ग्वालियर: 15 घंटे की मशक्कत के बाद भी नहीं बचाया जा सका बोरवेल में फंसा दो साल का बच्चा

ग्वालियर: 15 घंटे की मशक्कत के बाद भी नहीं बचाया जा सका बोरवेल में फंसा दो साल का बच्चा

15 घंटे तक चला रेस्क्यू अभियान।

खास बातें

  • 200 फीट गहरे बोरवेल में गिरा था दो साल का बच्चा।
  • बोरवेल में 25-30 फीट की गहराई पर फंसा था बच्चा।
  • 15 घंटे बाद बाहर निकाला गया बच्चा, डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
ग्वालियर:

ग्वालियर में 200 फीट गहरे बोरवेल में फंसे दो साल के बच्चे को 15 घंटों तक चले रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद भी बचाया नहीं जा सका। उस बचाने की कोशिश में लगे बचाव दल को सीसीटीवी कैमरे में बच्चे के पास एक सांप दिखा था।
 
मृतक बच्चा ग्वालियर के खेरिया गांव का रहने वाला अभय पचौरी है। घटना उस वक्त हुई जब वह अपनी दादी के साथ अपने खेत से वापस आ रहा था, अचानक उसका पैर फिसला और वह बोरवेल में गिर गया। अधिकारियों के मुताबिक बच्चा बोरवेल में 25-30 फीट की गहराई पर फंसा था।

बच्चे के नीचे गिरते ही उसकी दादी ने आसपास के लोगों को घटना की सूचना दी, स्थानीय लोगों ने बच्चे को निकालने की कोशिश की, इस बीच पुलिस को सूचना दे दी गई। बच्चे के गिरने की जानकारी मिलते ही पुलिस और प्रशासन हरकत में आए और बॉर्डर सिक्यूरिटी फोर्स (बीएसएफ) के जवानों को रेस्क्यू अभियान की पूरी जिम्मेदारी दी गई।
 
बचाव दल ने बोरवेल के पास ही दूसरा गड्ढा खोदा और करीब 15 घंटे बाद बच्चे को बाहर निकाला गया। उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

इससे पहले मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट के माध्यम से बच्चे के सुरक्षित बाहर निकलने की प्रार्थना की थी। उन्होंने लिखा, "बच्चे को निकालने के लिए बचाव दल द्वारा हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। डॉक्टर मौके पर मौजूद हैं। मैं अभय की लंबी उम्र की प्रार्थना करता हूं।"

 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com