NDTV Khabar

अरविंद केजरीवाल की माफ़ी से नाराज़ हैं पूर्व AAP नेता अंजलि दमानिया

आम आदमी पार्टी से जुड़े होने के समय अंजलि दमानिया ने ही वरिष्ठ बीजेपी नेता नितिन गडकरी की कंपनी पूर्ती ग्रुप पर अनीयमितता बरतने का आरोप लगाया था.

254 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अरविंद केजरीवाल की माफ़ी से नाराज़ हैं पूर्व AAP नेता अंजलि दमानिया

अंजलि दमानिया (फाइल फोटो)

मुंबई:

अरविंद केजरीवाल की ओर से मांगी जा रही माफ़ी से केवल आम आदमी पार्टी के नेता ही नाराज़ नहीं है बल्कि पार्टी के पूर्व नेता भी खफा हैं. सामाजिक कार्यकर्ता और महाराष्ट्र आम आदमी पार्टी की पूर्व नेता अंजलि दमानिया केजरीवाल की ओर से नितिन गडकरी को पत्र के ज़रिये मांगी गई माफ़ी से नाखुश हैं. आम आदमी पार्टी से जुड़े होने के समय अंजलि दमानिया ने ही वरिष्ठ बीजेपी नेता नितिन गडकरी की कंपनी पूर्ती ग्रुप पर अनीयमितता बरतने का आरोप लगाया था और साल 2014 में नागपुर से आम आदमी पार्टी के टिकट पर वो नितिन गडकरी के खिलाफ चुनाव भी लड़ी थीं. हालांकि चुनाव में नितिन गडकरी भारी मतों से जीते थे, लेकिन चुनाव को याद करते हुए अंजलि दमानिया ने एनडीटीवी से कहा कि, "उस समय मुझे अरविंद केजरीवाल ने  नितिन गडकरी के खिलाफ चुनाव लड़ने कहा था. 2014 में मेरा बेटा बारहवीं कक्षा में पढ़ रहा था, लेकिन अरविंद के कहने पर मैंने लड़ने का फैसला किया. आज मुझे लग रहा है कि मेरे साथ धोखा हुआ है." दमानिया के खुलासे पर ही अरविंद केजरीवाल ने नितिन गडकरी पर देश के सबसे बड़े भ्रष्टाचारी नेताओं में से एक होने का आरोप लगाया था जिसके बाद नितिन गडकरी ने केजरीवाल के खिलाफ कोर्ट में मानहानि का केस दर्ज किया था. हालांकि केजरीवाल ने अब नितिन गडकरी से माफ़ी मांग ली है, लेकिन अंजलि दमानिया अब भी 24 मानहानि के मामले लड़ रही हैं और उनका कहना है कि वह आखि‍री दम तक लड़ती रहेंगी. अरविंद केजरीवाल की तरफ से मांगी गई माफ़ी से खफा दमानिया का मानना है कि उनके पास दिल्ली में बहुत ज़्यादा समर्थन है और 70 में से 67 विधायक भी उन्हीं की पार्टी के हैं. इसलिए माफ़ी मांगने की बजाय उन्हें सारे मामलों का डटकर सामना करना चाहिए था.

टिप्पणियां

साथ ही अंजलि दमानिया ने केजरीवाल से पांच सवाल भी पूछे हैं :
1 : मानहानि से जुड़े कितने मामलों की सुनवाई में केजरीवाल मौजूद थे जिसके कारण उनके कामकाज पर असर पड़ रहा था?
2 : अगर उन्होंने सुनवाई में मौजूद नहीं रहने की अपील की होती तो क्या कोर्ट ने उन्हें राहत नहीं दी होती?
3 : अगर अरविंद के पास पैसों की कमी है तो क्या भ्रष्टाचारियों से लड़ने के लिए वो कार्यकर्ताओं से फंड इकट्ठा करने नहीं कह सकते? और क्या कार्यकर्ता पैसे नहीं जमा करते?
4 : अगर भ्रष्टाचारियों से माफ़ी ही मांगना था, तो फिर आम आदमी पार्टी ने 20 सबसे भ्रष्ट नेताओं की लिस्ट क्यों निकाली थी?
5 : आम आदमी पार्टी की आगे की रणनीति क्या होगी? क्या वो अब भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ना बंद कर देंगे?


VIDEO: केजरीवाल ने नितिन गडकरी और कपिल सिब्‍बल से मांगी माफी


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement