NDTV Khabar

मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में तेजस्वी बोले- दरिंदा बलात्कारी नीतीश की आंख का तारा, क्या माजरा है, चाचा?

मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में तेजस्वी यादव ने सीबीआई जांच को लेकर सीएम नीतीश कुमार को आड़े हाथों लिया है. महागठबंधन के सहयोगियों को लेकर राजद नेता तेजस्वी यादव मुजफ्फरपुर के लिए रवाना हुए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में तेजस्वी बोले- दरिंदा बलात्कारी नीतीश की आंख का तारा, क्या माजरा है, चाचा?

मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में तेजस्वी ने की सीबीआई जांच की मांग

पटना: मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में तेजस्वी यादव ने सीबीआई जांच को लेकर नीतीश कुमार और उनकी सरकार को आड़े हाथों लिया है. मुजफ्फरपुर में बालिका गृह में बच्चियों से रेप के मामले में तेजस्वी ने कहा कि आखिर नीतीश कुमार की सरकार सीबीआई जांच की मंजूरी क्यों नहीं दे रही है. बता दें कि गौरतलब है कि बिहार के मुजफ्फरपुर में एक बालिका आश्रय गृह में पूर्व में रह चुकी एक लड़की ने आरोप लगाया था कि उसकी एक साथी की पीट-पीटकर हत्या कर दी गयी और उसे परिसर में दफन कर दिया गया एवं कई के साथ बलात्कार किया गया. इन आरोपों के बाद बिहार पुलिस ने जांच शुरु की है और शव को ढूंढ़ने के लिए उन्होंने बालिका आश्रय गृह के परिसर की खुदाई भी की.

बिहार : मुजफ्फरपुर के बालिका गृह में 29 बच्चियों से रेप की पुष्टि, एक बच्ची की हत्या कर गाड़ने का भी आरोप 

तेजस्वी ने बुधवार को इस मामले पर एक अखबार की कटिंग शेयर करते हुए ट्वीट किया और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी पर जमकर हमला बोला. तेजस्वी ने ट्वीट किया- 'ऐसा नरपिशाच और दरिंदा बलात्कारी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का दुलारा है, आंखों का तारा है, सुशील मोदी का सितारा है, तभी तो नीतीश कुमार हाईकोर्ट मॉनिटर्ड सीबीआई जांच की मंज़ूरी नहीं दे रहे है. क्या माजरा है चाचा?' तेजस्वी ने एक और ट्वीट कर कहा- 'महागठबंधन के वरिष्ठ सहयोगियों के साथ मुज़फ़्फ़रपुर बालिका गृह बलात्कार कांड की स्थितियों और कारवाई का जायज़ा लेने मुज़फ़्फ़रपुर जा रहा हूं. नीतीश कुमार का बलात्कारीयों साथ क्या संबंध है? क्यों CBI जांच से भाग रहे हैं? क्यों घबरायें हुए है? किसका डर है?' बता दें कि राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने मुजफ्फरपुर में सरकार द्वार वित्त पोषित बालिका आश्रय गृह की लड़कियों के यौन शोषण के आरोपों की सीबीआई जांच कराने की बात आज फिर से दोहराई और मांग की कि यह जांच उच्च न्यायालय की निगरानी में की जाए.  तेजस्वी लगातार इस मामले में सीबीआई जांच कराने की अपनी मांग को लेकर अड़े हुए हैं. उन्होंने कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए हम चाहेंगे कि यह जांच उच्च न्यायालय की निगरानी में हो.’    

यह जिद नीतीश कुमार को क्यों पड़ सकती है भारी?

इससे पहले मुजफ्फरपुर की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरप्रीत कौर ने कहा , ‘आरोप लगाने वाली एक लड़की ने जिस जगह की पहचान की है , वहां से अभी तक कुछ भी बरामद नहीं हुआ है , जहां पर उस लड़की के आरोप के मुताबिक एक लड़की की पीट - पीट कर हत्या कर उसके शव को दफना दिया गया था.’    उन्होंने कहा , ‘खुदाई बंद कर दी गई है, गड्ढे को भर दिया गया है और वहां से मिले मलबे के नमूने को फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया जाएगा.’    

बिहार : आश्रय गृह में चल रहा था सेक्स रैकेट, 46 नाबालिग लड़कियां मुक्त कराईं

टिप्पणियां
मुम्बई के एक संस्थान के सामाजिक ऑडिट में बिहार के इस बालिका आश्रय गृह की लड़कियों का यौन शोषण का मामला सामने आया था, जिसके बाद राज्य के समाज कल्याण विभाग ने पिछले महीने प्राथमिकी दर्ज की थी और इस सिलसिले में दस लोग गिरफ्तार किये जा चुके हैं. पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस बालिका आश्रय गृह को चलाने वाले एनजीओ को काली सूची में डाल दिया गया है. इस बालिका आश्रय गृह को सील कर दिया गया है और वहां की लड़कियों को अन्य जिलों के बालिका आश्रय गृहों में भेज दिया गया है.

VIDEO: संसद में उठा मुजफ्फरपुर के शेल्‍टर होम में रेप का मामला


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement