Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

सावरकर के खिलाफ बोले मैग्सेसे पुरस्कार विजेता संदीप पांडे, मामला दर्ज

हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने दावा किया है कि संदीप पांडे ने रविवार को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) विरोधी प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए टिप्पणी की थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सावरकर के खिलाफ बोले मैग्सेसे पुरस्कार विजेता संदीप पांडे, मामला दर्ज

हिंदू नेता सावरकर पर कथित तौर पर टिप्पणी करने के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है

खास बातें

  1. हिंदुत्व विचारक सावरकर के खिलाफ अनुचित टिप्पणी को लेकर मामला दर्ज किया
  2. हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने शिकायत दर्ज कराई है
  3. संदीप पांडे ने AMU में CAA विरोधी प्रदर्शनकारियों को किया था संबोधित
अलीगढ़:

मैग्सेसे पुरस्कार विजेता मानव अधिकार कार्यकर्ता संदीप पांडेय के खिलाफ कथित तौर पर हिंदुत्व विचारक सावरकर के खिलाफ अनुचित टिप्पणी को लेकर मामला दर्ज किया गया है. हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने दावा किया है कि संदीप पांडे ने रविवार को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) विरोधी प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए टिप्पणी की थी. बता दें, प्राथमिकी सिविल लाइंस पुलिस थाने में दर्ज कराई गई है. इसमें भारतीय दंड संहिता की धारा 153 ए (दंगों के इरादे से उकसावे) और 505 (1) बी (जनता या समुदाय को अपराध करने के लिए उकसाना) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

संदीप पांडेय ने कहा कि देश की गंगा-जमुनी संस्कृति के विपरीत समाज को हिंदू और मुसलमानों में बांटने वाले लोग वही हैं, जिन्होंने ब्रिटिश राज के दौरान भी यही काम किया था और इसके बदले ब्रिटिश हुकूमत से वजीफा पाते थे. ये 'फूट डालो और राज करो' की अंग्रेजों की नीति पर चलने वाले लोग हैं. उन्होंने दावा किया कि नकाबपोश गुंडे, जिसे कुछ दक्षिणपंथी संगठनों ने किराए पर लिया था. उन्होंने JNU, Jamia और AMU के शांतिपूर्ण प्रदर्शन को बाधित किया और वे ही इन संस्थानों में हिंसा के असली गुनहगार हैं.


योगी आदित्यनाथ की सीएए प्रदर्शनकारियों को चेतावनी, 'आज़ादी' के नारे लगाना देशद्रोह माना जाएगा

पांडे ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार ने राज्य में सभी गलत कार्यो के लिए उन्हें निशाना बनाने की आदत बना ली है. उन्होंने कहा, 'मुझे अब निशाना बनाया जा रहा है. सरकार ने अनुच्छेद 370 को रद्द करने के बाद मुझे कश्मीरी लोगों के लिए कैंडल मार्च निकालने की अनुमति तक नहीं दी. मुझे नजरबंद रखा गया था. इस माह की शुरुआत में मुझे अयोध्या जाने से रोका गया. यह लोकतांत्रिक ढंग से, शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन पर भी दबाव बनाने की रणनीति है.'

टिप्पणियां

VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम: पुलिस के पहरे के बीच उपजी प्रतिरोध की नज्में



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... जन्म के बाद डॉक्टर ने मारा तो गुस्से से देखने लगी बच्ची, सोशल मीडिया पर हुई Memes की बरसात

Advertisement