Tokyo Olympic 2020: बड़ा फैसला ! जापान ओलिंपिक में 124 साल के इतिहास में पहली बार होगा ऐसा

आईओसी ने कहा है कि 24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच होने वाले ओलिंपिक खेल इतिहास में पहले ऐसे खेल होंगे, जिनमें लिंग-समानता को तरजीह दी जाएगी.

Tokyo Olympic 2020: बड़ा फैसला ! जापान ओलिंपिक में 124 साल के इतिहास में पहली बार होगा ऐसा

ओलिंपिक खेलों का लोगो

खास बातें

  • इस साल जुलाई से अगस्त तक है आयोजन
  • करीब 11,000 खिलाड़ी हिस्सा लेंगे
  • 33 खेलों में 339 स्पर्धाओं का आयोजना होगा
जेनेवा:

अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति (आईओसी) ने इसी साल होने वाले टोक्यो ओलिंपिक के उद्घाटन समारोह के लिए एक बड़ा फैसला लिया है. और आयोजन समिति पुरानी परंपरा में बदलाव करते हुए इस बार इसे एक नया रूप देने जा रही है. आईओसी ने कहा है कि 24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच होने वाले ओलिंपिक खेल इतिहास में पहले ऐसे खेल होंगे, जिनमें लिंग-समानता को तरजीह दी जाएगी. इन खेलों में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों में 48.8 प्रतिशत खिलाड़ी महिला होंगी.

यह भी  पढ़ें:  पुरुष रैंक‍िंग में तीसरे स्‍थान पर पहंचे ऑस्‍ट्र‍िया के डोम‍िन‍िक थीम

आईओसी के अध्यक्ष थॉमस बाख ने कहा, "आईओसी के कार्यकारी बोर्ड ने फैसला लिया है कि इस साल ओलिंपिक में हिस्सा लेने वाली 206 टीमों और आईओसी रिफ्यूजी ओलिंपिक टीम में से हर टीम में एक महिला और एक पुरुष ध्वाजावाहक होंगे.' अभी तक हर ओलिंपिक दल में देश का एक ही ध्वजावाहक ही रहा है, लेकिन इस ओलंपिकि में महिला एवं पुरुष दो ध्वजावाहकों की मंजूरी दे दी गई है.

यह भी  पढ़ें:  कोरोना वायरस के कारण अजलन शाह कप टूर्नामेंट स्थगित

उन्होंने कहा, "साथ ही हमने, राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति द्वारा उद्घाटन समारोह में संयुक्त रूप से महिला एवं पुरुष ध्वाजावाहक को नामांकित किए जाने वाले नियमों में भी बदलाव कर दिए हैं"

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: काफी समय पहले एनडीटीवी ने भारतीय पुरुष व महिला हॉकी कप्तान से खास बात की थी. 

बाख ने कहा, "हम चाहते हैं कि सभी राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति इस विकल्प का भरपूर उपयोग करें. इससे आईओसी पूरे विश्व में लिंग-समानता का मजबूत संदेश दे रही है."