Budget
Hindi news home page

युवतियों को बचाने के लिए जान देने वाले रमेश वलंजु का शव मिला

ईमेल करें
टिप्पणियां
युवतियों को बचाने के लिए जान देने वाले रमेश वलंजु का शव मिला

रमेश वलंजु (फाइल फोटो)

मुंबई: मुंबई के बांद्रा इलाके में बसी झुग्गी पर तब पहाड़ टूट पड़ा जब मुंबई पुलिस ने दिलेर रमेश वलंजु का पार्थिव शरीर मिलाने की सूचना दी।  बांद्रा किले के पास शनिवार को सेल्फी लेते वक्त समुद्र में गिरने वाली तीन युवतियों को बचाने का प्रयास करते वक्त बहे 40 वर्षीय रमेश का शव सोमवार को महीम क्रीक में तैरता मिला। मुंबई के धारावी पुलिस स्टेशन के अफसर उनके परिजनों के प्रतिनिधि को उनकी शिनाख्त करने के लिए ले गए। उन्होंने रमेश वलंजु के निधन की पुष्टि की।

बांद्रा में बचाई दो युवतियों की जान
शनिवार को मुंबई के प्रसिद्ध बांद्रा किले के पास सेल्फी लेने की कोशिश में 3 महिलाएं समुन्दर की चपेट में आ गईं। स्थानीय निवासी रमेश वलंजु ने अपनी जान पर खेलकर उन्हें बचाने की कोशिश की। दो युवतियों को उन्होंने बचा भी लिया, लेकिन तीसरी को बचाने की कोशिश में वे सफल न हो सके। पानी के बहाव पर उनका बस नहीं चल सका और उनकी मौत हो गई।
बांद्रा में समुद्र तट पर शवों की खोज में जुटी पुलिस।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि हादसे के करीब 48 घंटे बाद, स्थानीय लोगों ने सुबह रमेश वालांजु का शव पानी में तैरता देखा और धारावी पुलिस को सूचना दी। उन्होंने कहा कि शव को सियोन अस्पताल में भेजा गया जहां उचित सत्यापन के बाद इसकी पहचान हुई। वलांजु ने समुद्र में कूदकर दो युवतियों अंजुम खान (19) और कसूरी खान (19) को बाहर निकाल दिया था लेकिन तीसरी लड़की तरन्नुम अंसारी (18) को बचाने के लिए पानी में कूदने के बाद वह लापता हो गया था। तरन्नुम का अब तक पता नहीं चला है।

शिवसेना ने संवेदना जताई, बीजेपी घर पहुंची
इस बीच वलंजु के राजनीतिक परिचय को सार्वजनिक कर शिवसेना ने उसे अपना हिम्मतवान सैनिक करार दिया। पार्टी के युवा नेता आदित्य ठाकरे ने वलंजु के प्रति ट्वीट कर संवेदना व्यक्त की। मामले ने विवाद की शक्ल तब अख्तियार की जब शिवसेना से पहले बीजेपी रमेश वलंजु के परिजनों का ढाढस बंधाने पहुंच गई।

दो दिन बाद पीड़ित परिवार से मिले उद्धव
शिवसेना की तरफ से बस ट्वीट कर मामला छोड़ देने से पहले बीजेपी के स्थानीय विधायक आशीष शेलार ने वलंजु परिवार से मुलाकात की और रमेश की पत्नी को नौकरी के साथ उसकी 3 संतानों की पढ़ाई का खर्च उठाने का ऐलान किया। इसके बाद शिवसेना के पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे खुद रमेश वलंजु के घर तो पहुंचे लेकिन घटना के दो दिन बाद। उन्होंने किसी ठोस आश्वासन के बजाय कहा कि पार्टी वलंजु परिवार के साथ खड़ी है। (इनपुट भाषा से भी )


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement