देहरादून : पुलिसकर्मी की बारात में चली गोली, एक की मौत, दूल्हा गिरफ्तार

देहरादून : पुलिसकर्मी की बारात में चली गोली, एक की मौत, दूल्हा गिरफ्तार

सांकेतिक तस्वीर

देहरादून:

शादी के मौके पर खुशी का इजहार करने के लिए फायरिंग करना लगता है आजकल आम बात हो गई है। इसी चक़्कर में एक और युवक की मौत हो गई। मामला देहरादून का है, जहां एक सिपाही की शादी में दूसरे सिपाही ने अपनी सर्विस रिवॉल्वर से ताबड़तोड़ गोलियां दागकर एक घर का चिराग हमेशा के लिए बुझा दिया।

बारात नैनीताल जिले में रामनगर से देहरादून के सुद्धोवाला में आई थी। यहां फ़िल्मी धुनों पर नाचते-गाते बाराती, खुशियां मनाते घर के लोग, सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा था कि अचानक एक चीख ने खुशियों भरे माहौल का मिजाज बिगाड़ दिया। लोगों को हकीकत तब पता चली जब उन्हें खून से लथपथ दूल्हे का भाई जमीन पर पड़ा दिखाई दिया, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी।

मामला क्योंकि पुलिस विभाग से जुड़ा था तो पहले तो रफा-दफा करने की कोशिश की गई, लेकिन मामला बढ़ा तो पुलिस ने न सिर्फ दूल्हे को गिरफ्तार कर लिया, बल्कि फायरिंग के आरोपी सिपाही को भी गिरफ्तार कर उसकी सरकारी पिस्टल जब्त कर ली गई।

दरअसल रामनगर निवासी मोनू की शादी देहरादून के सुद्धोवाला में तय हुई थी। आजकल मोनू देहरादून के ही प्रेमनगर थाने में बतौर सिपाही तैनात है। मोनू की बारात शुक्रवार देर शाम तय समय पर सुद्धोवाला पहुंची, जंहा फ़िल्मी धुनों पर न केवल बाराती नाच-गा रहे थे, बल्कि कुछ ही देर में फेरे शुरू होने वाले थे।

बारात में देहरादून के कई पुलिस वाले भी शामिल थे, जिनमें से एक अजित गुर्जर ने अचानक अपनी सर्विस रिवॉल्वर से ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। एक के बाद एक कई फायरिंग से जहां कई लोग खासे प्रसन्न थे, वहीं एक युवक को जमीन पर गिरा देख अफरा-तफरी मच गई।

लोगों ने जब उस युवक को उठाकर देखा तो सबके चेहरों के रंग उड़ गए, क्योंकि कुछ देर पहले चली गोलियों में से एक गोली उस युवक की जान ले चुकी थी। फायरिंग में मरने वाला युवक दूल्हे का भाई था, जिसके बाद शादी की रस्मों को रोककर पहले मौके पर ही डॉक़्टर को बुलाया गया। बाद में लहूलुहान युवक को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक फायरिंग करने वाला सिपाही वहां से गायब हो चुका था।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस मामले पर लीपापोती की भी कोशिश की गई, लेकिन मामला उछलने के बाद गोलीबारी के आरोपी एसओ सिपाही अजित गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने उस रिवॉल्वर को भी अपने कब्जे  है, जिससे अजित ने फायरिंग की थी। फायरिंग का ये मामला इसलिए भी गंभीर हो गया, क्योंकि सिपाही ने जिस पिस्टल से गोली चलाई वो सरकारी पिस्टल थी।

देहरादून पुलिस सारे मामले पर लीपापोती में जुटी रही, लेकिन मामला आला अधिकारियों के संज्ञान में आने के बाद पुलिस ने न केवल फायरिंग के आरोपी सिपाही को गिरफ्तार कर उसकी सरकारी पिस्टल को जब्त कर लिया, बल्कि दूल्हे को भी गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने इन दोनों को ही  निलम्बित कर इनके खिलाफ विभागीय जांच शुरू कर दी है।