NDTV Khabar

शोर बंद करवाने के लिए खुद को बताया ISI एजेंट, पहुंच गया हवालात

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शोर बंद करवाने के लिए खुद को बताया ISI एजेंट, पहुंच गया हवालात

प्रतीकात्मक तस्वीर

मुंबई:

मुंबई के एंटोप हिल में एक शख्स ने सिर्फ इसलिए खुद को आईएसआई का एजेंट बताया क्योंकि वह घर के पास चल रहे कार्यक्रम से परेशान था और उसे बंद करवाना चाहता था। नतीजा शोर तो बंद हो गया लेकिन वह खुद भी पहुंच गया हवालात में।

बात 16 अप्रैल रात की है जब एंटोप हिल की पंजाबी कॉलोनी में रहने वाले 44 साल के मोहनलाल दुग्गल ने पास में चल रहे एक कार्यक्रम को बंद कराने के लिए पुलिस कंट्रोल में फ़ोन किया।

पुलिस ने बंद करवा दिया था लाउड स्पीकर...
अंटोप हिल पुलिस थाने के इंचार्ज वसंत पाटिल के मुताबिक कॉल के बाद पुलिस ने लाउड स्पीकर बंद करवा दिया। लेकिन रात के भोजन का कार्यक्रम जारी था। मोहनलाल उसे भी बंद करवाना चाहते थे। बार - बार कंट्रोलरूम में फ़ोन करने के बाद भी जब कार्यक्रम बंद नहीं हुआ तो मोहनलाल ने अनोखा तरीका अपनाया।

टिप्पणियां

उसी रात पुलिस कंट्रोल में फिर एक फ़ोन आया कि मैं करांची से ISI का एजेंट  बोल रहा हूं। एंटोप हिल इलाके में बम रखा है खोज सको तो खोज लो। इस फ़ोन से पुलिस में हड़कंप मच गया। तुरंत एंटोप हिल पुलिस के साथ बम खोजी दस्ते और बाकी एजेंसियों को भी सतर्क कर दिया गया। इस बीच फ़ोन नंबर के जरिये जब उसका पता निकाला गया तो वह भी एंटोप हिल का निकला। लेकिन जिसके नाम पर फ़ोन था, वह सालों पहले घर बदल चुका था। आखिरकार पुलिस फ़ोन करने वाले असली शख्स तक पहुंची तो वह शराब के नशे में धुत मिला। पूछताछ में पता चला कि यह वही शख्श है जो बार कार्यक्रम बंद करवाने के लिए कंट्रोल रूम को फ़ोन कर रहा था।


कोर्ट ने हिरासत में भेज दिया...
पुलिस ने इस शख्स मोहनलाल दुग्गल को अफवाह फ़ैलाने के साथ, पुलिस फ़ोर्स को परेशान करने और सरकारी काम में बाधा डालने के आरोप में गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया जहां अदालत ने उसे जेल हिरासत में भेज दिया है।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement