मुंबई में प्रवासी श्रमिकों को फर्जी पास बेचने के आरोप में व्यक्ति गिरफ्तार

एक पुलिस अधिकारी ने बुधवार को बताया कि जांच के दौरान यह पाया गया कि मनोज रामू हुम्बे फर्जी पास के लिए 5,000 रुपये वसूल रहा था.

मुंबई में प्रवासी श्रमिकों को फर्जी पास बेचने के आरोप में व्यक्ति गिरफ्तार

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • फर्जी यात्रा पास बेचने के आरोप में 28 वर्षीय एक व्यक्ति गिरफ्तार
  • मनोज रामू हुम्बे फर्जी पास के लिए 5,000 रुपये वसूल रहा था
  • आरोपी को उपनगरीय चेम्बूर से गिरफ्तार किया गया
मुंबई:

कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के बीच प्रवासी श्रमिकों को कथित तौर पर फर्जी यात्रा पास बेचने के आरोप में 28 वर्षीय एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है. एक पुलिस अधिकारी ने बुधवार को बताया कि जांच के दौरान यह पाया गया कि मनोज रामू हुम्बे फर्जी पास के लिए 5,000 रुपये वसूल रहा था. पुलिस को इस धोखाधड़ी का पता उस समय लगा जब आरोपी का एक मोबाइल नंबर उनके हाथ लगा, जिसमें उसने मुंबई से अपने गृह राज्य जाने वाले प्रवासी श्रमिकों को ई-पास मुहैया कराने का दावा किया था.

अधिकारी ने बताया कि मुंबई में डोंगरी पुलिस ने जांच शुरू की और आरोपी को उपनगरीय चेम्बूर से गिरफ्तार कर लिया. डोंगरी पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया, ‘आरोपी से जब पूछताछ की गई तो उसने बताया कि इस धोखाधड़ी के लिए उसने अपने दोस्त की मदद ली. उसके कुछ दोस्तों ने मुंबई, नवी मुंबई और पालघर प्रशासन से पास हासिल किए थे. ये नाम और क्यूआर कोड बदलकर उसे 5,000 रुपये में बेचते थे.' आरोपी को भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com