मेदारी दें. संगठन का किसी को मुखिया बनाया जाए. इसी क्रम में अभी तो छह मंत्रियों को हटाने की बात है. इन स्थानों पर नए लोगों को लाया जाए, वहीं मंत्रियों के पांच पद अभी खाली पड़े हैं.'

अब शिवराज सरकार के 'टारगेटों' का ऑडिट कराएगी कमलनाथ सरकार, बीजेपी ने कहा- कोई फिक्र नहीं


मालूम हो कि पिछले कुछ दिनों से राज्य सरकार के छह मंत्रियों को हटाने की चर्चा है. सरकार के भविष्य पर किसी तरह का खतरा न आए, इसके लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ समर्थन देने वाले गैर कांग्रेसी विधायकों को मंत्री बनाना चाहते हैं. कमलनाथ ने एक एक फॉर्मूला बनाया है. इसके मुताबिक, तीनों बड़े नेताओं (कमलनाथ, दिग्विजय सिंह व ज्योतिरादित्य सिंधिया) के कोटे वाले दो-दो मंत्रियों को बाहर करने की तैयारी है.

केंद्रीय मंत्री थावर चंद गहलोत बने राज्यसभा के नए नेता, लेंगे अरुण जेटली की जगह

राज्य की 230 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के 114, भाजपा के 108 विधायक हैं. इसके अलावा दो बसपा, एक सपा और चार निर्दलीय विधायक हैं. अभी हाल ही में एक सीट खाली हुई है, क्योंकि झाबुआ से विधायक रहे जीएस डामोर सांसद का चुनाव जीत गए हैं. कांग्रेस को बसपा के दो, सपा के एक और चार निर्दलीय विधायकों का समर्थन हासिल है. एक निर्दलीय मंत्री है, जबकि तीन मंत्री बनने का इंतजार कर रहे हैं. वहीं अन्य समर्थन करने वाले विधायक भी कतार में हैं. 

मध्यप्रदेश में 165 दिन में 450 आईएएस-आईपीएस अफसरों के ट्रांसफर, बीजेपी ने कहा- यह तबादला उद्योग

इस तरह निर्दलीय तीन विधायकों और बसपा के दो व सपा के एक विधायक को कमलनाथ मंत्री बनाने की योजना पर काम कर रहे हैं, ताकि इन समर्थन देने वाले विधायकों के असंतोष को दबाया जा सके और सरकार पर कोई खतरा न रहे. 

टिप्पणियां

VIDEO: मध्य प्रदेश में 165 दिनों में 450 तबादले

(इनपुट: IANS)



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement