Commonwealth Games 2018: साईक्लिंग में भारत के लिए निराशाजनक रहा दूसरा दिन

Commonwealth Games 2018: साईक्लिंग में भारत के लिए निराशाजनक रहा दूसरा दिन

साईकिलिंग की प्रतिकात्मक फोटो

खास बातें

  • साहिल, रंजीत व सानूराज सानंदराज क्वालीफाइंग के पहले दौर से ही बाहर
  • जीत सिंह भी अगले दौर में प्रवेश करने में असफल
  • देबोराह हेराल्ड और एलीना रीजे क्वार्टरफाइनल में हारीं
गोल्ड कोस्ट:

भारतीय साइकिल चालकों के लिए ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों का दूसरा दिन निराशाजनक रहा. भारत का कोई खिलाड़ी मेडल राउंड में पहुंच नहीं पाया. साहिल कुमार, रंजीत सिंह और सानूराज सानंदराज पुरुष साईक्लिंग के केरिन स्पर्धा की पहली हीट में शुक्रवार को अगले दौर के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाए. वह अपनी हीट में चौथे, पांचवे और चौथे पायदान पर रहे.
 

नियम के अनुसार, हर हीट में पहले दो पायदान पर रहने वाले साईक्लिस्ट अगले दौर के लिए क्वालीफाई करते हैं और अन्य चालक पहले दौर के रेपचेज में भाग लेंगे. रेपचेज में पहले पायदान पर रहने वाले खिलाड़ी दूसरे दौर में प्रवेश करेंगे. साहिल कुमार, रंजीत सिंह और सानूराज सानंदराज रेपचेज में भी जीत दर्ज नहीं कर पाए.

 

वहीं, पुरुषों की 4,000 मीटर एकल स्पर्धा में मंजीत सिंह भी अगले दौर में प्रवेश करने में असफल रहे. उन्होंने चार मिनट 39.744 सेकेंड का समय लिया और 24वें स्थान पर रहे। इस स्पर्धा में 27 साइतिलिस्टों ने हिस्सा लिया.
 


इससे पहले, देबोराह हेराल्ड और एलीना रीजे महिलाओं की स्प्रिंट स्पर्धा के क्वार्टरफाइनल में हार गईं. देबोराह हीट-4 में ऑस्ट्रेलिया की कार्ले मैकुलोक से प्रतिस्पर्धा कर रही थीं जबकि एलीना हीट-1 में आस्ट्रेलिया की स्टेफनी मोटरेन से प्रतिस्पर्धा कर रही थीं.

मैकुलोक ने 200 मीटर के लिए 11.911 सेकेंड का समय लिया. देबोराह ने उनसे 0.117 सेकेंड ज्यादा का समय लिया. वहीं मोटरेन ने 200 मीटर के लिए 12.435 सेकेंड का समय लिया. रीजे ने मोर्टन से 0.106 सेकेंड ज्यादा का समय लिया.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com