NDTV Khabar

मुंबई एयरपोर्ट देश का पहला ऐसा एयरपोर्ट जहां बोर्डिंग पास पर नहीं लगवाना होगा स्टैंप

इस नियम के लागू होने के बाद अब यात्रियों को अपने बोर्डिंग पास पर सुरक्षा जांच की मुहर लगाने की जरूरत नहीं होगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुंबई एयरपोर्ट देश का पहला ऐसा एयरपोर्ट जहां बोर्डिंग पास पर नहीं लगवाना होगा स्टैंप

प्रतीकात्मक चित्र

मुंबई :

मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (Mumbai Airport) देश का पहला ऐसा एयरपोर्ट है जहां अब यात्रियों को बोर्डिंग पास पर स्टैंप लगवाने की जरूरत नहीं होगा. दरअसल, यह नियम मुंबई एयरपोर्ट के टर्मिनल दो (टी-2) से घरेलू उड़ानों के लिए लागू के किया गया है. इस नियम के लागू होने के बाद अब यात्रियों को अपने बोर्डिंग पास पर सुरक्षा जांच की मुहर लगाने की जरूरत नहीं होगी. मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा लिमिटेड (Mumbai Airport) ने सोमवार को यह जानकारी दी. छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (Mumbai Airport) को चलाने वाली कंपनी एमआईएएल ने विज्ञप्ति में कहा कि हवाई अड्डे पर अब ऐसी नवीन जांच प्रौद्योगिकी लगा दी गयी है जिससे टी-2 से परिचालन करने वाली सभी घरेलू एयरलाइनों के बोर्डिंग पास पर स्टैम्प लगाने की जरूरत नहीं रह गयी है.

यह भी पढ़ें: मुंबई हवाई अड्डे का नया रिकॉर्ड, एक दिन में 1,007 उड़ानों की हुई आवाजाही


इस सुविधा से मुंबई हवाई अड्डा "डिजि यात्रा" सुविधा शुरू करने वाला देश का पहला हवाई अड्डा बनाता है. यह सुविधा नागर विमानन सुरक्षा ब्यूरो (बीसीएएस) और नागर विमानन मंत्रालय और नागरविमान सुरक्षा ब्यूरो की पहल का नतीजा है. इस पहल का मकसद हवाई अड्डों पर यात्रियों के लिए कागजी कार्रवाई कम करना है. विज्ञप्ति के मुताबिक, टर्मिनल-2 से घरेलू उड़ान भरने वाले यात्री अब अपने मोबाइल फोन के माध्यम से ई-गेट रीडर पर बोर्डिंग पास बारकोड या क्यूआर कोड को स्कैन करके अपने बोर्डिंग पास को प्रमाणित कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: दिल्ली एयरपोर्ट पर एक रनवे बंद, हवाई किराया 86 फीसदी तक बढ़ा

गौरतलब है कि कुछ समय पहले ही मुंबई हवाई अड्डा एकल हवाईपट्टी सुविधा वाला दुनिया का सबसे व्यस्त हवाई अड्डा बन गया था. वित्त वर्ष 2016-17 में मुंबई हवाई अड्डे पर एक दिन में औसतन 837 उड़ानें हुईं यानी प्रति 65 सेकेंड में एक उड़ान. इस लिहाज से मुंबई ने लंदन के गैटविक हवाई अड्डे को पीछे छोड़ दिया था. गैटविक से एक दिन में औसतन 757 उड़ानें हुईं. यात्रियों की संख्या के हिसाब से भी यह सबसे बड़ा हवाई अड्डा हो गया था. 2016-17 मुंबई अड्डे पर उतरने वाले या यहां से यात्रा के लिए विमान पकड़ने वाले यात्रियों की संख्या 4.52 करोड़ रही.

टिप्पणियां

यह भी पढ़ें: भोजपुरी एक्ट्रेस अक्षरा सिंह ने एयरपोर्ट पर किया ऐसा बचपना, Video हुआ वायरल

गैटविक हवाई अड्डे के लिए यह आंकड़ा 4.4 करोड़ का है. उल्लेखनीय है कि दुनिया में कोई और बड़ा शहर ऐसा नहीं है, जो सिर्फ एक हवाई अड्डे के जरिये एकल हवाई पट्टी से संचालित होता हो. इसके साथ ही हवाई अड्डे की करीब एक-तिहाई जमीन पर अवैध कब्जा है. वहां दूसरा नवी मुंबई का प्रस्तावित हवाई अड्डा अभी बन नहीं पाया है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement