NDTV Khabar

मुंबई यात्रा के दौरान मातोश्री नहीं जाएंगे रामनाथ कोविंद, तोड़ेंगे परंपरा

राष्ट्रपति पद के राजग उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के शनिवार की मुंबई यात्रा के दौरान शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाकात की योजना नहीं है.

21 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुंबई यात्रा के दौरान मातोश्री नहीं जाएंगे रामनाथ कोविंद, तोड़ेंगे परंपरा

रामनाथ कोविंद (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. राष्ट्रपति पद के राजग उम्मीदवार रामनाथ कोविंद शनिवार की मुंबई जाएंगे
  2. कोविंद की शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाकात की योजना नहीं
  3. शिवसेना ने नाखुशी के बाद दिया था कोविंद को समर्थन देने का ऐलान
मुंबई:

राष्ट्रपति पद के राजग उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के शनिवार की मुंबई यात्रा के दौरान शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाकात की योजना नहीं है. भाजपा सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी. कोविंद के यात्रा कार्यक्रम के अनुसार वह 15 जुलाई को दस बजे मुंबई पहुंचेंगे और दक्षिण मुंबई के गरवारे क्लब जाएंगे जहां उनको सूबे के राजग विधायकों और सांसदों की बैठक को संबोधित करना है. भाजपा के एक नेता ने बताया, "कार्यक्रम के बाद वह हवाईअड्डे के लिए रवाना होंगे."

टिप्पणियां

उल्लेखनीय है कि संप्रग के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार प्रणब मुखर्जी और प्रतिभा पाटिल ने तत्कालीन शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे से उपनगरीय बांद्रा स्थित उनके आवास 'मातोश्री' में जाकर मुलाकात की थी. पिछले महीने शिवसेना नेताओं के साथ बैठक के बाद उद्धव ने कोविंद को समर्थन देने का ऐलान किया था.
 
अभी यह भी साफ नहीं हो सका है कि इस प्रतिनिधिमंडल में शिवसेना के प्रतिनिधि रहेंगे या नहीं. शिवसेना ने भी अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है लेकिन कोविंद के दिनभर की कार्यक्रम सूची में उद्धव ठाकरे के बांद्रा स्थित निवास मातोश्री जाने की कोई योजना है. कोविंद का मातोश्री न जाना पिछले दो बार से राष्ट्रपति उम्मीदवारों के मातोश्री जाने की परंपरा को तोड़ने वाला कदम होगा. 


गौरतलब है कि पिछले राष्ट्रपति चुनाव में संप्रग उम्मीदवार प्रणब मुखर्जी ने स्वयं मातोश्री जाकर शिवसेना प्रमुख बालासाहब ठाकरे से मुलाकात करके समर्थन मांगा था. शिवसेना ने प्रणब दा को निराश नहीं किया था. उनके राजनीतिक अनुभव एवं बालासाहब ठाकरे से निजी संबंधों को अहमियत देते हुए समर्थन देने का निर्णय लिया था. 2007 में हुए राष्ट्रपति चुनाव में भी शिवसेना ने यूपीए उम्मीदवार प्रतिभा पाटिल का समर्थन किया था. रामनाथ कोविंद के नाम पर शुरुआत में शिवसेना ने नाखुशी जाहिर की थी लेकिन बाद में उद्धव ठाकरे ने पार्टी नेताओं से विचार-विमर्श कर उन्हें समर्थन देने की घोषणा की थी.  
(इनपुट भाषा से भी)
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement