NDTV Khabar

जितिन प्रसाद: यूपी चुनाव के वीआईपी उम्मीदवारों में से एक

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जितिन प्रसाद: यूपी चुनाव के वीआईपी उम्मीदवारों में से एक
नयी दिल्‍ली: जितिन प्रसाद के पिता जितेन्द्र प्रसाद भारत के प्रधानमंत्री राजीव गांधी (1991)  और पी.वी.नरसिम्हा राव (1994) के राजनितिक सलाहकार रह चुके हैं. इतना ही नहीं वह उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं, ऐसे में जितिन प्रसाद का राजनीति में आना लाजमी था. जितिन को कांग्रेस ने शाहजहांपुर की तिलहर सीट से टिकट दिया है.

शाहजहांपुर, उत्तर प्रदेश में जन्मे जितेंद्र प्रसाद की मां का नाम कांता प्रसाद है और वह हिमाचल प्रदेश की रहने वाली हैं. इनके दादा ज्योति प्रसाद कांग्रेस पार्टी के सदस्य थे. जितिन ने अपनी शुरूआती पढ़ाई देहरादून, उत्तराखंड के दून पब्लिक स्कूल से की थी. उन्‍होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से बी.कॉम तथा अंतर्राष्ट्रीय प्रबंधन संस्थान से MBA भी किया. जितिन प्रसाद ने फरवरी 2010 में नेहा सेठ से शादी की थी.

टिप्पणियां
जितिन प्रसाद ने अपने राजनीतिक करियर की शुरूआत साल 2001 में की थी. इस समय वह भारतीय युवा कांग्रेस में सचिव बने थे. इसके बाद 2004 में उन्‍होंने अपने गृह लोकसभा सीट शाहजहांपुर से 14वीं लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की. साल 2008 में पहली बार जितिन प्रसाद केन्द्रीय राज्य इस्पात मंत्री नियुक्त किए गए थे.

इसके बाद 2009 में जितिन प्रसाद ने 15वीं लोकसभा चुनाव धौरहरा सीट से लड़े और विजयी रहे. जितिन प्रसाद 2009- 18 जनवरी 2001 तक सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय, 19 जनवरी 2011- 28 अक्टूबर 2012 तक पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय तथा 28 अक्टूबर 2012 - मई 2014 तक मानव संशाधन एवं विकास मंत्रालय और यूपीए सरकार में केन्द्रीय राज्यमंत्री रह चुके हैं.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement