MP Bypolls 2020: चुनाव आयोग के फैसले पर बोले कमलनाथ- "स्टार प्रचारक कोई पद नहीं"  

कमलनाथ ने अपने ‘‘आइटम’’ शब्द का बचाव करते हुए कहा, ‘‘मैं इतने साल लोकसभा में रहा. लोकसभा की शीट पर, एजेंडे में लिखा रहता है, आइटम नं 1, 2... मेरे दिमाग में वो रहा."

MP Bypolls 2020: चुनाव आयोग के फैसले पर बोले कमलनाथ-

निर्वाचन आयोग ने कमलनाथ का स्टार प्रचारक का दर्जा रद्द किया (फाइल फोटो)

भोपाल:

मध्य प्रदेश उपचुनाव (MP By-elections) से पहले पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) को चुनाव आयोग से झटका लगा. निर्वाचन आयोग (Election Commission) ने उन्हें कांग्रेस की स्टार प्रचारक (Star Campaigner) की सूची से हटा दिया है. कमलनाथ पर चुनाव प्रचार के दौरान आपत्तिजनक बयान देना का आरोप है. कमलनाथ ने शनिवार को निर्वाचन आयोग के फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा कि स्टार प्रचारक कोई पोस्ट या पोजिशन नहीं है. मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर अगले हफ्ते चुनाव होने हैं.  

पूर्व सीएम कमलनाथ ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा, "स्टार प्रचारक कौन सा पद या पोजिशन है? चुनाव आयोग ने ना तो मुझे कोई नोटिस दिया था, ना ही मुझसे इस बारे में कुछ पूछा था. प्रचार अभियान के आखिरी दो दिन में चुनाव आयोग ने ऐसा क्यों किया, ये तो केवल उन्हीं को मालूम है." बता दें कि कमलनाथ द्वारा दलित समुदाय की बीजेपी नेता इमरती देवी को "आइटम" कहने पर बवाल मच गया था. उनकी इस टिप्पणी को लेकर बीजेपी ने कड़ी नाराजगी जताई थी.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ की टिप्पणी को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी भी लिखी थी. साथ ही कार्रवाई की भी मांग की थी. पिछले दिनों, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भी कमलनाथ के "आइटम" वाली टिप्पणी पर असहमति जताते हुए कहा था कि उन्हें इस तरह की भाषा पसंद नहीं है.

कमलनाथ ने अपने ‘‘आइटम'' शब्द का बचाव करते हुए कहा, ‘‘मैं इतने साल लोकसभा में रहा. लोकसभा की शीट पर, एजेंडे में लिखा रहता है, आइटम नं 1, 2... मेरे दिमाग में वो रहा. मैंने किसी के प्रति दुर्भावना से या किसी को अपमानित करने के लिये नहीं बोला था. क्योंकि ये आइटम शब्द से मैं बहुत परिचित रहा हूं, लोकसभा और विधानसभा में और मैने ये कहा कि अगर कोई अपमानित महसूस करता है तो मैं खेद व्यक्त करता हूं.''

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा कि वह निर्वाचन आयोग के फैसले को अदालत में चुनौती देगी. कमलनाथ ने कहा कि अगले महीने कांग्रेस प्रदेश की सत्ता में वापस लौटकर आएगी.मालूम हो कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस से बीजेपी में जाने के बाद कमलनाथ की अगुवाई वाली कांग्रेस सरकार गिर गई थी. 

बता दें कि चुनाव आयोग ने मध्यप्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए प्रचार करते हुए आदर्श आचार संहिता का बार-बार उल्लंघन करने के चलते कांग्रेस नेता एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के ‘स्टार प्रचारक' का दर्जा शुक्रवार को रद्द कर दिया. 

Newsbeep

(भाषा के इनपुट के साथ)

वीडियो: मध्यप्रदेश उपचुनाव : कमलनाथ को EC से झटका

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com