NDTV Khabar

वाराणसी में गंगा के घाट डूबे पानी में, मकानों की छतों पर हो रहे हैं अंतिम संस्कार

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वाराणसी में गंगा के घाट डूबे पानी में, मकानों की छतों पर हो रहे हैं अंतिम संस्कार
वाराणसी:

देश के कई हिस्सों में बारिश का प्रकोप बरस रहा है, और इसका असर उत्तर प्रदेश पर भी इस कदर पड़ा है कि वाराणसी में गंगा के तट पर होने वाले अंतिम संस्कार भी रोक देने पड़े हैं. यह जानकारी एक अधिकारी ने मंगलवार को दी.

उत्तरी उत्तर प्रदेश तथा उससे सटे बिहार राज्य में हाल के दिनों में एक लाख से ज़्यादा लोगों को अपने इलाके छोड़कर जाना पड़ा है, क्योंकि इन इलाकों में नदियां अपने किनारों को तोड़कर बहने लगी हैं. दोनों राज्यों में अब तक बाढ़ के चलते लगभग 30 जानें भी जा चुकी हैं.

उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता शैलेंद्र पांडे ने बताया, वाराणसी में गंगा के घाटों के पानी के नीचे पहुंच जाने के कारण अब अंतिम संस्कार आसपास के घरों की छतों पर करने पड़ रहे हैं.

शैलेंद्र पांडे ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया, "चूंकि घाट अंत्येष्टि के लिए उपलब्ध नहीं हैं, इसलिए घाटों के आसपास की हवेलियों व अन्य पुराने मकानों की छतों पर अंतिम संस्कार किए जा रहे हैं, हालांकि इसमें काफी मुश्किलें आ रही हैं..."

 
भारतीय मान्यताओं के हिसाब से वाराणसी को देश के सर्वाधिक पवित्र स्थानों में शुमार किया जाता है, और हज़ारों लोग यहां अपने सगे-संबंधियों का अंतिम संस्कार करने पहुंचते हैं, और उसके बाद अस्थियों को गंगा में प्रवाहित किया जाता है.

टिप्पणियां

वाराणसी के अलावा अंत्येष्टियां इलाहाबाद में भी प्रभावित हुई हैं. एक अधिकारी ने बताया, चिताओं को भीड़भाड़ वाली गलियों में जलाना पड़ रहा है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement