NDTV Khabar

नारद राय: क्‍या इस बार भी बलिया सीट पर जमा पाएंगे कब्‍जा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नारद राय: क्‍या इस बार भी बलिया सीट पर जमा पाएंगे कब्‍जा
नयी दिल्‍ली:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ कैबिनेट में मंत्री रहे नारद राय अब बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का दामन थाम चुके हैं. नारद राय को मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव का करीबी माना जाता है. नारद राय बलिया से बसपा की टिकट पर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं.

अंबिका चौधरी के बाद मुलायम सिंह यादव के सबसे करीबी रहे नारद राय बलिया सदर के विधायक हैं. लेकिन इस बार मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने नारद राय का चुनाव का टिकट न देकर लक्ष्मण गुप्ता को पार्टी का टिकट दे दिया है.

टिप्पणियां

इस सीट पर समाजवादी पार्टी का कब्जा जमाने वाले नारद राय के बीएसपी में शामिल होने के बाद भी यह सीट सपा के कब्‍जे में रहती है या नहीं यह देखना काफी दिलचस्‍प होगा. इस सीट से इस बार का मुकाबला काफी रोचक होने वाला है. इस सीट से बीएसपी के नारद राय और समाजवादी पार्टी के लक्ष्मण गुप्ता आमने- सामने हैं.


इस सीट पर 2002 से 2007 तक कौमी एकता दल का राज था. 2007 के विधानसभा चुनाव में नारद राय ने रामजी गुप्ता को हराया था. रामजी गुप्ता पांच साल से इस सीट पर विधायक रहे‌ थे. तबसे लेकर आजतक यह सीट सपा के पास है. बलिया जिलाभारतीय राज्य उत्तर प्रदेश में सबसे पूर्वी जिला है, जिसका मुख्यालय बलिया शहर है. बलिया सन् 1886 मे गाजीपुर से अलग हुआ था. ये उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों में से एक है. यूपी विधानसभा में इस सीट का नंबर 361 है. बलिया जिले के अंतर्गत सात विधानसभा सीटें आती हैं. इनके नाम हैं:- बलिया नगर, रासरा, बांसडीह, सिकंदरपुर, बेल्थारा रोड, फेफाना और बैरिया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement