NDTV Khabar

आरटीआई कार्यकर्ता की हत्या का मामला : वारदात के चार साल बाद गिरफ्तार हुए आरोपी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आरटीआई कार्यकर्ता की हत्या का मामला : वारदात के चार साल बाद गिरफ्तार हुए आरोपी

प्रतीकात्मक फोटो

मुंबई:

मुंबई से सटे विरार में 4 साल पहले मारे गए आरटीआई कार्यकर्ता प्रेमकांत झा की हत्या के आरोप में 2 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। गिरफ्तार आरोपियों के नाम बाबुराव रामन्ना और उमेश शंखे है। दोनों को अदालत ने 18 जनवरी तक सीबीआई हिरासत में भेज दिया है। दोनों ही आरोपी विरार में ही अवैध निर्माण से जुड़े हैं।

टिप्पणियां

फरवरी 2012 में हुई थी हत्या
आरटीआई कार्यकर्ता प्रेमकांत झा की  24 फरवरी 2012 को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। प्रेमकांत "भ्रष्टाचार और अत्याचार विरोधी समिति " नामक एनजीओ चलाते थे। विरार में उन्होंने इलाके के भूमाफिया के खिलाफ मुहिम छेड़ रखी थी।


हत्या के बाद स्थानीय पुलिस और बाद में सीआईडी को जांच दी गई थी। 18 लोग शक के दायरे में भी आए थे लेकिन किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी। 2 साल बाद बॉम्बे हाई कोर्ट ने जांच सीबीआई को सौंप दी थी। अब वारदात के 4 साल बाद जाकर 2 आरोपी पकड़े जा सके हैं।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement