Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कोरोना वायरस के खौफ के बीच प्राचीन ओल‍िंप‍िया में दर्शकों के ब‍िना ही जलाई गई ओल‍िंप‍िक मशाल

प्राचीन ओलंपिया से यह लौ आठ दिनों तक ग्रीस की यात्रा करेगी और फिर इसे टोक्यो 2020 के आयोजकों के हवाले कर दिया जाएगा. यह समारोह 19 मार्च को पानाथेनिएक स्टेडियम में होगा, जहां पहला आधुनिक ओलंपिक खेला गया था. म

कोरोना वायरस के खौफ के बीच प्राचीन ओल‍िंप‍िया में दर्शकों के ब‍िना ही जलाई गई ओल‍िंप‍िक मशाल

प्राचीन ओलंपिया से यह मशाल आठ दिनों तक ग्रीस की यात्रा करेगी

खास बातें

  • ग्रीस अभिनेत्री जांथी जियोर्जियोउ लौ प्रज्‍जवल‍ित की
  • यह मशाल आठ दिनों तक ग्रीस की यात्रा करेगी
  • बाद में इसे 'टोक्‍यो' के आयोजकों को सौंपा जाएगा
प्राचीन ओलंपिया (ग्रीस):

टोक्यो ओल‍िंप‍िक (Tokyo Olympic 2020 ) की मशाल को गुरुवार को यहां प्राचीन ओल‍िंप‍िया में प्रज्जवलित किया गया. गुरुवार को स्थानीय समयानुसार 12.10 बजे ग्रीस अभिनेत्री जांथी जियोर्जियोउ ने प्राचीन ग्रीक हाई प्रीस्टेस की भूमिका अदा करते हुए कॉन्केव मिरर का उपयोग करते हुए सूर्य की किरणों से इस लौ को प्रज्जवलित किया. कोरोनावायरस (Corona Virus) के बढ़ते खतरे के कारण ओल‍िंप‍िक खेलों से जुड़े इस समारोह में किसी को शामिल होने की इजाजत नहीं थी.

प्राचीन ओलंपिया से यह लौ आठ दिनों तक ग्रीस की यात्रा करेगी और फिर इसे टोक्यो 2020 के आयोजकों के हवाले कर दिया जाएगा. यह समारोह 19 मार्च को पानाथेनिएक स्टेडियम में होगा, जहां पहला आधुनिक ओलंपिक खेला गया था. मशाल पूरी दुनिया का सफर तय करते हुए जुलाई के अंत में जापान पहुंचेगी, जहां 24 जुलाई से 9 अगस्त तक ओल‍िंपिक खेलों का आयोजन होगा. जापान इससे पहले 1964 में भी ओल‍िंपिक की मेजबानी कर चुका है.

गौरतलब है क‍ि ओल‍िंप‍िक खेलों के आयोजन पर इस बार कोरोना वायरस (Tokyo Olympic) की छाया पड़ती नजर आ रही है. इस वायरस के खौफ के चलते दुन‍ियाभर में खेलों के आयोजनों को रद्द या स्‍थग‍ित क‍िया जा रहा है. खेल जगत में यह चर्चाएं आम हैं क‍ि अगर अगले एक-दो माह में कोराना वायरस के कारण स्‍थ‍ित‍ि काबू में नहीं आई तो ओल‍िंप‍िक खेलों का आयोजन प्रभाव‍ित हो सकता है.

वीडियो: कुश्‍ती में भारत को कम से कम चार मेडल की उम्‍मीद



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)