NDTV Khabar

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गाया वंदे मातरम, देखें VIDEO

इससे पहले मध्य प्रदेश में सामूहिक 'वंदे मातरम् गायन' पर अघोषित तौर पर लगाई गई रोक से विवाद में आई कांग्रेस ने अपने ही तरह से जवाब देने की कोशिश की थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भोपाल:

मध्य प्रदेश में सामूहिक वंदे मातरम पर लगाई गई अघोषित रोक के बाद सोमवार सुबह भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान  द्वारा की गई पूर्व घोषणा के मुताबिक मंत्रालय के उद्यान में पहुंचकर वंदे मातरम का गान किया. भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित अनेक नेता बड़ी संख्या में मंत्रालय के उद्यान में जमा हुए और सभी ने सामूहिक वंदे मातरम का गान किया.  इस मौके पर शिवराज ने कहा कि प्रदेश सरकार ने वंदे मातरम गान को नए स्वरूप में करने की बात कही है, मगर इसे बंद नहीं किया जाना चाहिए. ज्ञात हो कि राज्य में बीते 13 सालों से माह के पहले कार्य दिवस पर मंत्रालय के उद्यान में सामूहिक वंदे मातरम होते आया है मगर सत्ता परिवर्तन के बाद जनवरी की पहली तारीख को वंदे मातरम नहीं हुआ. इसके चलते भाजपा ने सरकार पर हमला बोला. बाद में मुख्यमंत्री कमलनाथ की सरकार को यू-टर्न लेकर वंदे मातरम को नए स्वरूप में कराने का ऐलान करना पड़ा.  

13 साल पुरानी परंपरा टूटी तो बोले शिवराज: अगर कांग्रेस को राष्ट्रगीत गाने में शर्म आती है तो मैं गाऊंगा वंदे मातरम्


इससे पहले मध्य प्रदेश में सामूहिक 'वंदे मातरम् गायन' पर अघोषित तौर पर लगाई गई रोक से विवाद में आई कांग्रेस ने अपने ही तरह से जवाब देने की कोशिश की थी. कांग्रेस के विधानसभा चुनाव में पराजय झेलने वाले उम्मीदवारों की बैठक की शुरुआत 'वंदे मातरम्' के गान से हुई. राज्य में नवंबर माह में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के 115 उम्मीदवारों को हार का सामना करना पड़ा था. हार की क्या वजह रही, पार्टी के नेताओं ने किस तरह का सहयोग या असहयोग किया, इसकी समीक्षा के लिए गुरुवार शाम को पार्टी के प्रदेश दफ्तर में हारे हुए प्रत्याशियों की बैठक बुलाई गई थी. इस बैठक में हार के कारणों की चर्चा हूई. इस बैठक में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री कमलनाथ विशेष तौर पर उपस्थित रहे. बैठक की शुरुआत 'वंदे मातरम्' के गान से हुई।. बैठक में 'वंदे मातरम्' गाए जाने को वल्लभ भवन के उद्यान में सामूहिक गान न कराए जाने पर उठे विवाद को शांत किए जाने की जुगत के तौर पर देखा जा रहा है.  

मध्य प्रदेश सचिवालय में ‘वंदे मातरम' न गाने को लेकर भाजपा ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा... 

आपको बता दें कि राज्य में भाजपा के शासनकाल में साल 2005 में सामूहिक 'वंदे मातरम्' की शुरुआत हुई थी. हर माह की पहली तारीख को 'वंदे मातरम्' का गान होता आया है, मगर सरकार बदलने के बाद वल्लभ भवन के उद्यान में एक जनवरी को सामूहिक गान नहीं हुआ. इससे सरकार विवादों में घिर गई. सरकार ने 'वंदे मातरम्' गान व्यवस्था में बदलाव के साथ जारी रखने की बात कही और अब पार्टी की बैठक भी 'वंदे मातरम्' के गान से हुई.  

शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय के सामने गाया वंदे मातरम​

टिप्पणियां

 

इनपुट : आईएनएस


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement