NDTV Khabar

मध्यावधि चुनाव अफवाह और राष्ट्रपति चुनाव में NDA की जीत मुमकिन, बोले शरद पवार

शरद पवार ने कहा कि मध्यावधि चुनाव एक अफवाह है. जो भी होगा वो लोकसभा का कार्यकाल पूरा होने के बाद होगा. उससे पहले नहीं. देश में लगातार होनेवाले चुनावों के चलते फ़ैसले लेने में दिक्कतें आ रही हैं. सतत की आचारसंहिता और चुनाव की वजह से प्रशासन पर विपरीत परिणाम होता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मध्यावधि चुनाव अफवाह और राष्ट्रपति चुनाव में NDA की जीत मुमकिन, बोले शरद पवार

एनसीपी मुखिया शरद पवार (फाइल फोटो)

मुंबई: एनसीपी मुखिया शरद पवार ने मुम्बई में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कई मुद्दों पर स्पष्ट राय रखी. राष्‍ट्रपति चुनाव से लेकर गोरक्षकों के विषय में उन्‍होंने अपनी राय रखी. आइए जानते हैं पवार ने प्रमुखता से क्या कहा,

राष्ट्रपति चुनाव पर
राष्ट्रपति चुनाव के लिए सत्तापक्ष के पास पर्याप्त वोट हैं. इस चुनाव में कुछ चमत्कार नहीं होने जा रहा. राष्ट्रपति चुनाव तक बीजेपी शिवसेना का साथ नहीं छोड़ेगी. क्योंकि बीजेपी को शिवसेना के वोटों की जरूरत है. इस वजह से दोनों झगड़ेंगे लेकिन अलग नहीं होंगे.

टिप्पणियां
मध्यावधि चुनाव पर
शरद पवार ने कहा कि मध्यावधि चुनाव एक अफवाह है. जो भी होगा वो लोकसभा का कार्यकाल पूरा होने के बाद होगा. उससे पहले नहीं. देश में लगातार होनेवाले चुनावों के चलते फ़ैसले लेने में दिक्कतें आ रही हैं. सतत की आचारसंहिता और चुनाव की वजह से प्रशासन पर विपरीत परिणाम होता है. यही मुद्दा मनमोहन सिंह ने रखा था और मौजूदा राजनीतिक लीडरशिप भी इसे सोच रही है. लेकिन, इसे कितने लोग स्वीकार करेंगें पता नहीं. देश में सर्वोच्च स्तर पर यह बहस चल रही है कि लोकसभा और विधानसभा के चुनाव एक साथ कराए जाएं. ऐसा पहले से होता आया है. इससे खर्च भी कम होता है. अब अगर ऐसा होता है तो हमें दोनों चुनाव के लिए तैयार रहना होगा.

गोरक्षक आंदोलन पर
गोरक्षकों को सरकार का समर्थन है. बीफ केवल मुसलमान का नहीं इस देश के गरीब का खाना है. गौरक्षा के नाम पर देश में साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण की कोशिश जारी है. हम गाय मारनेवालों का समर्थन नहीं करते और न ही गोरक्षकों की दहशत के खिलाफ़ हमें चुप बैठना है. इस मौके पर शरद पवार ने एनसीपी नेताओं को भी नसीहत दी कि, हम 15 साल सत्ता में रह कर सुस्त पड़ गए हैं. विपक्ष में ढाई साल होने पर भी हम आज भी सत्ताधारी होने के मूड में हैं. पार्टी में नए लोगों को मौका मिलना चाहिए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement