मध्य प्रदेश के कटनी में घर में रखा था शव, फिर भी चलवा दिया बुलडोजर, डीएम ने आरोप को सिरे से किया खारिज

मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार भूमाफिया के खिलाफ 'आपरेशन क्लीन' अभियान चला रही है, लेकिन कटनी में इस अभियान की एक हैरान कर देने वाली तस्वीर सामने आई जिसमें प्रशासन ने हद कर दी.

मध्य प्रदेश के कटनी में घर में रखा था शव, फिर भी चलवा दिया बुलडोजर, डीएम ने आरोप को सिरे से किया खारिज

बुलडोजर से तोड़े गए मकान में रखा था महिला का शव

खास बातें

  • कमलनाथ सरकार भूमाफिया के खिलाफ 'आपरेशन क्लीन' अभियान चला रही है
  • जिस घर में रखा था महिला का शव, वह घर में तोड़ दिया
  • डीएम ने आरोप को खारिज किया
नई दिल्ली:

मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार भूमाफिया के खिलाफ 'आपरेशन क्लीन' अभियान चला रही है, लेकिन कटनी में इस अभियान की एक हैरान कर देने वाली तस्वीर सामने आई जिसमें प्रशासन ने हद कर दी. दरअसल बीते शनिवार को कटनी जिले के स्लीमनाबाद में माफिया दमन दल ने सरकारी जमीन पर बने कई कच्चे-पक्के मकान तोड़ दिए और इस कड़ाके की ठंड में गरीबो को बेघर कर दिया. जिस वक्त 'माफिया दमन दल' यह कार्रवाई कर रहा था, उस दिन एक घर में एक महिला की मौत हो गई थी और शव घर मे रख था. लोग अधिकारियों और कर्मचारियों से मिन्नत करते रहे कि क्रियाकर्म की मोहलत दे दें उसके बाद वह घर खाली कर देंगी, लेकिन किसी ने एक न सुनी और घर पर बुलडोजर चलवा दिया.

सरकार ने तीन माह पहले कराया निकाह, अब पत्नी के घर वाले कह रहे- योजना के पैसे मिलेंगे तब विदाई होगी!

यह घटना तब सामने आई जब कड़ाके की ठंड में बेघर हुए लोगो से मीडियाकर्मी मिलने पहुंचे. बता दें, ये वो गरीब लोग हैं, जिनके मकान चार पांच दिन दिन पहले भूमाफियाओं के विरुद्ध कार्यवाही के नाम बुलडोजर चला कर जमींदोज कर दिए गए.  ठिठुरन भरी ठण्ड में इन परिवारों को कटनी जिला प्रशासन ने पहले बेघर कर दिया है. पेड़ के नीचे खुले आसमान में रात गुजार रहे इन लोंगो का हम हाल जान रहे थे तभी हमारी मुलाकात शकुन बाई चौधरी से हुई तो रौंगटे खड़े कर देने वाला सच सामने आया.उन्होंने आरोप लगाया कि जिस दिन प्रशासन घर तोड़ने पहुंचा था उस दिन उनकी सास का निधन हो गया था और शव घर पर ही रखा था. हमने अधिकारियों की बार-बार मिन्नते कीं, लेकिन बावजूद इसके कोई सुनवाई नहीं हुई. निर्दय और निष्ठुर प्रशासन ने अंतिम संस्कार तक का मौका नही दिया और मकान तोड़ दिया. कड़ाके की ठंड में एक परिवार के लोग पेड़ के नीचे आग जलाकर रात काटते दिखाई दिए. इन लोगों के सिर से छत तो गई साथ ही खाने के भी लाले पड़े हुए हैं. मासूम बच्चों की आंखे टकटकी लगाकर मदद का  इंतजार कर रही है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मध्य प्रदेश: लिफ्ट गिरने से एक ही परिवार के छह लोगों की मौत, एक घायल

लेकिन कटनी के डीएम शशिभूषण सिंह ने इन आरोपों को गलत बताया है. उन्होंने एनडीटीवी से फोन पर बात करते हुए कहा कि घर में शव रखे होने की बात झूठी है. महिला की मौत 10 दिन पहले हुई थी और इन लोगों को दो दिन का समय भी दिया गया था घर खाली करने के लिए. डीएम ने कहा कि अस्पताल परिसर के अंदर इन लोगों ने अतिक्रमण कर रखा था और अस्पताल प्रशासन के कहने पर 28 दिसंबर को कार्रवाई की गई और उसी दिन दो दिन की मोहलत उस परिवार को दी गई थी इसके बाद उन लोगों ने खुद ही अतिक्रमण हटा लिया. लेकिन इसके बाद मीडिया में इस तरह की बात की. डीएम ने जोर देकर कहा कि यह कहना कि घर में डेड बॉडी रखी हुई थी और प्रशासन ने अमनवीय तरीके से कार्रवाई की है, यह आरोप पूरी तरह से गलत है.