Budget
Hindi news home page

पहली बार महिला को शनि मंदिर ट्रस्ट प्रमुख चुना, बोलीं- महिलाओं को प्रवेश अनुमति की कोई योजना नहीं

ईमेल करें
टिप्पणियां
पहली बार महिला को शनि मंदिर ट्रस्ट प्रमुख चुना, बोलीं- महिलाओं को प्रवेश अनुमति की कोई योजना नहीं
मुंबई: 40 वर्षीय गृहिणी अनिता शेटये को अहमदनगर जिले में शनि शिंगनापुर मंदिर ट्रस्ट की पहली महिला अध्यक्ष चुना गया है। यह मंदिर हाल में एक महिला द्वारा वहां पूजा कर मंदिर की परम्परा को तोड़ने के कारण चर्चा में था।

अध्यक्ष चुने जाने के तुरंत बाद शेटये ने कहा कि वह उस परम्परा को जारी रखेगी और चौथारा (मंदिर प्लेटफॉर्म) पर महिलाओं को जाने की अनुमति देने की कोई योजना नहीं है।

इस मंदिर में शनि भगवान की मूर्ति पर महिलाओं को तेल चढ़ाने की अनुमति नहीं है। पांच सौ वर्ष पुराने मंदिर के इतिहास में शेटये पहली महिला हैं जो मंदिर ट्रस्ट की प्रमुख बनी हैं और वह पांच सालों तक इस पद पर रहेंगी। अन्य 11 न्यासियों में भी एक महिला हैं जिनका नाम वैशाली लांदे है।

पुणे की चार महिलाओं ने चार सौ महिलाओं को एकजुट कर मंदिर परिसर में धावा बोलने और सालों पुरानी परम्परा को तोड़ने का निर्णय किया है और इन्हीं विवादों के बीच शेटये की नियुक्ति हुई है।

पिछले वर्ष एक महिला श्रद्धालु ने मंदिर परिसर के प्रतिबंधित क्षेत्र में घुसकर पूजा की थी जिसके बाद ग्रामीणों ने कथित तौर पर शुद्धिकरण अनुष्ठान किया था जिसको लेकर यह मंदिर सुखिर्यों में रहा।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement