NDTV Khabar

मुंबई विमान हादसा : दुर्घटना के एक मिनट पहले पायलट ने कहा था हम आ रहे हैं, लेकिन...

दुघर्टनाग्रस्त विमान यू वाय एविएशन कंपनी की तरफ किया जिसका वो विमान था. कंपनी के अकाउंटेबल मैनेजर अनिल चौहान का कहना है कि सभी जरूरी खानापूर्ति के बाद ही विमान ने टेस्ट उड़ान भरी थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुंबई विमान हादसा : दुर्घटना के एक मिनट पहले पायलट ने कहा था हम आ रहे हैं, लेकिन...

इस विमान हादसे में 5 लोगों की जान चली गई

मुंबई: मुंबई के घाटकोपर विमान हादसे में हैरान करने वाला खुलासा हुआ है. पता चला है कि हादसे के ठीक एक मिनट पहले विमान के पायलट ने जुहू ATC को कॉल कर कहा था कि हम आ रहे हैं.. फिर उसके बाद ऐसा क्या हुआ कि तुरंत विमान क्रैश हो गया?

दुघर्टनाग्रस्त विमान यू वाय एविएशन कंपनी की तरफ किया जिसका वो विमान था. कंपनी के अकाउंटेबल मैनेजर अनिल चौहान का कहना है कि सभी जरूरी खानापूर्ति के बाद ही विमान ने टेस्ट उड़ान भरी थी. हैरानी की बात है जिस विमान को उड़ने के लिए फिट बताया जा रहा है वो तकरीबन 25 साल पुराना है और पहले हुए एक हादसे के बाद से करीब 8 साल बाद उड़ा था. यू वाय एविएशन का दावा है कि विमान मरम्मत के लिए इंडमार एविएशन प्राइवेट लिमिटेड के पास था, उन्होंने ही उसे मरम्मत कर उड़ने के लिए तैयार किया था. टेस्ट फ्लाइट भी उन्होंने ही करवाई थी. टेस्ट फ्लाइट में हमारे पायलट और उनके इंजीनियर थे. पास होने के बाद ही उसे यात्रियों को लेकर उड़ने का प्रमाणपत्र मिलना था. वहीं इंडमार के कार्यकारी निदेशक कानू गोहेन का दावा है कि जो पार्ट ठीक किये जा सकते थे वो ठीक किये गए, जिन्हें बदलना जरूरी था वो बदले गये. विमान ने 40 मिनट की उड़ान पूरी की थी बिना किसी गड़बड़ी के. अब आखिरी वक्त में क्या हो गया जांच के बाद ही पता चल पाएगा.

इस बीच यू वाय और जुहू एयरपोर्ट सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक. विमान को परीक्षण उड़ान के लिए डीजीसीए की इजाजत थी और इंडमार के MRO यानी मेंटेनेंस रिपेयर ओवरऑल का क्लियरेंस मिला था. विमान ने तय समय 12 बजकर 20 मिनट पर उड़ान भरी. उस समय विज़िबिलिटी 2000 मीटर तक थी जबकि उड़ान के लिए 1000 मीटर तक की जरूरत होती है.

उड़ान के बाद जुहू एयर ट्रैफिक कंट्रोल ने विमान का संपर्क मुंबई एयर ट्रैफिक कंट्रोल को हैंडओवर कर दिया था. उसके बाद तय सर्किट में मुंबई से सूरत और वापस मुंबई के आसमान में आने तक विमान मुंबई ATC के संपर्क में था. ठीक 1 बजकर 7 मिनट पर विमान के पायलट ने जुहू ATC को सूचित किया था कि वो पहुंचने वाला है. लेकिन ठीक 1 बजकर 8 मिनट पर विमान राडार से गायब हो गया. संपर्क टूटते ही मुंबई ATC की पहले रेगुलर (118.75 mhz) फ्रीक्वेंसी फिर इमरजेंसी (121.5 mhz) फ्रीक्वेंसी पर सम्पर्क की कोशिश फेल हो गई.

टिप्पणियां
VIDEO: मुंबई में क्रैश हुए विमान की फिटनेस पर सवाल, 9 साल में पहली बार टेस्ट उड़ान पर निकला था

शिकरा नौसेना की ATC के साथ हवा में उड़ रहे दूसरे विमान से संपर्क किया गया लेकिन उन्हें भी कुछ नहीं दिखा. इस बीच WSO यानी वॉच सुपरवाइजरी ऑफिसर और सर्च एंड रेस्क्यू ऑपेरशन एक्टिव कर दिया गया. चूंकि विमान से पायलट ने किसी भी तरह की गड़बड़ी की कोई सूचना नहीं दी थी इसलिये सभी हैरान हैं कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि पलभर में ही विमान जमीन पर आ गया? इस बीच डीजीसीए ने हादसे की जांच शुरू कर दी है. यू वाय एविएशन और इंडमार एविएशन के कमर्चारियों को तलब कर जरूरी दस्तावेजों की छानबीन की जा रही है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement