NDTV Khabar
होम | पटना

पटना

  • पटना हाईकोर्ट जल जमाव को लेकर सिर्फ अधिकारियों के तबादले से संतुष्ट नहीं
    पटना हाईकोर्ट का मानना है कि जल जमाव के लिए दोषी अधिकारियों का तबादला पर्याप्त नहीं. जल जमाव के मुद्दे पर भी जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए बुधवार को कोर्ट ने कहा कि इसके लिए जिम्मेदार किसी भी अधिकारी को बख्शा नहीं जाएगा. पटना उच्च न्यायालय में इस मुद्दे पर कई जनहित याचिका दायर हुई हैं. जिसकी सुनवाई के दौरान कोर्ट ने यह भी साफ किया कि कुछ अधिकारियों के निलंबन और कुछ वरिष्ठ अधिकारियों के तबादले करके राज्य सरकार अपना पल्ला नहीं झाड़ सकती है और कोर्ट देखेगी कि आखिर दोषी अधिकारियों के ख़िलाफ़ क्या और कार्रवाई की जाए.
  • तेजस्वी यादव का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला, जल जमाव के मुद्दे पर उठाए कई सवाल
    बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव इन दिनों विधानसभा की पांच सीटों और लोकसभा की एक सीट पर होने वाले उप चुनाव के प्रचार में व्यस्त हैं. हालांकि वे पटना में पिछले हफ़्ते कुछ दिन थे लेकिन जल जमाव से प्रभावित लोगों की सुध लेने में उन्होंने दिलचस्पी नहीं दिखाई. दूसरी तरफ सोशल मीडिया के माध्यम से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेरने का उनका दैनिक कार्यक्रम जारी है. मंगलवार को उन्होंने ताज़ा बयान में कहा कि 'आदरणीय नीतीश कुमार जी आंख में धूल झोंकने के माहिर खिलाड़ी हैं. हर छोटी मोटी उपलब्धि का श्रेय स्वयं हड़पते हैं पर विकराल नाकामियों का ठीकरा छोटे-छोटे कर्मचारियों पर फोड़ते हैं.'
  • पटना में जल जमाव की समीक्षा के लिए नीतीश कुमार ने बैठक बुलाई
    पटना शहर में जल जमाव के कारणों की समीक्षा करने के लिए सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई. इसमें संबंधित विभागों के मंत्री और प्रधान सचिव मौजूद थे. इस बैठक में कई फैसले लिए गए.
  • पटना जल जमाव के जांच के लिए समिति के गठन का मामला : सुशील मोदी ने नीतीश सरकार की लाज बचाई
    पटना में जलजमाव क्यों हुआ इसकी जांच के लिए बनाई गई समिति को लेकर उठे विवाद के बाद अब खबर आ रही है कि उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को जैसे ही इस आदेश के बारे में पता चला उन्होंने नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव से जानकारी ली और साफ़ कहा कि कि ये जांच दल काम शुरू नहीं करेगा.
  • पटना में जल जमाव : नेताओं के एक वर्ग ने लोगों की सेवा की, दूसरे वर्ग ने वोट पाने की रणनीति बनाई
    बिहार की राजधानी पटना में जल जमाव से दो तरह के नेता जनता के सामने आए हैं. एक जिन्होंने इस जल जमाव के बहाने वोट मिले या नहीं, इसकी परवाह किए बिना जनता की ख़ूब सेवा की और वाहवाही भी बटोरी. इन नेताओं में पूर्व सांसद पप्पू यादव, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद रहे. दूसरे वे नेता जो पानी में तो जनता के बीच नहीं दिखे लेकिन पानी के बहाने सरकार, खासकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी. ऐसे नेताओं में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जयसवाल और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव प्रमुख थे.
  • राजद नेता जगदानंद सिंह ने अब नीतीश कुमार से सवाल पूछे
    राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के वरिष्ठ नेता जगदानंद सिंह ने बाढ़ और जलजमाव से जूझते बिहार को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कई सवाल किए हैं. 'पटना और बिहार में आई बाढ़ की त्रासदी का सच' शीर्षकयुक्त एक बयान में कहा, 'नीतीश जी, पटना में जलजमाव या जलभराव पर पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों पर आपको आश्चर्यजनक जवाब देते सुना था, लेकिन इंतज़ार करना बेहतर समझा, ताकि आप कष्ट में पड़ी आबादी को समस्या से निजात दिलवा सकें... पटना के लोग अब भी कष्ट में हैं, हालांकि पानी अधिकांश इलाकों से निकाला जा चुका है या निकासी के अंतिम चरण में है... सो, मैं आपसे या आपके माध्यम से निम्न बातें जानना चाहता हूं, जिनके जवाब यदि आप दे सकें, तो लोगों को सच्चाई मालूम होगी...'
  • जेडीयू-बीजेपी में सब कुछ ठीक नहीं, आखिर पटना में भाजपा नेता रावण वध कार्यक्रम से अलग क्यों रहे?
    बिहार में सत्तारूढ़ NDA के दो घटक जनता दल यूनाइटेड और भारतीय जनता पार्टी के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा. इसका एक उदाहरण मंगलवार को पटना के गांधी मैदान में देखने को मिला जब हर साल आयोजित होने वाली रावण वध कार्यक्रम में वो चाहे बिहार के राज्यपाल हों या उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी या भारतीय जनता पार्टी के स्थानीय विधायक, कोई नहीं दिखा.
  • पटना की मेयर जलजमाव के मुद्दे पर संवाददाता सम्मेलन में क्यों पानी पानी हो गयीं? देखें VIDEO
    पटना शहर में जल जमाव को लेकर प्रभावित इलाकों में सभी जनप्रतिनिधियों के खिलाफ गुस्‍सा है फिर चाहे वो मंत्री हों, विधायक या मेयर. इसका अंदाज़ा इन सबों को है लेकिन अब अपनी गलतियों को स्वीकार करने की बजाय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर सारा ठीकरा फ़ोड़ने की एक रणनीति के तहत ये लोग बारी-बारी से संवादाता सम्मेलन कर रहे हैं.
  • नीतीश ने माना कि पंपिंग हाउसों के काम न करने से जल जमाव था, कहा- अब पटना को सुधार देंगे
    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को माना कि पटना के पंपिंग हाउस काम नहीं कर रहे थे, लेकिन साथ ही उन्होंने वादा किया कि अब पटना को सुधार देंगे. बिहार की राजधानी पटना पिछले पांच दिनों से रिकॉर्ड बरसात के कारण जल जमाव की समस्या झेल रही है. इसके कारण पटना साहिब में रहने वाले लाखों लोगों का जीवन अस्त व्यस्त हो गया है. जल जमाव का एक बड़ा कारण शहर में जल निकासी के पंपिंग स्टेशन का काम नहीं करना बताया जा रहा है. ख़ुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को स्वीकार किया कि सभी पंपिंग हाउस काम नहीं कर रहे थे. मंगलवार देर शाम से ही अधिकांश ने काम करना शुरू किया जिससे कि जल निकासी का काम भी आखिरकार प्रारंभ हो पाया.
  • बीजेपी के सांसद पटना में बाढ़ पीड़ितों से मिलने पहुंचे, खुद डूबते-डूबते बचे; देखें VIDEO
    बिहार में पटना धनरुआ के रमनीविगहा में पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री और बीजेपी के सांसद रामकृपाल यादव बुधवार को डूबते-डूबते बचे. इस इलाके में दरधा नदी के कारण बाढ़ आई हुई है. पाटलिपुत्र के सांसद रामकृपाल यादव बाढ़ पीड़ितों से मिलने गए थे. वे बाढ़ के हालात का जायजा लेने के निकले. वे वहां वाहनों के ट्यूब और लकड़ी के पटियों से बनाई गई एक नाव में सवार होकर जा रहे थे. उनके साथ कुछ स्थानीय लोग भी नाव पर सवार थे. नाव पर लोगों के समूह के साथ खड़े रामकृपाल यादव का अचानक संतुलन बिगड़ा जिससे नाव डगमगाने लगी. नाव पर उनके साथ खड़े छह-सात लोग भी नाव के हिचकोले लेने से लड़खड़ाने लगे और एक दूसरे का सहारा लेने की कोशिश करने लगे. इस कोशिश में नाव का संतुलन पूरी तरह बिगड़ गया और सांसद रामकृपाल यादव अपने साथ खड़े अन्य लोगों के साथ पानी में गिर गए.
  • आखिर नीतीश कुमार और सुशील मोदी चोरी-चोरी चुपके-चुपके पटना में क्यों घूम रहे?
    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आखिरकार मंगलवार की शाम को पटना शहर में भरे पानी की निकासी का खुद जाकर निरीक्षण किया. इससे पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने दिन में कई जगहों पर जल जमाव का जायजा लिया और शाम को नगर विकास विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. बैठक के बाद निष्कर्ष यही निकला कि अतिरिक्त पंपों की सहायता से दो दिन में दो फीट पानी की निकासी होगी. नीतीश कुमार ने इससे पूर्व रविवार को अलग-अलग जगहों पर पानी का जायजा लिया और सोमवार को हेलिकॉप्टर से सर्वे किया. इससे पूर्व राहत सामग्री जो पटना के श्री कृष्णा मेमोरियल हाल में बन रही थी, उसका भी निरीक्षण किया.
  • पटना में जल जमाव से चार-पांच दिन नहीं मिलेगी निजात, डिप्टी सीएम मोदी ने ली बैठक
    पटना शहर को फिलहाल जल जमाव से पूरी तरह से निजात पाने में चार से पांच दिन लग जाएंगे. यह मानना है खुद बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी का. उन्होंने मंगलवार को जल जमाव वाले इलाकों का दौरा करने के बाद अपने दफ्तर में नगर विकास विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा की, जिसमें भाजपा के अधिकांश मंत्री भी मौजूद थे. इस बैठक के बाद उनके दफ्तर द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार सुशील मोदी ने कहा कि अगले एक दो दिन में कम से कम दो फीट पानी निकालने की व्यवस्था की जाए.
  • राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर 12 अक्टूबर को बिहार में महागठबंधन का कार्यक्रम, तेजस्वी के शामिल होने पर संशय
    बिहार में विपक्षी महागठंधन में शामिल पांच दल आगामी 12 अक्टूबर को पटना स्थित बापू सभागार में समाजवादी नेता राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि के अवसर पर एक कार्यक्रम का आयोजन करेंगे. कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में महागठबंधन (राजद, कांग्रेस, रालोसपा, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्युलर) और विकासशील इंसान पार्टी) की एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए रालोसपा प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा जो कि इस समारोह के संयोजक भी हैं, ने बताया कि पंद्रह दिन पहले हुई महागठबंधन की बैठक में सभी घटक दलों ने सर्वसम्मति से विपक्ष और मीडिया की आवाज दबाने का प्रयास कर रही भाजपा के तानाशाही शासन जो कि लोकतंत्र में शर्मनाक है,
  • पटना के आनंद कुमार पर बनी फिल्म 'सुपर 30' बिहार में हुई टैक्स फ्री
    बिहार सरकार ने एक महत्वपूर्ण निर्णय में फिल्म 'सुपर थर्टी' को टैक्स फ़्री करने का निर्णय लिया है. यह मंगलवार से प्रभावी होगा. इसकी घोषणा उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने एक ट्वीट कर की है.
  • पटना जा रही ‘अपर इंडिया एक्सप्रेस’ के 2 डिब्बे पटरी से उतरे, कोई हताहत नहीं 
    पटना जा रही ‘अपर इंडिया एक्सप्रेस’ के दो डिब्बे रविवार को बक्सर जिले के चौसा स्टेशन के निकट पटरी से उतर गए. इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है. चौसा के स्टेशन मास्टर मंसूर आलम ने बताया कि घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है क्योंकि ट्रेन की गति बेहद कम थी. घटना स्टेशन के पूर्वी केबिन के निकट सुबह 11:49 बजे की है.  
  • TCS जल्द पटना में खोलेगी सेंटर, पैदा होंगे रोजगार के अवसर 
    आईटी फर्म टीसीएस जल्द ही बिहार की राजधानी पटना में अपना सेंटर शुरू करेगी. टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन ने शनिवार को केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से दिल्ली में मुलाकात की और भारत के डिजटल सेक्टर से जुड़े विषयों पर चर्चा की. केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ट्वीट कर इस मुलाकात की जानकारी दी और बताया कि टीसीएस (टाटा कंसल्टेन्सी सर्विसेज) जल्द ही पटना में अपना एक बड़ा केंद्र शुरू करने जा रही है.
  • गिरिराज सिंह ने एक ट्वीट करके अपनी फजीहत करा ली, 'अपनों' ने भी लताड़ डाला
    एक कहावत है 'चौबे गए छब्‍बे बनने, दुबे बनकर निकले'... कुछ ऐसा ही वाकया केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के साथ मंगलवार को हुआ गिरिराज ने अखबारों और सोशल मीडिया पर पटना में विभिन्न दलों के नेताओं द्वारा आयोजित इफ़्तार के फ़ोटो देखकर नसीहत क्या दे डाली, विपक्ष तो पीछे रह गया उनकी अपनी पार्टी के नेताओं और सहयोगी जनता दल यूनाइटेड के नेताओं ने उनकी आलोचना में कोई कसर नहीं छोड़ी. अब तो गिरिराज के समर्थक भी मानते हैं कि उनके राजनीतिक जीवन में चंद घंटों में उन्हें कभी इतनी राजनीतिक फजीहत नहीं झेलनी पड़ी.
  • बिहार : तेजप्रताप यादव सड़क दुर्घटना में घायल, सहयोगी को लगीं गंभीर चोटें
    बिहार के राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के चर्चित युवा नेता और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव की कार शुक्रवार को राजधानी पटना में दुर्घटनाग्रस्त हो गई. बताया जा रहा है कि तेजप्रताप को इस हादसे में पैर में चोट आई है. उनकी तेज रफ्तार कार सामने से तेज गति से आ रही एक कार से भिड़ गई. तेजप्रताप के सहयोगी को गंभीर चोटें लगीं और दूसरे वाहन में सवार चार लोग भी घायल हो गए.
  • Video :  निजी सुरक्षा में लगे शख्स ने पटना में मीडियाकर्मी को पीटा, तेज प्रताप यादव ने कहा- मुझे मारने की साजिश
    बिहार की राजधानी पटना में आरजेडी नेता तेज प्रताप यादव के निजी सुरक्षा में लगे एक शख्स की गुंडागर्दी सामने आई है. उसने एक मीडियाकर्मी को पीटा है. उसकी गलती सिर्फ इतनी थी कि उससे तेज प्रताप की कार का शीशा टूट गया था. इसी बात पर काली शर्ट और काला चश्मा लगाए तेज प्रताप के सुरक्षाकर्मी ने उस मीडियाकर्मी को पीटना शुरू कर दिया. इसके बाद उसके बाकी साथी भी आ गए. घटना के समय पुलिसकर्मी भी वहां मौजूद थे. घटना के समय पीड़ित के हाथ में कैमरा था और वहां बाकी मीडिया के कई और लोग भी शामिल थे. मारपीट की घटना कैमरों में कैद कर ली गई. जिस समय घटना हुई तेज प्रताप यादव वोट डालकर जा रहे थे
  • पटना में बिहारी बाबू शत्रुघ्न सिन्हा को चिढ़ाने के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का रोड शो!
    भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) चुनाव के दौरान शहरों में रोड शो नियमित रूप से करते हैं. बिहार की राजधानी पटना के पटना साहिब (Patna Sahib) संसदीय क्षेत्र में उनका रोड शो शनिवार को आयोजित किया जा रहा है. लेकिन इस रोड शो के लिए जो रास्ता चुना गया है उससे साफ है कि यह आयोजन जानबूझकर बिहारी बाबू शत्रुघ्न सिन्हा को (Shatrughan Sinha) चुनौती देने के लिए हो रहा है. लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) में शत्रुघ्न सिन्हा पटना साहिब सीट से कांग्रेस और महागठबंधन के संयुक्त उम्मीदवार हैं.
12345»

Advertisement