छत्तीसगढ़ : कांग्रेस विधायक के प्रदर्शन में सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां, देखिए VIDEO

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कोरिया जिले में कांग्रेस विधायक विनय जायसवाल (Vinay Jaiswal) प्रदर्शन कर रहे थे. प्रदर्शन के दौरान मौके पर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई गईं.

छत्तीसगढ़ : कांग्रेस विधायक के प्रदर्शन में सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां, देखिए VIDEO

विनय जायसवाल कांग्रेस पार्टी के विधायक हैं.

खास बातें

  • कांग्रेस विधायक हैं विनय जायसवाल
  • बहाली की मांग को लेकर किया प्रदर्शन
  • प्रदर्शन में सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां
कोरिया:

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कोरिया जिले में कांग्रेस विधायक विनय जायसवाल (Vinay Jaiswal) प्रदर्शन कर रहे थे. प्रदर्शन के दौरान मौके पर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई गईं. न्यूज एजेंसी ANI ने इसका एक वीडियो भी जारी किया है. वीडियो में कांग्रेस विधायक समर्थकों से घिरे नजर आ रहे हैं. इनमें से कुछ लोगों ने मास्क भी नहीं पहना है. लोगों के हाथों में कोल फील्ड्स लिमिटेड के खिलाफ तख्तियां भी नजर आ रही हैं.

बताते चलें कि कांग्रेस विधायक विनय जायसवाल 32 कर्मचारियों की बहाली की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे. विनय जायसवाल ने इस बारे में कहा, 'राज्य में पिछली भाजपा सरकार के दौरान एक काल्पनिक जांच के आधार पर दक्षिण पूर्वी कोल फील्ड्स लिमिटेड द्वारा श्रमिकों को बर्खास्त कर दिया गया था.'

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में प्रत्येक नागरिक के लिए मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया है. मास्क नहीं लगाने पर 100 रुपये का जुर्माना देना होगा. राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने शुक्रवार को यहां बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) की अध्यक्षता में उनके निवास कार्यालय में एक उच्चस्तरीय बैठक आयोजित की गई थी. बैठक में स्कूलों और कॉलेजों में दाखिले की प्रक्रिया शुरू करने और कोरोनावायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए मास्क की अनिवार्यता सहित कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए.

राज्य के कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे और वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने बैठक में लिए गए निर्णयों के बारे में बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए राज्य में प्रत्येक नागरिक के लिए मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है. बिना मास्क लगाए पाए जाने पर 100 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा.

Newsbeep

चौबे और अकबर ने बताया कि राज्य के शैक्षणिक संस्थानों, स्कूलों और कॉलेजों में जुलाई माह में दाखिला की प्रक्रिया प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया है. केन्द्र सरकार के परामर्श के अनुसार, परिस्थितियों को देखकर अगस्त से कक्षाएं शुरू करने के बारे में विचार किया जाएगा. उन्होंने बताया कि राज्य में भौतिक दूरी का पालन सुनिश्चित किया जाएगा. पूर्व की भांति सभा और समारोहों का आयोजन स्थगित रहेगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मंत्रियों ने बताया कि बैठक में राज्य में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और बचाव प्रयासों की समीक्षा और पृथक-वास केन्द्रों की व्यवस्थाओं के बारे में भी चर्चा की गई. अधिकारियों ने बताया कि बैठक में मंत्री परिषद के सभी सदस्य, मुख्य सचिव, अतिरिक्त मुख्य सचिव और अन्य विभागों के सचिव उपस्थित थे. (इनपुट भाषा से भी)



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)