विवादित इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक का पासपोर्ट रद्द

जाकिर नाइक के खिलाफ आतंक और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों की जांच एनआईए द्वारा की जा रही है.

विवादित इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक का पासपोर्ट रद्द

जाकिर नाइक की फाइल तस्वीर

खास बातें

  • जाकिर नाइक ने कारण बताओ नोटिस का नहीं दिया था जवाब
  • एनआईए उसके खिलाफ आतंक और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों की जांच कर रही है
  • नाइक अभी किस देश में है, इसकी कोई पुख्ता जानकारी नहीं
नई दिल्ली:

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के अनुरोध पर विवादास्पद इस्लामिक उपदेशक और आतंक के वित्त पोषण के मामलों से जुड़े जाकिर नाइक का पासपोर्ट रद्द कर दिया गया है. एनआईए के अधिकारियों ने कहा कि 13 जुलाई को व्यक्तिगत पेशी के लिए जारी कारण बताओ नोटिस पर जब 51-वर्षीय नाइक की तरफ से कोई जवाब नहीं आया तो मुंबई के क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय द्वारा उसके यात्रा दस्तावेज को रद्द कर दिया गया.

नाइक को दिए गए नोटिस में पूछा गया था कि उसके खिलाफ लंबित विभिन्न मामलों की जांच को देखते हुए उसका पासपोर्ट क्यों रद्द नहीं किया जाना चाहिए. एनआईए उसके खिलाफ आतंक और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों की जांच कर रही है. बांग्लादेश में पकड़े गए आतंकवादियों के यह कहने के बाद कि वे जिहाद छेड़ने की जाकिर नाइक की तकरीरों से प्रेरित थे, वह 1 जुलाई, 2016 को भारत से फरार हो गया.

यह भी पढ़ें
जाकिर नाइक के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, ईडी ने 18.37 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की

मध्य-पूर्व की गतिविधियों से जुड़े एक ऑनलाइन समाचार पोर्टल 'मिडिल ईस्ट मॉनीटर' के मुताबिक नाइक को सऊदी अरब की नागरिकता पहले ही दी जा चुकी है. हालांकि इसकी अब तक स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हो पाई है. नाइक ने पिछले साल जनवरी में ही अपने पासपोर्ट का रिन्यूअल कराया था और उसकी वैधता 10 साल है.

यह भी पढ़ें
ISIS के संदिग्ध को मिला था जाकिर नाइक की संस्था IRF से स्कॉलरशिप : एनआईए

एनआईए ने 18 नवंबर, 2016 को नाइक के खिलाफ अपनी मुंबई शाखा में भारतीय दंड संहिता और गैरकानूनी गतिविधि (निरोधक) अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था. उसके संगठन, इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) को सरकार ने मामला दर्ज करने के एक दिन पहले ही गैरकानूनी घोषित कर दिया था.

यह भी पढ़ें
मलेशियाई नागरिकता चाहता है जाकिर नाइक, लगातार बदल रहा ठिकाने

विवादित उपदेशक पर अपने भड़काऊ भाषणों के जरिये नफरत फैलाने, आतंकवादियों को रकम मुहैया कराने और करोड़ों रुपये के धनशोधन का आरोप है.

वीडियो : घेरे में जाकिर नाइक


सूत्रों ने यह जानकारी नहीं दी कि नाइक अभी किस देश में हो सकता है और कहा कि एनआईए के उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस, अंतरराष्ट्रीय गिरफ्तारी वारंट जारी कराने के लिए इंटरपोल से संपर्क करने के बाद संभव है कि वह बार-बार अपना ठिकाना बदल रहा हो.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com