NDTV Khabar
होम | उत्तर पूर्व भारत

उत्तर पूर्व भारत

  • असम में बस हादसे में 7 की मौत, 20 से अधिक गंभीर रूप से घायल
    असम राज्य परिवहन निगम का बस आज दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से 7 यात्री की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 20 से अधिक यात्री घायल हो गए. मिली जानकारी के अनुसार के अनुसार के गुवाहाटी से मुकालमुवा जा रही असम राज्य परिवहन निगम की बस अनियंत्रित होकर सड़क के किनारे तालाब में गिर जाने से 7 यात्री की मौके पर ही मौत हो गई. वहीं, 21 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. सभी घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं गंभीर रूप से घायल कुछ लोगों को गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर किया गया है. मृतकों की संख्या बढ़ सकती है.
  • तिब्बत की कृत्रिम झील के कारण अरुणाचल प्रदेश में बाढ़ का संकट, चेतावनी जारी
    तिब्बत में भूस्खलन होने से एक नदी का मार्ग अवरुद्ध हो जाने और कृत्रिम झील बनने के बाद अरुणाचल प्रदेश में ब्रह्मपुत्र नदी से लगे जिलों में बाढ़ की आशंका को देखते हुए हाई अलर्ट जारी किया गया है.
  • अब त्रिपुरा में NRC की मांग, सुप्रीम कोर्ट करेगा परीक्षण, केंद्र सरकार को नोटिस जारी
    असम में NRC को लेकर चल रही कवायद के बीच अब सुप्रीम कोर्ट त्रिपुरा में NRC को लेकर परीक्षण करेगा. सुप्रीम कोर्ट ने एक जनहित याचिका पर केंद्र सरकार और त्रिपुरा को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. आपको बता दें कि त्रिपुरा पीपल्स फ्रंट ने सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल कर असम की तरह NRC की मांग की है. जिस पर यह नोटिस जारी किया गया है. 
  • VIDEO: जहां स्कूल तक पहुंचने के लिए पतीले में बैठकर नदी पार करने को मजबूर हैं छोटे-छोटे बच्चे...
    भारत में रोटी, कपड़ा, मकान, स्वास्थ्य और शिक्षा को इंसान की बुनियादी जरूरतों में शामिल किया गया है. देश में मूलभूत जरूरतों को पाने के लिए किसी भी इंसान को कितने जद्दोजहद करने पड़ते हैं, यह बयां करने के लिए असम के बिश्वनाथ जिले के बच्चों की रोजमर्रा की जिंदगी को देखा जा सकता है. दरअसल, असम के विश्वनाथ जिले में जान जोखिम पर डाल कर शिक्षा पाने को मजबूर हो रहे बच्चों की जो तस्वीर सामने आई है, वह न सिर्फ हैरान करने वाला है, बल्कि देश की शिक्षा व्यवस्था को भी कटघरे में खड़ा करती है. जिले के बच्चे हर दिन जान जोखिम में डाल कर स्कूल जाते हैं. दरअसल, यहां बच्चे नदी को तैर कर स्कूल जाने के लिए मजबूर हैं. बच्चे अपने-अपने घरों से एलुमिनयिम का बड़ा पतीला साथ लाते हैं और उसमें बैठकर नदी पार कर स्कूल पहुंचते हैं. एल्यूमीनियम के बर्तन में बैठकर नदी पार करने वाले बच्चों की संख्या करीब 40 है, जो प्राइमरी स्कूल में पढ़ते हैं उसमें सिर्फ़ एक ही शिक्षक है. इन बच्चों को नदी पार करवाने में स्कूल के इकलौते शिक्षक पूरी मदद करते हैं.
  • मणिपुर यूनिवर्सिटी में आधी रात को छापेमारी, 89 छात्र और 6 शिक्षक गिरफ्तार
    मणिपुर विश्वविद्यालय परिसर में कल हुए आंदोलन के मद्देनजर संस्थान के 89 छात्रों और छह शिक्षकों को शुक्रवार तड़के गिरफ्तार कर लिया गया. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि घटना को लेकर ‘गलत सूचना और अफवाहों’ के प्रसार को अगले पांच दिनों तक रोकने के लिए राज्य में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गयी है.
  • असम में अवैध शराब बेचने वाली महिला पर हमला, ग्रामीणों ने किया यह काम...
    असम के करीमगंज जिले में ग्रामीणों ने अवैध शराब बेचने वाली एक महिला पर हमला किया और उसे निर्वस्त्र कर दिया. पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि सोशल मीडिया पर हमले का एक वीडियो वायरल होने के बाद घटना सामने आई. पुलिस ने इस संदर्भ में मामला दर्ज कर लिया है. महिला पर हमला करने वाले वीडियो में हमलावरों में महिलाएं भी नजर आ रही हैं,
  • कानपुर में हिज्बुल का आतंकवादी पकड़ा गया : गणेश चतुर्थी पर वारदात की थी योजना
    यूपी एटीएस ने आज कानपुर से हिज्बुल मुजाहिदीन के एक संदिग्ध आतंकवादी कमर-उज-अमन उर्फ डॉ हुरैरा को गिरफ्तार किया है. कमर-उज-अमन असम का रहने वाला है. अप्रैल में उसने एके-47 लिए हुए अपनी एक फोटो सोशल मीडिया पर डाली थी, जिसमें उसने अपना नाम डॉ हुरैरा लिखा था. तभी से सुरक्षा एजेंसियां उसकी तलाश कर रही थीं.
  • असम में ब्रह्मपुत्र नदी में नाव पलटी; तीन की मौत, 11 लापता
    मोटरचालित देसी नौका के बुधवार को ब्रह्मपुत्र नदी में पलटने के कारण तीन व्यक्ति की डूबकर मौत हो गई जबकि 11 अन्य लापता हो गए. नौका पर 36 लोग सवार थे.
  • सीपीआईएम के नेता बिश्वजीत दत्ता BJP में शामिल, कहा- कम्युनिस्ट पार्टी भ्रष्टाचार में लिप्त
    त्रिपुरा में माकपा के पूर्व विधायक बिश्वजीत दत्ता सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल हो गये हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि कम्युनिस्ट पार्टी भ्रष्टाचार, गुटबाजी और आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त है. दत्ता (68) राज्य की राजधानी से लगभग 50 किलोमीटर दूर खोवाई जिले में भाजपा में शुक्रवार की शाम को शामिल हुए.  
  • असम के नगांव में महिला को चार लोगों ने अगवा कर गैंगरेप की वारदात को दिया अंजाम
    असम के नगांव जिले में एक महिला को कथित रूप से अगवा करके उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया. इसके बाद उसे राष्ट्रीय राजमार्ग पर छोड़ दिया गया. नगांव के पुलिस अधीक्षक एस रॉय ने पत्रकारों को बताया कि महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि कल शाम वह अपने एक दोस्त के साथ बाइक पर जा रही थी. वे गोलाघाट जिले में जा रहे थे. रॉय ने बताया कि उसने आरोप लगाया कि रास्ते में चार लोगों ने उन्हें रोक लिया और उसे जबरन अपनी गाड़ी में बैठा कर ले गए.
  • टीचर ने गर्लफ्रेंड पर राखी बांधने का डाला दबाव, छात्र ने लगाई स्कूल की बिल्डिंग से छलांग
    रक्षाबंधन के एक दिन बाद राखी के नाम पर मोरल पोलिसिंग का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. अगरतला में एक शिक्षक ने 18 साल के स्टूडेंट को अपनी ही गर्लफ्रेंड से राखी बंधवाने की जबरन कोशिश की, जिसके बाद स्टूडेंट ने स्कूल की बिल्डिंग से कूद कर खुदकुशी करने की कोशिश की, जिसमें वह बुरी तरह घायल हो गया. पुलिस ने यह जानकारी दी. 
  • असम में NRCसे बाहर 10 फीसदी लोगों का फिर से सत्यापन करने का आदेश
    सुप्रीम कोर्ट ने असम में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के मसौदे से बाहर रखे गए 10 प्रतिशत लोगों के पुन:सत्यापन का आदेश दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने NRC के लिए दावों व आपत्तियों की तारीख में बदलाव किया है. अब 30 अगस्त की जगह पांच सितंबर को सुनवाई होगी.
  • असम में एनआरसी में छूटे 40 लाख लोगों के लिए अपनाई जाएगी यह प्रक्रिया
    असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के मामले में केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एसओपी दाखिल किया है. राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के मसौदे में 40 लाख लोगों के दावों और आपत्तियों के निपटारे के लिए यह मानक कार्रवाई प्रक्रिया (SOP) दाखिल की गई है.
  • NRC : पहले परिवार ने ठुकराया, अब इन पर देश से बेदखल होने का खतरा
    असम के राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) को लेकर जहां बहस छिड़ी हुई है वहीं असम में एक समुदाय ऐसा भी है जिसके सदस्यों को उनके अपने परिवारों ने तो ठुकरा ही दिया, अब देश से भी बेदखल होने का खतरा है. किन्नर यानि कि ट्रांसजेंडर को एनआरसी में स्थान नहीं मिला है. अब इस समुदाय की उम्मीदें सुप्रीम कोर्ट पर टिकी हैं.
  • असम के CM की फिसली जुबान, केंद्रीय मंत्री को बता दिया सितार वादक और उड़ा मजाक, जानें पूरा मामला
    असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को ‘पंडित रविशंकर’ कहकर संबोधित किया. ‘डिजिटल नॉर्थ ईस्ट विजन 2022’ के दस्तावेज का यहां लोकार्पण करने के दौरान, अपने भाषण की शुरूआत में सोनोवाल ने कहा, ‘‘ मैं खासतौर पर पंडित रविशंकर जी का धन्यवाद करना चाहूंगा’’.
  • पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, असम में अब तक 5 FIR दर्ज, ये है वजह
    पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और तृणमूल कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों के खिलाफ असम में दो और प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि धर्म के आधार पर कथित तौर पर गड़बड़ी पैदा करने के लिए ये प्राथमिकियां दर्ज की गईं. एनआरसी के अंतिम मसौदा के 30 जुलाई को प्रकाशन के बाद से असम में ममता के खिलाफ कुल पांच प्राथमिकियां दर्ज की जा चुकी हैं.
  • असम की एकमात्र महिला मुख्यमंत्री रहीं सैयदा अनोवरा तैमूर का नाम NRC से गायब, जानें पूरा मामला
    असम की एकमात्र महिला मुख्यमंत्री रहीं सैयदा अनोवरा तैमूर का नाम राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) में नहीं है. अब उन्होंने अपने परिवार का नाम दर्ज कराने की प्रक्रिया शुरु करने के लिए आस्ट्रेलिया से वापस आने की योजना बनायी है. आस्ट्रेलिया में रह रहीं वृद्ध नेता ने एक टेलीविजन चैनल से कहा, यह निराशाजनक है कि मेरा नाम सूची में नहीं है.
  • NRC के मुद्दे पर ममता बनर्जी के रुख से नाराज असम के टीएमसी प्रमुख का इस्तीफा
    असम में नागरिकता रजिस्टर पर ममता बनर्जी का विरोध पार्टी पर भारी पड़ रहा है. ममता के रुख़ के विरोध में असम के तृणमूल कांग्रेस कमेटी के प्रमुख द्विपेन पाठक ने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया. इसके साथ प्रदीप पचानी और दिगंता सैकिया ने भी ये कहते हुए पार्टी छोड़ दी कि वे उस पार्टी में नहीं बने रहना चाहते हैं जो मूल असमी लोगों की पहचान से समझौता करना चाहती है.
  • असम में ममता बनर्जी के सांसदों की No-Entry, एयरपोर्ट पर ही गिरफ्तार किए गए
    असम में एनआरसी (NRC) का दूसरा ड्राफ्ट आने के बाद से सियासी घमासान मचा हुआ है. तृणमूल सांसदों के एक दल को असम के सिलचर एयरपोर्ट पर रोका गया और उन्हें हिरासत में ले लिया गया. TMC के 6 सांसद और 2 एमएलए हिरासत में लिए गए हैं. वे नागरिक रजिस्टर के मुद्दे पर सिलचर में एक सभा करना चाहते थे. उन्हें एयरपोर्ट से निकलने नहीं दिया गया. असम की बाराक घाटी और सिलचर में पहले से ही धारा 144 लागू है. टीएमसी (TMC) का प्रतिनिधिमंडल चाहता था कि वो वहां नागरिक रजिस्ट के मुद्दे पर कुछ बांग्ला संगठनों के साथ बातचीत करे. टीएमसी नेताओं को एयरपोर्ट पर रोके जाने के बाद पार्टी नेता डेरेक ओब्रायन ने कहा कि यह 'सुपर इमरजेंसी है.'
  • पुडुचेरी विधानसभा ने विनियोग विधेयक पारित किया, मनोनित विधायकों ने सत्र में हिस्सा लिया
    पुडुचेरी विधानसभा ने बुधवार को अहम विनियोग विधेयक पारित किया. तीन मनोनित विधायकों को भी सदन की कार्यवाही में भाग लेने की स्वीकृति मिली. उपराज्यपाल किरण बेदी से मंजूरी मिलने के बाद विधायकों के सत्र में हिस्सा लेने का रास्ता साफ हुआ. मनोनित विधायकों के आज विधानसभा की कार्यवाहियों में हिस्सा लने के बाद बेदी एवं कांग्रेस सरकार के बीच गतिरोध खत्म हो गया.
12345»

Advertisement