NDTV Khabar

महिला कैदी मंजुला शेट्टे की मौत की पूरी कहानी इंद्राणी मुखर्जी की जुबानी

23 जून को भायखला जेल में हुई मंजुला शेट्टे की हत्या में इंद्राणी मुखर्जी आरोपी जेलकर्मियों के खिलाफ अहम गवाह बन सकती है.

487 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
महिला कैदी मंजुला शेट्टे की मौत की पूरी कहानी इंद्राणी मुखर्जी की जुबानी

इंद्राणी मुखर्जी ने मंजुला शेट्टे की हत्या के मामले में सीबीआई अदालत को पूरी कहानी बताई

खास बातें

  1. जेलकर्मी मंजुला के गले में साड़ी फंसा कर उसे खींचकर ले जा रहे थे- इंद्राणी
  2. 'जेलकर्मियों के खिलाफ आवाज उठाने पर मेरी पिटाई की गई'
  3. मंजुला हत्याकांड में इंद्राणी बन सकती हैं अहम गवाह
मुंबई: भायखला जेल में महिला कैदी मंजुला शेट्टे की हत्या के मामले में रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं. बुधवार को भायखला जेल में ही बंद इंद्राणी मुखर्जी ने सीबीआई अदालत में मंजुला की मौत की पूरी कहानी बयां की. अपनी सगी बेटी शीना बोरा की हत्या के आरोप में गिरफ्तार इंद्राणी मुखर्जी मंजुला हत्याकांड में अहम गवाह बन सकती हैं.

सीबीआई की विशेष अदालत में इंद्राणी ने बताया कि मैं उस दिन दोपहर का खाना खाकर बैरक में पहुंची तो जेल कर्मी मंजुला शेट्टे के गले में साड़ी फंसा कर उसे खींच कर ले जा रहे थे. उसके बाद क्या हुआ पता नहीं, लेकिन मुझे बताया गया कि उसे लाठी से पीटा गया और उसका यौन उत्पीड़न भी किया गया.

इंद्राणी ने कोर्ट में कहा कि मंजुला का क्या हुआ ये पूछने के लिए दूसरे दिन मैं जेल अफसरों के पास गई, लेकिन दरवाजा बंद था. दूसरों से पता चला कि मंजुला की मौत हो चुकी है. मैंने उसके खिलाफ आवाज उठाई, तो जेल अधिकारियों ने मुझे धमकाया कि तुम गवाह बनने जा रही हो, तुम्हें भी देख लेंगे.

इंद्राणी यहीं नही रुकी उसने जेल अधिकारियों पर उसे पीटने का आरोप भी लगाया. इंद्राणी ने अदालत को बताया कि जेल में आंदोलन भड़कने के बाद बिजली बंद करके उसकी पिटाई की गई. पीटने वालों में महिला जेलकर्मी के साथ पुरुष जेलकर्मी भी शामिल थे. इंद्राणी ने अदालत के कटघरे में खड़े होकर जज को अपने हाथ मे लगे चोट भी दिखाए. इंद्राणी ने आरोप लगाया कि जेल प्रशासन नहीं चाहता कि मैं मामले में सीआरपीसी की धारा 164 के तहत मजिस्ट्रेट के सामने बयान दूं, इसलिए वो मुझे धमका रहे हैं.

शीना बोरा हत्याकांड में सुनवाई कर रही सीबीआई अदालत ने इंद्राणी की बातें सुनने के बाद जेल प्रशासन को पहले उसका मेडिकल कराने और फिर नागपाड़ा पुलिस थाने ले जाने का आदेश दिया. 23 जून को भायखला जेल में हुई मंजुला शेट्टे की हत्या में इंद्राणी आरोपी जेलकर्मियों के खिलाफ अहम गवाह बन सकती है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement