NDTV Khabar

स्टेट बैंक ऑफ मॉरीशस की मुंबई ब्रांच में 143 करोड़ रुपये की ठगी, हैकर्स ने ऐसे दिया वारदात को अंजाम
पढ़ें | Read IN

स्टेट बैंक ऑफ मॉरीशस (एसबीएम) की मुंबई शाखा को 143 करोड़ रुपये का चूना लगाने का मामला सामने आया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
स्टेट बैंक ऑफ मॉरीशस की मुंबई ब्रांच में 143 करोड़ रुपये की ठगी, हैकर्स ने ऐसे दिया वारदात को अंजाम

हैकर्स ने बैंक का सर्वर हैक कर पैसे ट्रांसफर कर लिये.

खास बातें

  1. मुंबई में सामने आया चौंकाना वाला मामला
  2. हैकर्स ने स्टेट बैंक ऑफ मॉरीशस को लगाया चूना
  3. बैंक का सर्वर हैक कर ठग लिये करोड़ों रुपये
मुंबई: मुंबई में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. स्टेट बैंक ऑफ मॉरीशस (एसबीएम) की मुंबई शाखा को 143 करोड़ रुपये का चूना लगा दिया गया. हैकर्स ने बैंक के खातों से लगभग 143 करोड़ रुपये की ठगी की है. मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई (ईओडब्ल्यू) में बीते सप्ताह दर्ज कराई गई बैंक की शिकायत के अनुसार, घटना एसबीएम की नरीमन प्वॉइन्ट शाखा में हुई थी. एसबीएम ने कहा कि कुछ अज्ञात व्यक्तियों ने अवैध रूप से विभिन्न खातों तक पहुंचने के लिए हमारे सर्वर को हैक किया और देश के बाहर कई खातों में पैसा स्थानांतरित करने में कामयाब रहे. ईओडब्ल्यू और साइबर सेल विशेषज्ञ मामले की जांच कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें : दिल्ली में बैंक कैशियर की गोली मारकर हत्या, दो लाख रुपये लूटे

इसके साथ ही एसबीएम खुद भी यह पता लगाने की कोशिश कर रहा है कि इसमें कोई कंपनी के किसी अंदरूनी शख्स हाथ है या नहीं. दो अक्टूबर को एसबीएम ने एक बयान में कहा कि भारत में बैंक के साथ साइबर ठगी की गई है जिससे बैंक को 1.4 करोड़ डॉलर की चपत लगी है. बैंक ने हालांकि आश्वासन दिया कि किसी भी ग्राहक को कोई नुकसान नहीं हुआ है. आपको बता दें कि 2 दिन पहले ही दिल्ली के छावला इलाके के खैरा गांव में हथियारों से लैस बदमाश कॉर्पोरेशन बैंक में घुस गए थे और लूटपाट के दौरान उन्होंने कैशियर को गोली मार दी थी. (इनपुट- IANS से भी)

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें : दिल्ली में शुक्रवार को बैंक में हुई लूट का सामने आया CCTV 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement