Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

मुंबई में 18 घंटे के मेगा ब्लॉक के बाद तोड़ दिया गया 136 साल पुराना रेलवे पुल

ईमेल करें
टिप्पणियां
मुंबई में 18 घंटे के मेगा ब्लॉक के बाद तोड़ दिया गया 136 साल पुराना रेलवे पुल

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर...

मुंबई: 650 रेलवेकर्मियों, 50 इंजीनियरों, 2300 टन वज़न की क्रेनों ने मिलकर मुंबई के सैंडहर्स्ट रोड पर मध्य रेलवे के 136 साल पुराने हैंकॉक ब्रिज को आख़िरकार तोड़ दिया। इस काम के लिए सेंट्रल लाइन में 18 घंटे का मेगा ब्लॉक लगाया गया था, इस दौरान 150 लोकल ट्रेनें और 31 लंबी दूरी की एक्सप्रेस ट्रेनों को रद्द किया गया।


मध्य रेलवे के इस 136 साल पुराने इतिहास को टुकड़ों में काटने में 18 घंटे का वक्त लगा। मुंबई में 1877-78 में बीएमसी प्रेसिडेंट कर्नल एच.एफ. हैंकॉक के नाम पर मझगांव को भायखला से जोड़ने वाले इस पुल को बनाया गया था।

वक्त बदला सेंट्रल रेलवे पर 1500 वोल्ट डायरेक्ट करेंट की जगह ट्रेनें 25000 वोल्ट एल्टरनेटिंग करंट पर चलने लगीं, खस्ताहाल ब्रिज इस काम में रुकावट था। सेंट्रल रेलवे के महाप्रबंधक एस.के. सूद ने कहा, 'जिस वक्त ये ब्रिज बना था किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि यहां से बिजली की तारें गुजरेंगी। पहले हमने 1500 वोल्ट की डीसी तारें लगाईं, लेकिन 25000 वोल्ट की एसी को यहां से गुज़ारना मुश्किल था ऊपर से ब्रिज जंग की वजह से कमज़ोर हो गया था, लेकिन यहां जो नया ब्रिज बनेगा उसका नाम भी हैंकॉक ही हो।

18 घंटे के मेगाब्लॉक में दो दर्जन से ज्यादा एक्सप्रेस ट्रेन और 150 के करीब लोकल सेवाएं रद्द हुईं। रेलवे के मुताबिक 5 और दशकों पुराने ब्रिज हटाने हैं, तब जाकर इस रूट में लाइफलाइन सरपट दौड़ेगी। एक दिन में मेगाब्लॉक से रेलवे को लगभग 10 करोड़ का नुकसान हुआ। वैसे लोगों की सुविधा के लिए बेस्ट ने अतिरिक्त बसें चलाईं, सेंट्रल लाइन के मुसाफिरों को हॉर्बर से सफर का विकल्प भी मिला।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement