गौतमबुद्ध नगर की सीमाएं की जा रही हैं सील, पैरामिलिट्री फोर्स का सड़क पर पैदल मार्च

नोएडा में लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने के लिए पैरामिलिट्री फोर्स ने सड़क पर पैदल मार्च किया. वहीं लोगो को 14 दिन के लिए क्वारंटाइन में रखने के लिए जेपी स्पोर्ट्स सिटी परिसर को कब्जे में लिया.

गौतमबुद्ध नगर की सीमाएं की जा रही हैं सील, पैरामिलिट्री फोर्स का सड़क पर पैदल मार्च

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • गौतमबुद्ध नगर में पैरामिलिट्री फोर्स को उतारा गया
  • लॉक डाउन का सख्ती से पालन करने का आदेश
  • घर से बाहर निकलने पर धारा 188 के तहत कार्रवाही की जाएगी
गौतमबुद्ध नगर:

केंद्र सरकार के 21 दिन के लॉक डाउन की घोषणा के बाद प्रवासी मजदूरों का अपने घरो की ओर पलायन बढ़ता देख सभी राज्यों की सीमाएं सील करने का निर्देश दिया है. कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच केंद्र ने सभी राज्यों से यह भी कहा कि अगर कोई भी लॉक डाउन तोड़ता है तो उसे 14 दिन के लिए क्वारंटाइन में रखा जाए. इसके बाद से गौतमबुद्ध नगर ने इसका कड़ाई से पालन करना शुरू कर दिया है. नोएडा में लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने के लिए पैरामिलिट्री फोर्स ने सड़क पर पैदल मार्च किया. वहीं लोगो को 14 दिन के लिए क्वारंटाइन में रखने के लिए जेपी स्पोर्ट्स सिटी परिसर को कब्जे में लिया.  

नोएडा में लॉकडाउन को सख्ती से पालन करने के लिए सड़को पर पैदल मार्च कर रहे पैरामिलिट्री फोर्स के जवान ने अनाउंसमेंट किया कि कोई भी व्यक्ति रोड़ पर अनावश्यक रूप से टहलता नजर नहीं आएगा. अगर कोई ऐसा करता है तो उसके खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाही की जाएगी. कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुए जिले की सीमाएं सील की जा रही हैं. 

लॉकडाउन: यूपी में किसान समय पर ही काट पाएंगे अपनी फसल, हार्वेस्टर को लेनी होगी प्रशासन से मंजूरी

बता दें, गौतमबुद्ध नगर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है. जिला प्रशासन ने पीड़ितों के इलाज के साथ ही संदिग्ध मरीजों को क्वांटाइन करने के सभी बंदोबस्त कर लिए हैं, लेकिन जिस तरह से बीमारी अपने पांव पसार रही है, उसके मद्देनजर प्रशासन तैयारियां करने में जुटा है. डीएम ने बताया कि इन्हीं चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए उन्होंने अपने विशेषाधिकार का इस्तेमाल करते हुए मरीजों के उपचार, भोजन और रहने के लिए यमुना एक्सप्रेस वे स्थित जेपीएसआई स्पोर्ट्स सिटी को उसके भवन और अन्य संसाधनों के साथ अग्रिम आदेश तक उपयोग में लिया है. 

देश में Coronavirus संक्रमित मरीजों की संख्या 1,000 पार, अब तक 27 लोगों की मौत

डीएम ने बताया कि इस परिसर में कोरोना के संदिग्ध मरीजों के रहने, भोजन और उपचार की सारी व्यवस्था करने की जिम्मेदारी यमुना प्राधिकरण के ओएसडी नवनीत गोयल और तहसीलदार हर्षवर्द्धन को दी गई है. उन्होंने बताया कि ये अधिकारी जेपीएसआई स्पोर्ट्स सिटी के बिग्रेडियर (रिटायर्ड) सुधीर लांबा और वाइस प्रेसिडेंट से समन्वय स्थापित कर तत्काल सभी व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए गए हैं. पीएम मोदी ने लोगो से अपील कि वे अपने घर से बाहर बिल्कुल न निकलें, क्योंकि इस जानलेवा वायरस के संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने का यही एक मात्र रास्ता है.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com