NDTV Khabar
होम | राजनेता

राजनेता

  • कर्नाटक की वो 5 विभूतियां, जिनके इर्द-गिर्द घूमता नजर आया चुनाव
    इस बार कर्नाटक का चुनाव तमाम मुद्दों के साथ-साथ राज्य की 'अस्मिता' के इर्द-गिर्द भी घूमता नजर आया. खासकर भाजपा ने अपने चुनाव प्रचार के दौरान राज्य की अस्मिता और संस्कृति का मुद्दा जोर-शोर से उठाया और इस बहाने विपक्षियों पर वार भी किया.
  • कर्नाटक : कांग्रेस MLA ने कहा, पत्नी को नहीं आया BJP से फोन, फर्जी टेप जारी करने वाले को 'धिक्कार'
    कर्नाटक में चल रही उठापटक की राजनीति के बीच येल्लापुर से कांग्रेस के MLA शिवराम हेब्बर ने यह कहकर सभी को चौंका दिया है कि उनकी पत्नी को बीजेपी से किसी की कॉल नहीं आई थी. कांग्रेस ने जो ऑडियो टेप जारी किया था, वह फर्जी है. शिवराम हेब्बर ने अपने फेसबुक पेज पर एक पोस्ट लिखकर यह दावा किया है और कांग्रेस के उन दावों को झुठला दिया है, जिसमें वह कह रही थी कि बीजेपी बहुमत परीक्षण से पहले उनके विधायकों से संपर्क करने का प्रयास कर रही थी.
  • मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री पारस जैन ने कहा- जो शादीशुदा नहीं वही बनें सांसद-विधायक
    मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री और खंडवा जिले के दौरे पर पहुंचे प्रभारी मंत्री पारस जैन ने एक कार्यक्रम में अजीबोगरीब बयान दिया है. उन्होंने कहा कि देश में ऐसे लोगों को विधायक ओर सांसद बनाया जाना चाहिये जो शादीशुदा नहीं हैं, क्योंकि शादीशुदा व्यक्ति परिवार की चिंता करता है.
  • जी. परमेश्वर- 2013 में कर्नाटक के CM बनने से चूके, अब डिप्टी सीएम की रेस में सबसे आगे, जानिये 10 अहम तथ्य
    कर्नाटक में बगैर फ्लोर टेस्ट बीएस येदियुरप्पा के इस्तीफा देने के बाद अब कांग्रेस और जेडीएस के सरकार गठन का रास्ता साफ हो चुका है. मुख्यमंत्री पद के लिए जेडीएस नेता एचडी कुमारस्‍वामी का नाम तय है.अब उप मुख्‍यमंत्री यानी डिप्टी सीएम पद को लेकर कयास लगना शुरू हो गया है. कहा जा रहा है कि उप मुख्यमंत्री कांग्रेस का होगा और पार्टी इसके लिए किसी दलित चेहरे का नाम आगे कर सकती है. कांग्रेस की लिस्ट में जो नाम सबसे ऊपर है वो है 'जी परमेश्वर' का. कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष जी परमेश्वर सन 1989 से 1992 तक वे कर्नाटक कांग्रेस के ज्वाइंट सेक्रेटरी रहे.सन 1992 से 1997 तक वे प्रदेश कांग्रेस के महासचिव पद रहे. वर्ष 1997 में उन्हें प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया गया और वर्ष 1999 तक इस पद पर काबिज रहे. साल 2010 में उन्हें कर्नाटक कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया. इसके अलावा 2010 से 2017 तक वे पार्टी की प्रदेश इकाई की प्रचार समिति के अध्यक्ष भी रह चुके हैं. परमेश्वर वर्ष 2013 में CM पद के प्रबल दावेदार थे, लेकिन हारने की वजह से उनका हाथ खाली रहा. जुलाई 2014 में परमेश्वर विधान परिषद के लिए एमएलसी चुने गए और 30 अक्टूबर 2015 को उन्हें कर्नाटक का गृह मंत्री नियुक्त कर दिया गया और 2017 तक वह इस पद पर काबिज रहे. अब उनका डिप्टी सीएम बनना लगभग तय माना जा रहा है.आपको आपको बताते हैं जी परमेश्वर से जुड़े 10 अहम तथ्य : 
  • येदियुरप्पा के इस्तीफे पर ममता-चंद्रबाबू नायडू ने कहा- लोकतंत्र की जीत हुई
    कर्नाटक में भाजपा की सरकार गिरने के बाद विपक्षी दलों की प्रतिक्रिया भी आनी शुरू हो गई है. पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि यह लोकतंत्र और क्षेत्रीय मोर्चे (रिजनल फ्रंट) की जीत है.उन्होंने ट्वीट कर देवगौड़ा, कुमारस्वामी और कांग्रेस को बधाई दी. दूसरी तरफ, पूर्व भाजपा नेता यशवंत सिन्हा ने कहा कि कर्नाटक ने दिखाया है कि अभी भी राजनीति में नैतिकता बची हुई है.
  • प्रोटेम स्पीकर पर कांग्रेस ने दी ये दलीलें, मिला ये जवाब, पूरा घटनाक्रम
    प्रोटेम स्पीकर के मामले पर सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस ने अपने तर्क के पक्ष में तमाम दलीलें रखीं. हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने स्‍पष्‍ट किया कि प्रोटेम स्‍पीकर केजी बोपैया ही बने रहेंगे और सदन में विश्‍वासमत की प्रक्रिया को वही संचालित करेंगे. आइये आपको बताते हैं कोर्ट रूम में कांग्रेस ने क्या दलीलें रखीं और जजों ने उस पर क्या कहा... 
  • कर्नाटक के प्रोटेम स्पीकर केजी बोपैया का विवादों से रहा है नाता, जानिये 10 अहम बातें
    कर्नाटक विधानसभा में आज फ्लोर टेस्ट होना है. कांग्रेस और जेडीएस ने प्रोटेम स्पीकर केजी बोपैया को लेकर सवाल खड़े कर दिये हैं और उनकी नियुक्ति पर आपत्ति जताई है. कांग्रेस का कहना है कि वरिष्ठता के आधार पर आरवी देशपांडे को प्रोटेम स्पीकर बनाना चाहिए. जो उन्हीं के पार्टी के MLA हैं. इस मसले पर कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट भी पहुंची है. थोड़ी देर में कांग्रेस की याचिका पर सुनवाई होने वाली है. केजी बोपैया जिनका पूरा नाम कोम्बारना गणपति बोपैया है, वे पहले भी विवादों में रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट भी उनके एक फैसले पर टिप्पणी कर चुका है और इसे गलत ठहराया है. केजी बोपैया बीएस येदियुरप्पा के बेहद करीबी और विश्वासपात्र माने जाते हैं. आइये आपको बताते हैं केजी बोपैया से जुड़े 10 अहम तथ्य. 
  • कर्नाटक: फ्लोर टेस्ट से पहले वापस बंगलुरु पहुंचे कांग्रेस विधायक
    कर्नाटक में आज फ्लोर टेस्ट से पहले कांग्रेस एमएलए वापस बंगलुरु पहुंच गए हैं. देर रात हैदराबाद से बस के जरिये एमएलए बंगलुरु के लिए रवाना हुए और थोड़ी देर पहले बंगलुरु पहुंचे हैं. इससे पहले नव-निर्वाचित विधायक शुक्रवार को ही हैदराबाद पहुंचे थे, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को फ्लोर टेस्ट कराने का निर्देश दिया
  • राम जेठमलानी का कर्नाटक के गवर्नर पर हमला, कहा- खुलेआम भ्रष्टाचार का न्योता दिया 
    कर्नाटक में सरकार गठन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने वाले वरिष्ठ एडवोकेट राम जेठमलानी ने कर्नाटक के गवर्नर वजुभाई वाला पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने पता नहीं गवर्नर को ऐसा क्या कहा, जिससे उन्होंने यह बेवकूफाना कदम उठाया. उनका यह कदम भ्रष्टाचार को खुलेआम निमंत्रण है.
  • सपा नेता अखिलेश यादव बरसे, कहा लोकतंत्र की हत्या की जा रही
    समाजवादी पार्टी प्रमुख तथा उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के बाद बनी स्थिति पर पहली बार टिप्पणी की, और बिना किसी राज्य या नेता का नाम लिए लोकतंत्र की हत्या किए जाने की बात कही है.
  • अमित शाह का राहुल को जवाब, कहा अपनी सरकार के भयावह आपातकाल को भूले 
    अमित शाह ने ट्वीट कर कहा कि, कांग्रेस अध्यक्ष को जाहिर तौर पर अपनी पार्टी का 'गौरवशाली' इतिहास याद नहीं होगा. भयावह आपातकाल, धारा 356 का जबरदस्त तरीके से गलत इस्तेमाल, कोर्ट, मीडिया और सिविल सोसायटी को नीचा दिखाना राहुल गांधी की पार्टी की विरासत है.
  • भाजपा जीत का जश्न और देश लोकतंत्र की हार का शोक मना रहा : राहुल गांधी 
    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक में सरकार बना रही भाजपा पर करारा हमला बोला है. राहुल गांधी ने एक ट्वीट कर कहा कि बीजेपी स्पष्ट बहुमत न होने के बावजूद कर्नाटक में सरकार बनाने पर अड़ी है. यह संविधान के साथ मजाक है. आज जब भाजपा अपनी 'पवित्र' जीत का जश्न मना रही है, तब दूसरी तरफ भारत लोकतंत्र की हार पर शोक मनाएगा.
  • बंगाल में पंचायत चुनाव में तृणमूल की भारी जीत, भाजपा मुख्य प्रतिद्वंद्वी बनकर उभरी
    पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने राज्य में हुए पंचायत चुनावों में भारी जीत दर्ज की. रात 10 बजे तक घोषित नतीजों के अनुसार तृणमूल ग्राम पंचायतों में 20,441 सीटें जीत चुकी है. मुख्य प्रतिद्वंद्वी के रूप में भाजपा उभरी है लेकिन उसके सीटों की संख्या तृणमल की तुलना में काफी कम है.
  • कर्नाटक में राजनैतिक उठापटक के बीच अरुण जेटली के ट्वीट को 'हथियार' बना रहा है विपक्ष
    विपक्षी दलों ने केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का वर्ष 2017 में किया गया एक ट्वीट भी सामने रखा, जिसमें उन्होंने तर्क दिया था कि सरकार बनाने का मौका सबसे पहले बड़े गठबंधन को दिया जाना चाहिए, सबसे बड़ी पार्टी को नहीं.
  • कर्नाटक: वो 'रिसार्ट' जहां ठहरेंगे कांग्रेस के विधायक
    ​अब कांग्रेस अपने विधायकों को टूटने से बचाने के लिए एक रिसॉर्ट में ले जा रही है. एगल्टन नाम का यह रिसार्ट बंगलुरु में है. आपको बता दें कि ये वही रिसॉर्ट है जहां गुजरात में राज्यसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने अपने विधायकों को रखा गया था. कांग्रेस की कोशिश है कि उसके विधायक भाजपा के संपर्क में न आएं. ताकि बहुमत के आंकड़े में कोई दिक्कत न हो. 
  • कर्नाटक चुनाव परिणाम 2018: BJP ऐसे बना सकती है सरकार, ये हैं 10 आधार
    कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों में से 222 सीटों पर हुए चुनाव में BJP को 104, कांग्रेस को 78, JDS गठबंधन को 38 और अन्य को दो सीटें मिली हैं. कोई भी दल सरकार बनाने के लिए ज़रूरी 112 सीटों के जादुई आंकड़े तक नहीं पहुंच पाया है. इसके साथ ही जोड़-तोड़ की कोशिशें भी शुरू हो गई हैं. कांग्रेस जहां JDS को समर्थन देकर सरकार बनाने का दावा कर रही है, वहीं सर्वाधिक सीटें हासिल करने वाली BJP भी ताल ठोक रही है. BJP का दावा है कि हर हाल में सरकार उसी की बनेगी. इसकी कई वजहें भी हैं. आइए, हम आपको बताते हैं कि BJP किन स्थितियों में कर्नाटक में सरकार बना सकती है...
  • कर्नाटक चुनाव रिजल्ट 2018: मतगणना स्थल भारी पुलिस बल तैनात, थोड़ी देर में शुरू होगी गणना 
    Karnataka Election Result 2018: कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए मतों की गिनती बस थोड़ी देर में शुरू होगी. मतगणना स्थल पर सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है. भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किये गए हैं. जो हर गतिविधि पर नजर रख रहे हैं. गौरतलब है कि राज्य की 224 सदस्यीय विधानसभा की 222 सीटों पर 12 मई को मतदान हुआ था.
  • क्या कर्नाटक में कांग्रेस को समर्थन देगी जेडीएस, औरंगाबाद में तनाव बरकरार, अब तक की 5 बड़ी खबरें
    कर्नाटक में मतदान प्रक्रिया पूरी होने के बाद रिजल्ट को लेकर कयास लगने शुरू हो गए हैं. तमाम एग्जिट पोल त्रिशंकु विधानसभा की ओर संकेत कर रहे हैं. ऐसे में  पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी की जनता दल सेक्युलर को 'किंगमेकर' माना जा रहा है.
  • कर्नाटक चुनाव 2018: मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, भाजपा अधिकतम 60-70 सीटें जीत पाएगी
    कर्नाटक में मतदान के बीच कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि भाजपा अधिकतम 60-70 सीटों से ज्यादा नहीं जीत पाएगी. 150 तो भूल जाइये. वे सिर्फ सरकार बनाने का सपना देख रहे हैं. मल्लिकार्जुन खड़गे का यह बयान कर्नाटक में भाजपा के मुख्यमंत्री उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा के उस बयान के बाद आया जिसमें उन्होंने 150 से ज्यादा सीटें हासिल करने का दावा किया था.
  • कर्नाटक चुनाव पर बारिश का साया, जल्द वोट डालने की अपील
    कर्नाटक में मतदान प्रक्रिया शुरू हो गई है. मौसम विभाग ने आज कर्नाटक के कई हिस्सों में बारिश की आशंका जताई है. हवाएं भी चलने की संभावना है. ऐसे में अधिकारियों ने मतदाताओं से जल्द से जल्द वोट डालने की अपील की है. एएनआई के अनुसार मौसम विभाग के वैज्ञानिक सीएस पाटिल ने कहा कि आज कर्नाटक के कई हिस्सों में बारिश की संभावना है.
12345»

Advertisement