NDTV Khabar

मुंबई : भारतीय जनता युवा मोर्चा के पूर्व अध्यक्ष के खिलाफ छेड़खानी का मामला दर्ज

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुंबई : भारतीय जनता युवा मोर्चा के पूर्व अध्यक्ष के खिलाफ छेड़खानी का मामला दर्ज

गणेश पांडेय की फाइल तस्वीर

मुंबई:

मुंबई में वर्सोवा पुलिस ने भारतीय जनता युवा मोर्चा के पूर्व अध्यक्ष गणेश पांडेय के खिलाफ छेड़खानी का मामला दर्ज कर लिया है। पीड़िता ने खुद वर्सोवा पुलिस थाने जाकर शिकायत दर्ज कराई। आईपीसी की धारा 354(अ), 509, 34 के तहत दर्ज मामले में गणेश पांडेय के साथ उनके साथियों को भी आरोपी बनाया गया है।

पीड़िता जो खुद भी भारतीय जनता पार्टी की सदस्या है, उसकी शिकायत पर पार्टी पहले ही गणेश पांडेय को पार्टी से निष्काषित कर चुकी है। पीड़िता ने पुलिस को बताया है कि वह साल 2003 से बीजेपी की सदस्य है। 3 मार्च 2016 को भारतीय जनता युवा मोर्चा के तक़रीबन 183 सदस्य मथुरा में आयोजित कार्यकारिणी में हिस्सा लेने गरीब रथ से गए थे। रास्ते में गणेश पांडे ने अश्लील बातों से उसे अपमानित किया। लेकिन अपमान सहकर भी उसने तब कुछ विरोध नहीं किया और चुपचाप अपने बर्थ पर सो गई। गणेश पांडेय ने आवाज देकर उसे उठाने की कोशिश की, लेकिन उसने कोई जवाब नहीं दिया तब गणेश ने बर्थ के नीचे ही मोबाइल पर पोर्न फ़िल्म प्ले किया, जिसकी आवाज दूसरे यात्री भी सुन रहे थे।

पीड़िता के मुताबिक 4 मार्च को मथुरा के बृज भूमि होटल में सभी लोग ठहरे थे। पीड़िता होटल के रूम नंबर 208 में पार्टी की एक दूसरी महिला कार्यकर्ता के साथ रुकी थी। रात में जब वो होटल के कॉरिडॉर में डांस का रिहर्सल कर रही थी तब बार-बार युवा मोर्चा का पदाधिकारी हिमांशु पडवल आकर कह रहा था कि गणेश पांडेय बुला रहे हैं। लेकिन वो नहीं गई, क्यूंकि उसे पता था कि वहां वो लोग शराब पी रहे थे। करीब डेढ़ बजे रिहर्सल ख़त्म होने पर वो अपने कमरे में चली गई। लेकिन तभी हिमांशू पडवल और अमित शेलार उसके मना करने के बाद भी जबरन उसे रूम नंबर 204 में ले गए। कमरे में गणेश पांडेय सहित दूसरे कई पदाधिकारी भी थे। कुछ महिला पदाधिकारी भी मौजूद थीं।


टिप्पणियां

गणेश पांडेय के साथ कुछ लोग शराब पी रहे थे। पीड़िता के कमरे में जाते ही सभी हंसने लगे। गणेश ने गंदे और अश्लील चुटकुले सुनाने शुरू किए। पीड़िता के कौमार्य पर भी सवाल उठाया।  नाराज होकर जब वो जाने लगी तब गणेश पांडेय ने पीछा किया और दोनों हाथ पकड़कर रोकने की कोशिश की। हाथ छुड़ाकर वो अपनी साथी कार्यकर्ता के साथ कमरे में चली गई और दरवाजा अंदर से बंद कर लिया। पांडेय और उनके साथियों ने तब जोर-जोर से दरवाजा पीटा और खोलने को कहा। दरवाजा नहीं खोलने पर मोबाइल में फूल वोल्यूम के साथ पोर्न फ़िल्म चलाना शुरू कर दिया। पांडेय और उनके दोस्तों के उस हरकत से पीड़िता के साथ दूसरी महिला कार्यकर्ता भी घबरा गई थी।

पीड़िता के मुताबिक 7 मार्च को सभी मुंबई वापस आ गए। 19 मार्च को बीजेपी के पदाधिकारियों के साथ मिलकर गणेश पांडे की शिकायत की। 22 मार्च को प्रदेश पार्टी कार्यालय में मुंबई बीजेपी अध्यक्ष आशीष शेलार से मिलकर लिखित शिकायत की। जिसके बाद पार्टी ने गणेश पांडेय को निकाल दिया। दूसरी तरफ गणेश पांडे ने अपने ऊपर लगे आरोप को गलत बताते हुए बदनाम करने की साजिश करार दिया है।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... अमित शाह बोले- CAA वापस होने वाला नहीं, तो कांग्रेस का आया Reaction, गिनाए पीएम मोदी और गृह मंत्री के 9 झूठ

Advertisement