डोपिंग पर महिला बॉक्‍सर मेरीकॉम बोलीं, 'कुछ कोच अपने शिष्‍यों को गलत रास्‍ता दिखाते हैं'

डोपिंग पर महिला बॉक्‍सर मेरीकॉम बोलीं, 'कुछ कोच अपने शिष्‍यों को गलत रास्‍ता दिखाते हैं'

मेरीकॉम ओलिंपिक खेलों में देश के लिए कांस्‍य पदक हासिल कर चुकी हैं (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

देश की टॉप महिला बॉक्‍सर एमसी मेरीकॉम (MC Mary Kom) ने देश में डोपिंग की समस्‍या के लिए उन कोचों को भी जिम्‍मेदार माना है जो अपने खिलाड़ि‍यों को इसका रास्‍ता दिखाते हैं. छह बार की वर्ल्‍ड चैंपियन इस बॉक्‍सर ने कहा कि इसके लिए हमें कोचों को भी डोपिंग की बुराई के बारे में जागरूक करना होगा. 36 वर्षीय मेरीकॉम ने डोपिंग रोधी (Anti-Doping) राष्ट्रीय सम्मेलन के समापन समारोह में कहा, ‘हमें प्रशिक्षकों को भी प्रशिक्षण देने की जरूरत है. उन्हें भी जागरूक करने की जरूरत है. उन्हें भी प्रतिबंधित दवाओं के बारे में बताया जाना चाहिए.'

मेरी कॉम, मैं आपकी कहानी कहकर शुक्रगुज़ार हूं : प्रियंका चोपड़ा

ओलिंपिक खेलों में देश के लिए कांस्‍य पदक जीत चुकी इस बॉक्‍सर ने खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ की मौजूदगी में कहा, ‘दुर्भाग्य से कुछ कोच अपने शिष्यों को गलत रास्ते पर ले जाते हैं. वे उन्हें अलग तरह से सफलता दिलाना चाहते हैं.'इस अवसर पर राठौड़ ने कहा कि खिलाड़ियों को डोपिंग के दम पर कुछ भी हासिल करने की सीख नहीं लेनी चाहिए.

राठौड़ ओलिंपिक खेलों में देश के लिए रजत पदक जीत चुके हैं. उन्‍होंने कहा, ‘आपको हार से सीख मिलती है. गलत तरीकों (डोपिंग) से पदक जीतने के बजाय हार से सीख लेना बेहतर है. जब आप पदक जीतते हो और जानते हो कि आपने डोपिंग के जरिये यह हासिल किया तो आप खुद का चेहरा भी देखना पसंद नहीं करोगे.' खेल मंत्री ने कहा, ‘मैं एथेंस में पदक जीतने के बाद अक्सर उसे नहीं देखता क्योंकि खेलों में पदक ही सब कुछ नहीं है. मैं यहां कैसे पहुंचा और मैंने जीत की भूख के साथ कई तरह की सीख लेते हुए कैसे इसे हासिल किया, यह महत्वपूर्ण है.' (इनपुट: एजेंसी)

वीडियो: 'खास मिशन' पर महिला बॉक्‍सर एमसी मेरीकॉम

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com