Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar
होम | पटना

पटना

  • मस्जिद से हिरासत में लिए गए 10 विदेशी उपदेशकों में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं
    किर्गीस्तान निवासी ये सभी लोग गत 26 जनवरी को ही नई दिल्ली आए थे और पटना के पीरबहोर और फुलवारीशरीफ इलाके में धार्मिक उपदेश देने के बाद सोमवार सुबह कुर्जी मस्जिद पहुंचे थे. 
  • CoronaVirus: बिहार सरकार ने करदाताओं के बैंक खाते कुर्क करने के आदेश वापस लिए
    सुशील ने करदाताओं से अपील की कि कर भुगतान की सारी व्यवस्था आनलाइन है, ऐसे में करदाता घर बैठे-बैठे अपने कर का भुगतान सुनिश्चित करें ताकि विकास कार्यों के साथ ही कोरोना जैसी महामारी से लड़ने में भी सरकार के कदम और मजबूत हो सके.
  • बिहार: दुष्कर्म में नाकाम होने पर जलाई गई छात्रा ने तोड़ा दम, अंतिम समय में बोलीं- मुझे न्याय चाहिए
    आलमगंज के थाना प्रभारी अभिजीत कुमार ने बताया कि सोमवार रात पटना के एक निजी अस्पताल में पीड़िता ने इलाज के दौरान लगभग 11.40 बजे दम तोड़ दिया. पुलिस मामले में जांच में जुटी है. उल्लेखनीय है कि अहियापुर थाना क्षेत्र में आरोपी राजा राय ने छात्रा के घर में घुसकर छात्रा से दुष्कर्म करने की कोशिश की थी.
  • महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का शव ले जाने के लिए एंबुलेंस का करते रहे इंतजार, परिजन बोले- ये उनका अपमान है
    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 77 वर्षीय वशिष्ठ नारायण सिंह के निधन पर शोक जताते हुए इसे समाज और बिहार के लिए एक बड़ा नुकसान बताया.
  • पूर्व CM लालू प्रसाद यादव की सजा बढ़ाने के लिए दाखिल CBI की याचिका पर सुनवाई टली
    दाखिल याचिका में कहा गया है कि देवघर कोषागार से अवैध निकासी मामले में CBI की विशेष अदालत ने लालू प्रसाद, डॉ. आरके राणा, बेक जूलियस, अधीप चंद्र चैधरी, महेश प्रसाद, फूलचंद्र सिंह और सुबीर भट्टाचार्य को साढ़े तीन-तीन साल की सजा सुनाई है, जबकि इसी मामले में जगदीश शर्मा को सात साल की सजा सुनाई गई है.
  • मोदी कैबिनेट में जदयू के शामिल होने की ताजा अटकलों को नीतीश कुमार ने किया खारिज, कही यह बात
    बृहस्पतिवार को जब त्यागी से नीतीश कुमार के इनकार के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘इसमें कोई अंतर्विरोध नहीं है. मैंने कहा था कि यदि मोदी या शाह की ओर से आनुपातिक प्रतिनिधित्व की पेशकश आती है तो हम उसका स्वागत करेंगे. यद्यपि हमने यह कभी नहीं कहा कि फिलहाल ऐसा कोई प्रस्ताव  है.’
  • बिहार: चाचा ने संतान की चाह में दी भतीजे की बलि, पुलिस ने किया गिरफ्तार
    यह घटना रविवार देर रात पिरापैंती पुलिस थाना क्षेत्र के दिलौर गांव में हुई. भारती ने बताया कि रविदास अपने भतीजे को पहले से तय एक स्थान पर पटाखा खरीदने के बहाने ले गया और उसका गला रेत दिया. बच्चे का शव मिलने के बाद उसके माता-पिता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, जिसके बाद रविदास और तांत्रिक को गिरफ्तार कर लिया गया. 
  • बिहार लोजपा के अध्यक्ष बने नवनिर्वाचित सांसद प्रिंस राज, चिराग पासवान ने की घोषणा
    को लोजपा का प्रदेश अध्यक्ष पार्टी प्रमुख रामविलास पासवान ने बनाया है और इसकी घोषणा लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान ने शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान की. चिराग ने कहा कि 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए पार्टी को संगठनात्मक तौर पर मजबूत करने की दृष्टि से लोजपा प्रमुख ने कई अन्य व्यक्तियों को भी नियुक्त किया गया है.
  • पटना हाईकोर्ट जल जमाव को लेकर सिर्फ अधिकारियों के तबादले से संतुष्ट नहीं
    पटना हाईकोर्ट का मानना है कि जल जमाव के लिए दोषी अधिकारियों का तबादला पर्याप्त नहीं. जल जमाव के मुद्दे पर भी जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए बुधवार को कोर्ट ने कहा कि इसके लिए जिम्मेदार किसी भी अधिकारी को बख्शा नहीं जाएगा. पटना उच्च न्यायालय में इस मुद्दे पर कई जनहित याचिका दायर हुई हैं. जिसकी सुनवाई के दौरान कोर्ट ने यह भी साफ किया कि कुछ अधिकारियों के निलंबन और कुछ वरिष्ठ अधिकारियों के तबादले करके राज्य सरकार अपना पल्ला नहीं झाड़ सकती है और कोर्ट देखेगी कि आखिर दोषी अधिकारियों के ख़िलाफ़ क्या और कार्रवाई की जाए.
  • तेजस्वी यादव का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला, जल जमाव के मुद्दे पर उठाए कई सवाल
    बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव इन दिनों विधानसभा की पांच सीटों और लोकसभा की एक सीट पर होने वाले उप चुनाव के प्रचार में व्यस्त हैं. हालांकि वे पटना में पिछले हफ़्ते कुछ दिन थे लेकिन जल जमाव से प्रभावित लोगों की सुध लेने में उन्होंने दिलचस्पी नहीं दिखाई. दूसरी तरफ सोशल मीडिया के माध्यम से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेरने का उनका दैनिक कार्यक्रम जारी है. मंगलवार को उन्होंने ताज़ा बयान में कहा कि 'आदरणीय नीतीश कुमार जी आंख में धूल झोंकने के माहिर खिलाड़ी हैं. हर छोटी मोटी उपलब्धि का श्रेय स्वयं हड़पते हैं पर विकराल नाकामियों का ठीकरा छोटे-छोटे कर्मचारियों पर फोड़ते हैं.'
  • पटना में जल जमाव की समीक्षा के लिए नीतीश कुमार ने बैठक बुलाई
    पटना शहर में जल जमाव के कारणों की समीक्षा करने के लिए सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई. इसमें संबंधित विभागों के मंत्री और प्रधान सचिव मौजूद थे. इस बैठक में कई फैसले लिए गए.
  • पटना जल जमाव के जांच के लिए समिति के गठन का मामला : सुशील मोदी ने नीतीश सरकार की लाज बचाई
    पटना में जलजमाव क्यों हुआ इसकी जांच के लिए बनाई गई समिति को लेकर उठे विवाद के बाद अब खबर आ रही है कि उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को जैसे ही इस आदेश के बारे में पता चला उन्होंने नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव से जानकारी ली और साफ़ कहा कि कि ये जांच दल काम शुरू नहीं करेगा.
  • पटना में जल जमाव : नेताओं के एक वर्ग ने लोगों की सेवा की, दूसरे वर्ग ने वोट पाने की रणनीति बनाई
    बिहार की राजधानी पटना में जल जमाव से दो तरह के नेता जनता के सामने आए हैं. एक जिन्होंने इस जल जमाव के बहाने वोट मिले या नहीं, इसकी परवाह किए बिना जनता की ख़ूब सेवा की और वाहवाही भी बटोरी. इन नेताओं में पूर्व सांसद पप्पू यादव, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद रहे. दूसरे वे नेता जो पानी में तो जनता के बीच नहीं दिखे लेकिन पानी के बहाने सरकार, खासकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी. ऐसे नेताओं में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जयसवाल और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव प्रमुख थे.
  • राजद नेता जगदानंद सिंह ने अब नीतीश कुमार से सवाल पूछे
    राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के वरिष्ठ नेता जगदानंद सिंह ने बाढ़ और जलजमाव से जूझते बिहार को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कई सवाल किए हैं. 'पटना और बिहार में आई बाढ़ की त्रासदी का सच' शीर्षकयुक्त एक बयान में कहा, 'नीतीश जी, पटना में जलजमाव या जलभराव पर पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों पर आपको आश्चर्यजनक जवाब देते सुना था, लेकिन इंतज़ार करना बेहतर समझा, ताकि आप कष्ट में पड़ी आबादी को समस्या से निजात दिलवा सकें... पटना के लोग अब भी कष्ट में हैं, हालांकि पानी अधिकांश इलाकों से निकाला जा चुका है या निकासी के अंतिम चरण में है... सो, मैं आपसे या आपके माध्यम से निम्न बातें जानना चाहता हूं, जिनके जवाब यदि आप दे सकें, तो लोगों को सच्चाई मालूम होगी...'
  • जेडीयू-बीजेपी में सब कुछ ठीक नहीं, आखिर पटना में भाजपा नेता रावण वध कार्यक्रम से अलग क्यों रहे?
    बिहार में सत्तारूढ़ NDA के दो घटक जनता दल यूनाइटेड और भारतीय जनता पार्टी के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा. इसका एक उदाहरण मंगलवार को पटना के गांधी मैदान में देखने को मिला जब हर साल आयोजित होने वाली रावण वध कार्यक्रम में वो चाहे बिहार के राज्यपाल हों या उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी या भारतीय जनता पार्टी के स्थानीय विधायक, कोई नहीं दिखा.
  • पटना की मेयर जलजमाव के मुद्दे पर संवाददाता सम्मेलन में क्यों पानी पानी हो गयीं? देखें VIDEO
    पटना शहर में जल जमाव को लेकर प्रभावित इलाकों में सभी जनप्रतिनिधियों के खिलाफ गुस्‍सा है फिर चाहे वो मंत्री हों, विधायक या मेयर. इसका अंदाज़ा इन सबों को है लेकिन अब अपनी गलतियों को स्वीकार करने की बजाय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर सारा ठीकरा फ़ोड़ने की एक रणनीति के तहत ये लोग बारी-बारी से संवादाता सम्मेलन कर रहे हैं.
  • नीतीश ने माना कि पंपिंग हाउसों के काम न करने से जल जमाव था, कहा- अब पटना को सुधार देंगे
    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को माना कि पटना के पंपिंग हाउस काम नहीं कर रहे थे, लेकिन साथ ही उन्होंने वादा किया कि अब पटना को सुधार देंगे. बिहार की राजधानी पटना पिछले पांच दिनों से रिकॉर्ड बरसात के कारण जल जमाव की समस्या झेल रही है. इसके कारण पटना साहिब में रहने वाले लाखों लोगों का जीवन अस्त व्यस्त हो गया है. जल जमाव का एक बड़ा कारण शहर में जल निकासी के पंपिंग स्टेशन का काम नहीं करना बताया जा रहा है. ख़ुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को स्वीकार किया कि सभी पंपिंग हाउस काम नहीं कर रहे थे. मंगलवार देर शाम से ही अधिकांश ने काम करना शुरू किया जिससे कि जल निकासी का काम भी आखिरकार प्रारंभ हो पाया.
  • बीजेपी के सांसद पटना में बाढ़ पीड़ितों से मिलने पहुंचे, खुद डूबते-डूबते बचे; देखें VIDEO
    बिहार में पटना धनरुआ के रमनीविगहा में पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री और बीजेपी के सांसद रामकृपाल यादव बुधवार को डूबते-डूबते बचे. इस इलाके में दरधा नदी के कारण बाढ़ आई हुई है. पाटलिपुत्र के सांसद रामकृपाल यादव बाढ़ पीड़ितों से मिलने गए थे. वे बाढ़ के हालात का जायजा लेने के निकले. वे वहां वाहनों के ट्यूब और लकड़ी के पटियों से बनाई गई एक नाव में सवार होकर जा रहे थे. उनके साथ कुछ स्थानीय लोग भी नाव पर सवार थे. नाव पर लोगों के समूह के साथ खड़े रामकृपाल यादव का अचानक संतुलन बिगड़ा जिससे नाव डगमगाने लगी. नाव पर उनके साथ खड़े छह-सात लोग भी नाव के हिचकोले लेने से लड़खड़ाने लगे और एक दूसरे का सहारा लेने की कोशिश करने लगे. इस कोशिश में नाव का संतुलन पूरी तरह बिगड़ गया और सांसद रामकृपाल यादव अपने साथ खड़े अन्य लोगों के साथ पानी में गिर गए.
  • आखिर नीतीश कुमार और सुशील मोदी चोरी-चोरी चुपके-चुपके पटना में क्यों घूम रहे?
    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आखिरकार मंगलवार की शाम को पटना शहर में भरे पानी की निकासी का खुद जाकर निरीक्षण किया. इससे पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने दिन में कई जगहों पर जल जमाव का जायजा लिया और शाम को नगर विकास विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. बैठक के बाद निष्कर्ष यही निकला कि अतिरिक्त पंपों की सहायता से दो दिन में दो फीट पानी की निकासी होगी. नीतीश कुमार ने इससे पूर्व रविवार को अलग-अलग जगहों पर पानी का जायजा लिया और सोमवार को हेलिकॉप्टर से सर्वे किया. इससे पूर्व राहत सामग्री जो पटना के श्री कृष्णा मेमोरियल हाल में बन रही थी, उसका भी निरीक्षण किया.
  • पटना में जल जमाव से चार-पांच दिन नहीं मिलेगी निजात, डिप्टी सीएम मोदी ने ली बैठक
    पटना शहर को फिलहाल जल जमाव से पूरी तरह से निजात पाने में चार से पांच दिन लग जाएंगे. यह मानना है खुद बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी का. उन्होंने मंगलवार को जल जमाव वाले इलाकों का दौरा करने के बाद अपने दफ्तर में नगर विकास विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा की, जिसमें भाजपा के अधिकांश मंत्री भी मौजूद थे. इस बैठक के बाद उनके दफ्तर द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार सुशील मोदी ने कहा कि अगले एक दो दिन में कम से कम दो फीट पानी निकालने की व्यवस्था की जाए.
12345»

Advertisement