NDTV Khabar

सुषमा स्वराज के हस्तक्षेप के बाद त्रिपुरा के एक युवक को सऊदी अरब में कराया गया मुक्त

उसे ड्राइवर की नौकरी मिली थी लेकिन उसके नियोक्ता उससे रोजाना 22 घंटे घरेलू और कृषि मजदूर के रुप में भी दास की तरह काम कराता था.

9 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
सुषमा स्वराज के हस्तक्षेप के बाद त्रिपुरा के एक युवक को सऊदी अरब में कराया गया मुक्त

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज.

अगरतला: त्रिपुरा के भाजपा प्रभारी सुनील देवधर ने कहा कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के हस्तक्षेप पर राज्य के 32 वर्षीय एक व्यक्ति को सऊदी अरब में उसके नियोक्ताओं से मुक्त कराया गया. दक्षिण त्रिपुरा के बारापठारी गांव का निवासी गोपाल दास काम की तलाश में तीन साल पहले सऊदी अरब गया था. उसे ड्राइवर की नौकरी मिली थी लेकिन उसके नियोक्ता उससे रोजाना 22 घंटे घरेलू और कृषि मजदूर के रुप में भी दास की तरह काम कराता था.

उसकी मुश्किलें तब और बढ़ गयी जब उसके मालिक ने उसे तनख्वाह से भी वंचित कर दिया. वह उसे शारीरिक प्रताड़ना भी देता था. लेकिन वह इन बातों की जानकारी अपने परिवार के सदस्यों को नहीं दे पाया क्योंकि वह निरंतर निगरानी में था.

यह भी पढ़ें : .....और तब सुषमा स्वराज ने आगे बढ़कर नेपाल के प्रधानमंत्री को पानी पिलाया

देवधर ने बताया कि दास को उसके मालिक ने बर्खास्त कर दिया और उसे 29अगस्त को अपने घर से निकाल दिया. उसके बाद दास एक गैराज में आश्रय लेने में सफल रहा और उसने अपनी बीवी भबीता को सारी बात बतायी.
VIDEO: ईरान पर सुषमा स्वराज का बयान

भबीता ने अपने मोहल्ले में रुसेल सिन्हा से संपर्क किया . रुसेल ने गोपाल से बात की. उसने उसे अपने बयान का वीडियो भेजने को कहा. रुसेल ने 31 अगस्त को यह वीडियो स्वराज को ट्वीट किया. स्वराज ने जेद्दा में भारतीय वाणिज्य दूतावास से गोपाल को बचाकर लाने को कहा. गोपाल कल रात यहां पहुंचा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement