NDTV Khabar

कमला मिल हादसा: दमकल अधिकारी समेत तीन और गिरफ्तार

इसी के साथ हादसे में अब तक गिरफ्तार होने वालों की संख्या 11 हो गई है. 29 दिसंबर को हुए भीषण आग हादसे में 14 लोगों मौत हो गई थी, जिनमें महिलाएं अधिक थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कमला मिल हादसा: दमकल अधिकारी समेत तीन और गिरफ्तार

कमला मिल हादसे मामले में पुलिस ने तीन और आरोपियों को किया गिरफ्तार (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. रेस्‍टोरेंट में हुक्का सप्लाई करने वाला उत्कर्ष विनोद पांडे भी गिरफ्तार
  2. 29 दिसंबर को हुए भीषण आग हादसे में 14 लोगों मौत हुुुुई थी
  3. हादसे में अब तक गिरफ्तार होने वालों की संख्या 11 हो गई है
मुंबई: कमला मिल आग हादसे में एन एम जोशी पुलिस ने कमला मिल के पार्टनर रवी सूरजमल भंडारी, दमकल अधिकारी राजेंद्र पाटिल और दोनों ही रेस्‍टोरेंट में हुक्का सप्लाई करने वाले उत्कर्ष विनोद पांडे को गिरफ्तार कर लिया है. इसी के साथ हादसे में अब तक गिरफ्तार होने वालों की संख्या 11 हो गई है. 29 दिसंबर को हुए भीषण आग हादसे में 14 लोगों मौत हो गई थी, जिनमें महिलाएं अधिक थी. 

कमला मिल आग हादसा आंख खोलने वाला : अदालत

सभी को गैर इरादतन हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. इस मामले में दमकल  अधिकारी राजेंद्र पाटिल की गिरफ्तारी सबसे अहम मानी जा रही है, क्यूंकि ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी आग हादसे के लिए स्टेशन फायर ऑफिसर की गिरफ़्तारी हुई हो वह भी गैरइरादतन हत्या के आरोप में.  

दमकल सूत्रों के मुताबिक, इस गिरफ्तारी के बाद से मुंबई दमकल विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. रविवार का दिन होने के बाद भी सभी बड़े आला अफसर इस पर चर्चा करने के लिए इकठ्ठा हुए. जानकारी के मुताबिक, स्टेशन फायर अफसर राजेंद्र पाटिल पर आरोप है कि हादसे के हफ्ते भर पहले ही वन अबव रेस्टोरेंट को नो ऑब्जेक्शन सर्टिफकेट दिया था और साथ में उस पर कोई शेड ना होने का एक फोटो भी संलग्न किया था. जबकि हादसे के वक्त वन अबव रेस्टॉरंट पर छत बनी थी जिसने आग को बढ़ने में मदद की. अब ये जांच का विषय है कि दमकल अधिकारी पाटिल ने जानबूझकर अवैध निर्माण छुपाया या फिर बिना मौके का मुआयाना किये ही रेस्‍टोरेंट मालिकों के दिए फोटो पर भरोसा कर इजाजत दे दी. 

कमला मिल्‍स हादसा: 8 लोगों की जिंदगी बचाने वाले कांस्‍टेबल ने कहा, 14 लोगों की जान जाने का दुख

वहीं कमला मिल के पार्टनर रवी सूरजमल भंडारी पर अपनी जगहों पर अवैध निर्माण करने देने का आरोप है. बीएमसी आयुक्त अजोय मेहता ने भी अपनी जांच रिपोर्ट में मिल के मालिक के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई की शिफारिश की थी. 

टिप्पणियां
दमकल विभाग की जांच हो या बीएमसी आयुक्त की दोनों की जांच में मोजो बिस्त्रो में उस समय चल रहे हुक्का पार्लर की चिंगारी को ही आग लगने के लिए जिम्मेदार माना गया है, इसलिए पुलिस ने दोनों ही रेस्टारेंट में हुक्का सप्लाई करने वाले  उत्कर्ष विनोद पांडे को भी  गिरफ्तार किया है. पांडे पर आरोप है कि ये जानते हुए भी कि रेस्टारेंट में हुक्का पार्लर के लिए जरुरी अनुमति नहीं है उसने हुक्का सप्लाई किया. तीनो ही आरोपियों को शनिवार देर शाम गिरफ्तार किया गया. रविवार को उन्हें रिमांड के लिए कोर्ट ले जाया जाएगा.

VIDEO: कमला मिल हादसे में वन अबव के तीनों मालिक गिरफ्तार

गौरतलब है कि बीएमसी आयुक्त ने अपनी जांच रिपोर्ट में रेस्टोरेंट के आर्किटेक्ट, इंटीरियर डिजायनर को भी आग बढ़ने के जिम्मेदार बताया है साथ ही बीएमसी के 2 अधिकारियों और 10 दमकलकर्मियों के खिलाफ जांच का भी आदेश दिया है राजेंद्र पाटिल उन्ही 10 में से एक है मतलब  साफ है मामले में अभी और भी गिरफ्तरी हो सकती है.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement