Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Asian Games: तेजिंदर पाल सिंह ने गोलाफेंक से दिलाया भारत को ऐतिहासिक सातवां स्वर्ण

Asian Games: तेजिंदर पाल सिंह ने गोलाफेंक से दिलाया भारत को ऐतिहासिक सातवां स्वर्ण

Asian Games 2018: गोलाफेंक में तेजिंदर सिंह ने स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया है.

खास बातें

  • दीपिका पल्लीकल, जोशना चिनप्पा, सौरभ घोषाल को कांस्य
  • साइना और सिंधु बैडमिंडन के सिंगल्‍स वर्ग के क्‍वार्टर फाइनल में पहुंची
  • हिमा दास और निर्मला श्यारोण 400 मी. के फाइनल में
जकार्ता:

एशियन गेम्‍स 2018 के सातवें दिन शनिवार को भारतीय एथलीट तेजिंदर पाल सिंह (Asian Games 2018, Athletics: Tejinder Pal Singh Toor wins gold) ने इतिहास रचते हुए गोला फेंक में भारत को सातवां स्वर्ण पदक दिला दिया, जो कुल मिलाकर भारत का 29वां पदक रहा. साथ ही तेजिंदर पाल सिंह (Tejinder Pal Singh Toor sets new national record) ने राष्ट्रीय सहित एशियाई खेलों में नया रिकॉर्ड बना दिया. तेजिंदर के अलावा सातवें दिन दिन के बाकी तीन कांस्य पदक स्कवॉश के जरिए हासिल हुए स्‍क्‍वॉश के महिला वर्ग के सेमीफाइनल में दीपिका पल्‍लीकल और जोशना चिनप्‍पा अपने मैच हार गईं, तो पुरुष वर्ग में भी सौरव घोषाल को भी अंतिम चार के मुकाबले में हार कर कांस्य पदक पर ही संतोष करना पड़ा. दीपिका पल्‍लीकल को मलेशिया की निकोल डेविड से हार का सामना करना पड़ा है जबकि जोशना को भारतीय मूल की सिवसानगरी सु्ब्रमण्‍यम ने हराया. वहीं सौरव घोषाल को हांगकांग के मिंग चुन यू के हाथों 2-3 से हार का मुंह देखना पड़ा. 

एथलेटिक्‍स में उम्‍मीदें बंधाते हुए भारत के मोहम्मद अनस और राजीव अरोकिया ने एथलेटिक्‍स में पुरुषों की 400 मीटर स्पर्धा के सेमीफाइनल में जगह बना ली है. अनस 45.63 सेकेंड में दूरी तय करते हुए हीट में पहले स्थान पर रहे. पुरुषों की हाईजंप इवेंट के क्‍वालिफिकेशन राउंड में चेतन बालासुब्रमण्‍यम ने 2.15 की ऊंचाई नापी.चेतन ने पांचवें स्‍थान पर रहते हुए हाईजंप इवेंट के फाइनल के लिए क्‍वालिफाई कर लिया है. एथलेटिक्स के महिला वर्ग में हिमा दास और निर्मला श्योराण ने 400 मी. दौड़ के फाइनल मुकाबले के लिए क्वालीफाई कर लिया है. फाइनल रेस रविवार को आयोजित होगी.

वहीं, लंबी कूद में भी श्रीशंकर ने फाइनल के लिए क्वालीफाई कर लिया है. श्रीशंकर चौथे स्थान पर रहे. तीरंदाजी (आर्चरी) के रिकर्व वर्ग में भारतीय महिला टीम को चीनी ताइपे से 2-6 से हारकर बाहर होना पड़ा है. अंकिता भरत, प्रोमिला दाईमेरी, दीपिका कुमारी की भारतीय टीम ने प्री-क्वार्टर फाइनल में मंगोलिया को 5-3 से मात देकर अंतिम-8 में प्रवेश किया था लेकिन चीनी ताइपे से मिली हार के साथ टीम का अभियान समाप्‍त हो गया.

वहीं, बैडमिंटन के महिला वर्ग के सिंगल्‍स मुकाबले में साइना नेहवाल और पीवी सिंधु क्‍वार्टर फाइनल में पहुंच गई हैं. साइना ने इंडोनेशिया की फितरियानी को  21-6, 21-14 से और पीवी सिंधु ने ग्रेगोरिया मारिस्‍का को 21-12, 21-15 से हराया, तो बैडमिंटन की ही महिला डबल्स कैटेगिरी में अश्विनी पोनप्पा और एन. सिक्की रेड्डी की जोड़ी को क्वार्टर फाइनल में हार का सामना करना पड़ा है.

पुरुष डबल्स कैटेगिरी में भी भारत के लिए निराशा हाथ लगी और मनु अत्री और सुमीथ रेड्डी की जोड़ी प्रीक्वार्टरफाइनल में हार कर बाहर हो गए. इसके अलावा महिला मुक्केबाजी में भारत की मुक्केबाज पवित्रा ने सातवें दिन शनिवार को महिलाओं की 60 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के मुकाबले में पाकिस्तान की परवीन रुखसाना को तकनीकी आधार पर मात देते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है. इसी बीच अच्छी खबर ब्रिज (ताश) इवेंट से है. पुरुष वर्ग की टीम और मिक्स्ड कैटेगिरी में दो पदक पक्के हो गए हैं. मिक्स्ड कैटेगिरी के लिए स्वर्ण पदक जीतने का अच्छा मौका है. सेमीफाइनल मुकाबले रविवार को खेले जाएंगे. महिला हॉकी में भी भारतीय बालाओं ने अपने ग्रुप राउंड के तीसरे मैच में दक्षिण कोरिया को 4-1 से हरा दिया.  (पदक तालिका)

स्‍क्‍वॉश में कांस्‍य से आगे नहीं बढ़ पाईं जोशना, दीपिका
भारत की स्क्वॉश खिलाड़ी जोशना चिनप्पा ने शनिवार को कांस्य पदक अपनी झोली में डाला है. महिला एकल वर्ग के सेमीफाइनल में मलेशिया की सिवासांगरी सुब्रामण्यम नेचिनप्पा को  3-1 से मात देकर कांस्य पदक तक सीमित कर दिया.

चिनप्पा अगर यह मैच जीत जातीं तो फाइनल में पहुंचते ही वह कम से कम रजत पदक की दावेदार बन जातीं. फाइनल में सिवासांगरी को हमवतन निकोल एन डेविड से भिड़ना होगा. इस तरह इस स्पर्धा का स्वर्ण और रजत मलेशिया की झोली में जाना तय है. निकोल ने भारत की ही दीपिका पल्लीकल को मात देकर फाइनल में प्रवेश किया. दीपिका का अभियान भी कांस्‍य पदक पर ही रुक गया.

स्कवॉश के पुरुष वर्ग में को सातवें दिन एकल वर्ग के एक कड़े सेमीफाइनल मुकाबले में हार का सामना करते हुए कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा. शनिवार को खेले गए रोमांचक मैच में हांगकांग के चुंग मिंग एयू ने 0-2 से पिछड़ने के बाद शानदार वापसी की और मैच को 3-2 से अपने नाम किया. घोषाल ने मैच की दमदार शुरुआत की और आसानी से पहला सेट को अपने नाम किया। हांगकांग के खिलाड़ी दूसरे सेट में भी घोषाल को कड़ी टक्कर नहीं दे पाए और पांच सेट के मैच 0-2 से पीछे हो गए. इसके बाद, मैच ने रोमांचक मोड़ लिया और चुंग मिंग एयू ने शानदार वापसी करते हुए तीसरा सेट अपने नाम किया. हांगकांग के खिलाड़ी ने आगे भी दमदार खेल दिखाया और अगले दो सेट में जीत दर्ज करते हुए फाइनल में जगह बना ली. 

एथलेटिक्स

एथलेटिक्स में सातवें दिन की सबसे बड़ी ऐतिहासिक उपलब्धि गोलाफेंक में तेजिंदर पाल सिंह की रही. तेजिंदर ने नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाने के साथ ही एशियाई खेलों में भी रिकॉर्ड  बना दिया. तेजिंदर ने 20.75 मीटर के साथ भारत का परचम लहराया. भारत का इस एशियाई खेलों में यह सातवां स्वर्ण पदक है. 23 साल के तेजिंदर ने पहले प्रयास में 19.96, दूसरे प्रयास में 19.15 मीटर का थ्रो किया. हालांकि तीसरा प्रयास उनका फाउल रहा. लेकिन उन्होंने चौथे प्रयास में 19.96 और पांचवें प्रयास में 20.75 का रिकॉर्ड थ्रो किया. भारतीय नौ सेना में काम करने वाले पंजाब के तेजिंदर पाल ने पिछले साल एशियाई चैंपियनशिप में रजत पदक जीता था. वह गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में हालांकि निराशाजनक तौर पर आठवें स्थान पर रहे थे. एशियाई खेलों के इतिहास में पुरुषों के शॉट पुट में भारत का यह नौवां स्वर्ण पदक है. इससे पहले, मदन लाल ने 1951 में, परदुमन सिंह ने 1954 और 1958 में, जोगिन्दर सिंह ने 1966 और 1970 में, बहादुर सिंह चौहान ने 1978 और 1982 में तथा बहादुर सिंह सागू ने 2002 के एशियाई खेलों के शॉट पुट स्पर्धा में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीता था.

हिमा दास और निर्मला ने भी शनिवार को शानदार प्रदर्शन करते हुए महिलाओं की 400 मीटर स्पर्धा के फाइनल में जगह बना ली है. जीबीके मेन स्टेडियम में आयोजित क्वालीफिकेशन रेस में 2018 की वर्ल्ड जूनियर चैंपियन हिमा ने 51.00 सेकेंड का समय निकालते हुए 18 धाविकाओं के बीच पहला स्थान हासिल किया जबकि निर्मला ने 54.09 सेकेंड के साथ चौथा स्थान प्राप्त किया. इससे पहले महिलाओं की हैमर-थ्रो प्रतिस्पर्धा में सरिता सिंह नौ प्रतियोगियों में छठे स्थान पर रहीं. उनकी सर्वश्रेष्ठ कोशिश 62.03 मी. के रूप में रही. हालांकि, यह उनके करियर के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से पाीछे रह गया. सरिता सिंह का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 62.25 मी. है. इस स्पर्धा में चीन की लौ ना ने 71.42 मीटर की दूरी के साथ स्वर्ण अपने नाम किया.चीन की ही वांग झेंग ने 70.86 मीटर की दूरी के साथ रजत पदक जबकि जापान की कात्सुयामा हितोमी ने 62.95 मीटर की दूरी के साथ कांस्य पदक जीता.

वहीं, महिला धावक दुती चंद ने 100 मीटर स्पर्धा के सेमीफाइनल में जगह बना ली है. दुती ने शनिवार को जीबीके मेन स्टेडियम में हीट-2 में लेन नंबर-4 से शानदार शुरुआत की और 11.38 सेकेंड का समय निकालते हुए पहला स्थान हासिल किया. कजाकिस्तान की आल्गा साफरोनोवा दूसरे और उज्बेकिस्तान की निगिना शारिपोवा तीसरे पायादन पर रही. साफरोनोवा ने 11.46 सेकेंड में रेस पूरी की जबकि उज्बेकिस्तान की खिलाड़ी ने 11.59 सेकेंड का समय निकालते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश किया.

इससे पहले भारत के धावक मोहम्मद अनस ने एथलेटिक्‍स में पुरुषों की 400 मीटर स्पर्धा के सेमीफाइनल में जगह बना ली. अनस ने 45.63 सेकेंड में दूरी तय करते हुए हीट में पहले स्थान पर कब्जा जमाया. पुरुषों की हाईजंप इवेंट के क्‍वालिफिकेशन राउंड में चेतन बालासुब्रमण्‍यम ने 2.15 की ऊंचाई नापते हुए हाईजंप इवेंट के फाइनल के लिए क्‍वालिफाई कर लिया. वे ग्रुप बी में पांचवें स्‍थान पर रहे.भारत के एक और पुरुष धावक राजीव अरोकिया ने भी 400 मीटर स्पर्धा के सेमीफाइनल में जगह बना ली है. राजीव ने हीट-4 में 46.82 सेकेंड का समय निकालते हुए दूसरा स्थान हासिल किया.उनकी हीट में पहले स्थान पर कतर के हसन अबडाएलेह रहे जिन्होंने 46.28 सेकेंड का समय निकाला.

 

बैडमिंटन: पुरुष डबल्स में भारतीय चुनौती खत्म

पुरुष युगल जोड़ी मनु अत्री और बी. सुमित रेड्डी की जोड़ी को अंतिम-16 दौर में शनिवार को नजदीकी हार का सामना करना पड़ा. चीन की जुनहुई ली और युचेन लियु की जोड़ी ने प्री-क्वार्टर फाइनल के इस मुकाबले में मनु और रेड्डी की जोड़ी 2-1 से मात दी. चीनी जोड़ी ने भारतीय जोड़ी को 21-13, 17-21, 25-23 से हराया. इस हार के साथ ही पुरुष युगल में भारतीय चुनौती समाप्त हो गई.

मनु-रेड्डी की जोड़ी ने पहला गेम 13-21 से हारने के बाद दूसरे गेम में जोरदार वापसी और 21-17 से अपने नाम कर लिया. तीसरे और निर्णायक गेम में दोनों टीमें एक समय 23-23 से बराबरी पर थी, लेकिन फिर चीन की जोड़ी ने दो अंक लेकर 25-23 से गेम और मैच समाप्त कर दिया.

क्‍वार्टर फाइनल में पहुंचकर साइना ने जगाई उम्‍मीद

लंदन ओलिंपिक की कांस्य पदक विजेता भारत की स्‍टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल ने महिला सिंगल्‍स वर्ग के अंतिम आठ में स्‍थान बना लिया है. सायना ने प्री क्वार्टर फाइनल में मेजबान देश इंडोनेशिया की फितरानी फितरानी को 21-6, 21-14 से शिकस्‍त दी. साइना को यह मैच जीतने में 31 मिनट का समय लगा, इस दौरान वह अपनी विपक्षी पर पूरी तरह से हावी रहीं. फितरानी के पास साइना के बेहतरीन शॉट्स का कोई जबाव नहीं था. फितरानी को इस मैच में अपनी गलतियों का भी खामियाजा भुगतना पड़ा.पीवी सिंधु ने भी क्‍वार्टर फाइनल में जगह बना ली है, उन्‍होंने ग्रेगोरिया मारिस्‍का को 21-12, 21-15 से हराया. महिला डबल्‍स वर्ग में भारत की अश्विनी पोनप्‍पा और एन सिक्‍की रेड्डी की जोड़ी मुकाबले से बाहर हो गई है. इन दोनों खिलाड़ियों को चीन की क्वि चेन और याई जिया की जोड़ी ने  21-11, 24-22 से हराया.

हॉकी: महिलाओं की तीसरी जीत

गुरजीत कौर के दो गोलों से भारतीय महिला हॉकी टीम ने शनिवार को दक्षिण कोरिया को 4-1 से हरा दिया. भारतीय टीम की यह लगातार तीसरी जीत है. भारत के लिए ग्रुप-बी के इस मैच में नवनीत कौर ने 16वें, गुरजीत कौर ने 54वें और 55वें जबकि वंदना कटारिया ने 56वें मिनट में गोल किए. वहीं, यूरिम ने 20वें मिनट में दक्षिण कोरिया के लिए एकमात्र गोल किया. यह गोल पेनल्टी स्ट्रोक पर हुआ. तीसरे क्वार्टर में दोनों टीमों में से कोई भी टीम गोल नहीं कर पाई. लेकिन चौथे और आखिरी क्वार्टर में भारत ने दो पेनाल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील कर मैच अपने पक्ष में कर लिया. भारत ने इसके बाद कुछ मिनट बाद ही एक और मैदानी गोल कर मैच 4-1 से अपने नाम कर लिया. 

ब्रिज (ताश): दोनों टीमें सेमीफाइनल में पहुंचीं, पदक सुनिश्चित

भारत की मिश्रित और पुरुष टीम ने 18वें एशियाई खेलों के सातवें दिन शनिवार को ब्रिज (ताश) स्पर्धा के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है. इसके साथ ही भारत के दो और कांस्य पदक पक्के हो गए हैं.  किरण नादर, सत्यनारायाण बाजीराजु, हेमा देवरा, गोपीनाथ मन्ना, हिमानी खंडेलवाल और राजीव खंडेलवाल की मिश्रित टीम ने अपने राउंड-रोबिन मैच में पहला स्थान हासिल किया और सेमीफाइनल में अपना स्थान पक्का लिया. सेमीफाइनल में भारतीय मिश्रित टीम का सामना थाईलैंड से होगा. वहीं, जग्गी शिवदासनी, राजेश्वर तिवारी, सुमित मुखर्जी, देबाब्रता मजुमदार, राजु तोलानी और अजय खाड़े की पुरुष टीम ने राउंड रोबिन मुकाबले में चौथे स्थान पर रहकर अंतिम-4 में अपनी जगह पक्की की.सेमीफाइनल में भारतीय पुरुष टीम का मुकाबला सिंगापुर से होगा. ब्रिज को पहली बार एशियाई खेलों में शामिल किया गया है और भारत इसमें तेजी से पदक की ओर बढ़ रहा है. 

शूटिंग में अनीश फाइनल के लिए क्‍वालिफाई नहीं कर पाए

शूटिंग में भारत के लिए निराशाजनक खबर है. राष्‍ट्रमंडल खेलों में स्‍वर्ण पदक जीतने वाले युवा अनीश भानवाला पुरुष वर्ग की 25मीटर रैपिड फायर पिस्‍टल इवेंट में फाइनल के लिए क्‍वालिफाई नहीं करि पाए. 16 वर्ष के अनीश को भारत के लिए पदक की उम्‍मीद माना जा रहा था. वे क्‍वालिफिकेशन राउंड में नौवें स्‍थान पर रहे. एक अन्‍य शूटर शिवम शुक्‍ला भी 11वें स्‍थान पर रहकर फाइनल राउंड में जगह नहीं  बना पाए.

केनाइंग में भारतीय महिलाओं ने किया निराश
मुकाबले के सातवें दिन शनिवार को भारत की महिला केनाइंग (पाल नौकायन) टीम 200 मीटर स्पर्धा की हीट-2 में निराशाजनक प्रदर्शन कर पांचवें स्थान पर रही. भारतीय टीम ने एक मिनट 0.452 सेकेंड का समय निकाला. उसकी हीट में चीन पहले, इंडोनेशिया दूसरे और कोरिया तीसरे स्थान पर रही. इस स्पर्धा में कुल दो हीट में 12 टीमों को बांटा गया था जिसमें से पहले दौर में हर हीट में शीर्ष-3 टीम सीधे सेमीफाइनल में पहुंचेगी. इस लिहाज से भारतीय टीम रेपचेज में अच्छा प्रदर्शन कर अगले दौर में जगह बना सकती हैं.

वालीबॉल में भारतीय पुरुष टीम ने मालदीव को हराया
भारतीय पुरुष वॉलीबाल टीम ने यहां जारी 18वें एशियाई खेलों के सातवें दिन शनिवार को पूल-एफ के मैच में मालदीव को 3-0 से हरा दिया. भारतीय टीम ने पहला सेट 18 मिनट में 25-12 से जीता. वहीं दूसरा सेट 25-21 से जीतने में उसे 23 मिनट का समय लगा. तीसरे सेट में भारतीय टीम ने 25-17 से जीत दर्ज की. यह भारत की तीन मैचों में दूसरी जीत है. भारत अपने ग्रुप में चार टीमों की तालिका में छह अंकों के साथ दूसरे स्थान पर है.

महिला बॉक्सिंग में पवित्रा ने पाकिस्तान की परवीन को दी मात

भारत की महिला बॉक्‍सर पवित्रा ने 60 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के पहले दौर के मुकाबले में पाकिस्तान की परवीन रुखसाना को तकनीकी आधार पर मात देते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई. पवित्रा शुरू से ही पाकिस्तानी मुक्केबाज पर हावी थीं और इसी कारण रैफरी ने बीच में मुकाबला रोक पवित्रा को विजेता घोषित किया.पवित्रा ने पहले दौर में शुरू से आक्रामक खेल खेला. इसी कारण परवीन ने अपने डिफेंस को मजबूत करने की कोशिश की, लेकिन मौका पाते ही पवित्रा ने सटीक लैफ्ट जैब और हुक के जरिए उन्हें कमजोर किया. दूसरे दौर में पवित्रा हावी थीं और इसी वजह से रेफरी ने बीच में मुकाबला रोक कर पवित्रा को विजयी घोषित कर दिया.

VIDEO: अभी तक सुशील कुमार सबसे बड़ी निराशा साबित हुए हैं.

वेटलिफ्टर विकास ठाकुर ने किया निराश, आठवें स्‍थान पर रहे
भारतीय वेटलिफ्टर विकास ठाकुर पुरुषों की 94 किलो भारवर्ग इवेंट में निराशाजनक प्रदर्शन करते हुए आठवें स्‍थान पर रहे. मुकाबले में 10 प्रतिभागियों ने भाग लिया. विकास ठाकुर ने निराश किया और स्नैच में तीन प्रयासों में केवल एक बार ही 145 किलो का भार उठा पाए. क्लीन एंड जर्क में भी वह कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए. विकास ने पहले प्रयास में 190 किलो का भार उठाया लेकिन अगले दो प्रयासों में वह 197 किलो का भार उठाने में कामयाब नहीं हो पाए. स्वर्ण पदक ईरान के शोहरब मोरादी जबकि रजत पदक कतर के फारेस इल्बाख और कांस्य पदक थाईलैंड के सरत सुमप्रदित के नाम रहा.