NDTV Khabar

वो 18वीं मंजिल से कूदकर देने जा रही थी जान, कड़ी मशक्कत के बाद मुंबई पुलिस ने बचाया

मुंबई पुलिस की अपराध शाखा में काम कर चुकी शालिनी शर्मा स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस से बंधक और इस तरह की स्थिति से निपटने के लिए जरूरी काउंसलिग की ट्रेनिंग ले चुकी हैं.

600 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
वो 18वीं मंजिल से कूदकर देने जा रही थी जान, कड़ी मशक्कत के बाद मुंबई पुलिस ने बचाया
मुंबई: मुंबई पुलिस की इंस्पेक्टर शालिनी शर्मा एक बार फिर अपनी सूझबूझ से 32 साल की युवती की जान बचाने में कामयाब रहीं. पेशे से वकील युवती वडाला में 18वीं मंजिल से कूदकर खुदकुशी करने की कोशिश में थी. युवती की कॉउंसलिंग कर उसे कूदने से रोकने के लिए पुलिस को तकरीबन 4 घंटे लगे. इस दौरान दमकल कर्मी इमारत के नीचे जम्पिंग सीट बिछाकर इंतजार करते रहे. एम्बुलेंस भी तैयार रखी गई थी. वडाला में स्टेशन के पास विष्णुचंद्र स्काई नाम की इमारत निर्माणाधीन है. शुक्रवार की सुबह कुछ लोगों ने देखा कि इमारत की 18वीं मंजिल पर एक युवती है जिसकी हरकतें संदिग्ध हैं. सूचना मिलते ही आरए किदवई मार्ग पुलिस थाने के जवान वहां पहुंचे. दमकल की गाड़ि‍यों को भी बुला लिया गया. सीढ़ियों से 18 मंजिल चढ़कर जैसे तैसे पुलिस वाले ऊपर पहुंचे लेकिन युवती ने उन्हें पास आने नहीं दिया. उसने धमकाया कि अगर वो करीब आएंगे तो नीचे कूदकर जान दे देगी.

तकरीबन एक घंटे की कोशिश के बाद भी जब स्थानीय पुलिस उसे समझाने में नाकाम रही तब चेंबूर पुलिस थाने की पुलिस निरीक्षक शालिनी शर्मा को बुलाया गया. पहले मुंबई पुलिस की अपराध शाखा में काम कर चुकी शालिनी शर्मा स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस से बंधक और इस तरह की स्थिति से निपटने के लिए जरूरी काउंसलिग की ट्रेनिंग ले चुकी हैं और इसके पहले भी कॉउंसलिंग कर वो एक जान बचा चुकी हैं. इंसेक्टर शालिनी शर्मा के मुताबिक वो कोर्ट जा रही थी तब उन्हें डीसीपी ने फोन कर वडाला पहुंचने को कहा.

कॉल मिलने के बाद तकरीबन आधे घंटे बाद वो मौके पर पहुंची. सीढ़ियां चढ़कर 18 मंजिल पर जब वो पहुंची तो युवती बहुत ही परेशान लग रही थी. सबसे पहले युवती से बात कर उसका भरोसा जीता और फिर बातों में उलझाए रखा. मौका पाकर वहां मौजूद दूसरी महिला पुलिस कर्मियों ने झपट्टा मारकर युवती को पकड़ लिया फिर उसे नीचे उतारकर सबसे पहले अस्पताल ले जाया गया. तब तक दोपहर के 3 बज चुके थे.

बाद में पुलिस ने युवती के परिजनों को बुलाकार जरूरी कागजी कार्रवाई कर छोड़ दिया. पुलिस के मुताबिक युवती पेशे से वकील है और वो मानसिक रूप से बहुत परेशान चल रही है. पता चला है कि सुबह 10 बजे युवती ने अपनी मां को फोन कर घर पर आने के लिए निकलने की बात कही थी लेकिन फिर वो इमारत पर चढ़ गई.

(इनपुट सलाम काज़ी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement