NDTV Khabar

शत्रुघ्न सिन्हा के हमशक्‍ल को महंगा पड़ा चैनल का स्टिंग ऑपरेशन, 15 साल से काट रहे कोर्ट के चक्‍कर

84 साल के बलबीर सिंह राजपूत पिछले कई दशकों से शत्रुघ्न सिन्हा की नकल करते आए हैं और उन्होंने देश विदेश में कई शो भी किए हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शत्रुघ्न सिन्हा के हमशक्‍ल को महंगा पड़ा चैनल का स्टिंग ऑपरेशन, 15 साल से काट रहे कोर्ट के चक्‍कर

शत्रुघ्‍न सिन्‍हा के हमशक्‍ल बलबीर सिंह राजपूत (फाइल फोटो)

मुंबई: शत्रुघ्न सिन्हा के हमशक्‍ल बलबीर सिंह राजपूत ने साल 2003 में एक टीवी चैनल के लिए स्टिंग ऑपरेशन करते हुए संसद भवन में शत्रुघ्न सिन्हा की जगह प्रवेश कर संसद भवन की सुरक्षा पर सवाल खड़ा किया था. हालांकि संसद भवन में गैरकानूनी तरीके से प्रवेश करने के लिए बाद में उनपर कार्रवाई भी की गई और 15 साल बाद भी वो इसी मामले में बार बार अदालत का दरवाज़ा खटखटा रहे हैं. बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने भी बलबीर सिंह राजपूत को माफ़ करने की बात कही है.

टिप्पणियां
84 साल के बलबीर सिंह राजपूत पिछले कई दशकों से शत्रुघ्न सिन्हा की नकल करते आए हैं और उन्होंने देश विदेश में कई शो भी किए हैं. साल 2003 में एक टीवी चैनल के कहने पर उन्होंने बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा के रूप में संसद भवन में प्रवेश किया था और इसके ज़रिये उस टीवी चैनल ने संसद भवन में बिना तलाशी के प्रवेश को दिखाते हुए संसद की सुरक्षा पर कई सवाल उठाए थे. लेकिन यह स्टिंग ऑपरेशन बलबीर सिंह राजपूत के लिए महंगा साबित हुआ. अवैध तरीके से संसद में घुसने और वहां खुलेआम घूमने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने साल 2004 में उनके खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया था और पिछले 15 साल से बलबीर सिंह कोर्ट कचहरी के चक्कर काट रहे हैं. इनका आरोप है कि उनपर मामला दर्ज होने का असर उनके काम पर भी पड़ा है.

दरअसल पिछले 15 सालों में बलबीर सिंह दो बार तिहाड़ जेल जा चुके हैं और उनका आरोप है कि इसी मामले के कारण उन्हें मानसिक परेशानी भी हुई है. इस पूरे मामले में टीवी चैनल के कुछ अधिकारियों पर भी मामला दर्ज था जिसे बाद में ख़त्म कर दिया गया लेकिन बलबीर सिंह राजपूत पर मामला अब भी चल रहा है. हालांकि खुद शत्रुघ्न सिन्हा ने इन्हें माफ़ कर दिया है. इस मामले पर शत्रुघ्न सिन्हा की ओर से कहा गया है कि 'यह एक प्रैंक था जिसे सभी लोगों ने खूब एन्जॉय किया. मैं उन्हें माफ़ कर चुका हूं और दूसरों को भी उन्हें माफ़ कर देना चाहिए. कम से कम उनकी उम्र और तबीयत का ख्याल रखना चाहिए.'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement