NDTV Khabar

मुंबई : गूंगे और बहरे हत्या और चोरी के दोषी करार, अदालत ने सुनाई उम्रकैद की सजा

वारदात बांद्रा पुलिस थाने की है. 11 जून 2013 में पाली हिल में एक बुजुर्ग महिला के घर में घुस कर उसकी हत्या कर दी गई थी. घर से गहने और रुपये भी चोरी हुए थे. शक के आधार पर 12 घंटे के भीतर ही बांद्रा पुलिस के तत्कालीन इंस्पेक्टर राजेन्द्र काणे ने गुत्थी सुलझा ली.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुंबई : गूंगे और बहरे हत्या और चोरी के दोषी करार, अदालत ने सुनाई उम्रकैद की सजा

मुंबई पुलिस की गिरफ्त में आरोपी (फाइल फोटो)

मुंबई:

मुंबई की एक आदलत ने दो गूंगे और बहरे आरोपियों को हत्‍या के एक मामले में उम्र कैद की सजा सुनाई है. दोनों जून 2013 में एक बुजुर्ग महिला की हत्या और घर मे चोरी के आरोप में गिरफ्तार हुए थे. यकीन करना मुश्किल था क्योंकि वो गूंगे - बहरे थे. लेकिन चार साल बाद अब अदालत ने दोनों को दोषी पाया और उम्रकैद की सजा सुनाई है. लेकिन ये इतना आसान भी नहीं था. पहले तो दोनों पर शक कर उन्हें पकड़ना बाद में दोषी साबित कराना किसी चुनौती से कम नहीं था. पर मुंबई पुलिस के इंस्पेक्टर राजेन्द्र काणे ने ये कर दिखाया. खास बात रही कि दोनों को समझाने और उनकी बात समझने के लिए पुलिस स्टेशन और अदालत दोनों ही जगह इन्टरप्रेटर की मदद ली गई.

टिप्पणियां

वारदात बांद्रा पुलिस थाने की है. 11 जून 2013 में पाली हिल में एक बुजुर्ग महिला के घर में घुस कर उसकी हत्या कर दी गई थी. घर से गहने और रुपये भी चोरी हुए थे. शक के आधार पर 12 घंटे के भीतर ही बांद्रा पुलिस के तत्कालीन इंस्पेक्टर राजेन्द्र काणे ने सईफ रजा भावनागरी और परवेज खान को पकड़कर गुत्थी सुलझा ली. लेकिन उनसे पूछताछ कर पाना मुश्किल था क्योंकि दोनों ही गूंगे बहरे थे. पुलिस को तब बांद्रा में अली यावर जंग इंस्टीट्यूट से इन्टरप्रेटर की मदद लेनी पड़ी.


मामला अदालत में गया. मुकदमा शुरू हुआ लेकिन दोनों की जमानत नहीं हुई. अदालत में भी दोनों की बातें समझने और उन्हें सजा सुनाने के लिए इन्टरप्रेटर की मदद ली गई और आखिर 4 साल बाद अपने आप में ऐतिहासिक मुकदमा अपने अंजाम तक पहुंचा. अदालत ने दोनों को सिर्फ सजा ही नहीं सुनाई, उनपर जुर्माना भी लगाया और उस जुर्माने में से एक लाख रुपया पीड़ित परिवार को देने का आदेश दिया. मामले में सरकारी वकील मालवनकर और पंकज चव्हाण सहित कोर्ट क्लर्क घाडीगावकर का योगदान भी सराहनीय रहा.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement