NDTV Khabar

पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पर जबरन वसूली के आरोपी की मदद करने का आरोप

48 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पर जबरन वसूली के आरोपी की मदद करने का आरोप

पूर्व एनकाउंटर स्‍पेशलिस्‍ट सचिन वझे (फाइल फोटो)

मुंबई: मुंबई से सटे पालघर जिले में स्थानीय क्राइम ब्रांच ने एक बिल्डर से जबरन वसूली के मामले में 3 लोगों को गिरफ्तार किया है. खास बात है कि क्राइम ब्रांच ने इस मामले में पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट सचिन वझे को आरोपी भी बनाया है. सचिन वझे पर आरोपी क्रमांक 3 को भगाने और सबूत नष्ट करने के लिए कहने का आरोप है. दूसरी तरफ सचिन वझे का कहना है, 'ये सब बिल्डर लॉबी की साजिश है. डॉ. अनिल यादव व्हिसल ब्लोअर हैं, तकरीबन 20 बिल्डरों के अवैध निर्माण की उन्होंने शिकायत की है, इसलिए अब ये कहानी बनाई गई. जहां तक मेरी बात है, मैंने खुद डॉ. अनिल यादव को व्हाट्सऐप कर पुलिस थाने में जाकर जांच अधिकारी से मिलने और बयान दर्ज कराने को कहा था.' पूर्व पुलिस अधिकारी ने सबूत के तौर पर उस व्हाट्सऐप चैट का स्क्रीन शॉट्स भी भेजा है.

टिप्पणियां
जानकारी के मुताबिक आरोपी आरटीआई से जानकारी निकालकर पालघर के एक बड़े बिल्डर को हफ्ता के लिए धमका रहे थे. आरोपियों ने ओम साई नित्यानंद डेवलपर से 25 लाख रुपये की मांग की थी और 2 लाख की एक किश्त ले भी चुके थे. बाकी के रुपये के लिए दबाव बना रहे थे. आरोपियों ने धमकाने के लिए बंदूक का भी इस्तेमाल किया था. बिल्डर की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जब तीनों को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की तब पूर्व एन्काउंटर स्पेशलिस्ट सचिन वझे का नाम सामने आया.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक आरोपी नंबर 3 डॉ. अनिल यादव ने कबूल किया है कि मामला दर्ज होने की जानकारी मिलने के बाद वो गुजरात भाग गया था. उस दौरान पूर्व एन्काउन्टर स्पेशलिस्ट सचिन वझे ने उसे वापी से पिकअप करने के लिए अपनी कार भेजी थी और आरोपी से मिलकर उसे सबूत नष्ट करने और मोबाइल जला देने को कहा था. उसके बाद उसने डाटा फॉर्मेट कर मोबाइल फ़ोन भी जला दिया. अभी तक गिरफ़्तार आरोपियों के नाम अमूल पाटिल, योगेश वैद्य और डॉ. अनिल यादव हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement