NDTV Khabar
होम | राजनीति

राजनीति

  • राहुल गांधी के लिए गद्दी संभाले रखना सोनिया गांधी के लिए हुआ मुश्किल
    दशकों तक गांधी परिवार की एकछत्र भूमिका के चलते कांग्रेस को राजनैतिक दल के स्थान पर पारिवारिक संगठन की तरह चलाए जाने का आरोप लगाने का अवसर आलोचकों को मिलता रहा. यह आप्रासंगिक-सा हो गया कि कांग्रेस चुनाव कब जीतेगी. अब, पार्टी मशीनरी का अभाव तथा मतदाताओं व पार्टी के ही एक हिस्से द्वारा गांधी परिवार के नेतृत्व को खारिज कर दिया जाना उजागर हो चुका है.
  • चुनावों में हार पर  कांग्रेस में कलह: कपिल सिब्बल के बाद चिदंबरम ने भी उठाए सवाल
    बिहार विधानसभा चुनाव और हाल में हुए उपचुनावों में मिली हार के बाद अब एक बार फिर कांग्रेस में अंदरूनी खींचतान खुलकर सामने आ गई है. सोमवार को कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने कांग्रेस लीडरशिप पर सवाल उठाया. अब लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chaudhary) ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा है कि जिन नेताओं को लगता है कि कांग्रेस सही पार्टी नहीं है वे नई पार्टी बना लें या दूसरी पार्टी को ज्वाइन कर लें. विवाद की कड़ी में आज पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम का एक बयान और जुड़ गया. उन्होंने हार की समीक्षा करने की जरूरत बताई.  
  • कपिल सिब्‍बल पर सलमान खुर्शीद ने साधा निशाना, कहा-सत्‍ता के लिए कोई शॉर्टकट नहीं
    खुर्शीद ने जोर देकर कहा, 'यदि वोटर उन उदारवादी मूल्‍यों को अहमियत नहीं दे रहे जिनका हम संरक्षण कर रहे हैं जो हमें सत्‍ता में आने के लिए शॉर्टकट तलाश करने के बजाय लंबे संघर्ष के लिए तैयार रहना चाहिए. ' अपने पोस्‍ट में खुर्शीद ने लिखा, ''सत्‍ता से बाहर किया जाना सार्वजनिक जीवन में आसानी से स्‍वीकार नहीं किया जा सकता लेकिन यदि यह मूल्‍यों की राजनीति का परिणाम है तो इसे सम्‍मान के साथ स्‍वीकार किया जाना चाहिए....
  • दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार नमक हराम की श्रेणी में आ गई : मनोज तिवारी
    दिल्ली मैं कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर तेजी से बढ़ रहा है. इसके लिए एक तरफ दिल्ली (Delhi) के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra jain) जहां अपनी दलील दे रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ दिल्ली के मुख्यमंत्री (Arvind Kejriwal) फिर से लॉकडाउन की बात कर रहे हैं. दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) ने आज बनारस में थे. बीजेपी (BJP) नेता मनोज तिवारी ने कोरोना के मामले बढ़ने के लिए अन्य राज्यों से आ रहे लोगों को जिम्मेदार ठहराने पर दिल्ली सरकार को निशाना बनाया. उन्होंने एनडीटीवी से बातचीत में कहा कि दिल्ली की आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार नमक हराम की श्रेणी में आ गई है. वह जिनका दिया हुआ नमक खा रही है, जिनके कारण सत्ता में है, उन्हीं को बार-बार चोट पहुंचा रही है. मनोज तिवारी ने यह बात दिल्ली में रह रहे यूपी, बिहार और झारखंड के लोगों के संदर्भ में कही.
  • सुशील मोदी पर नीतीश कुमार ने कहा- उनकी कमी खलेगी, लेकिन
    बिहार (Bihar) के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी (Sushil Modi) की जगह अब बीजेपी (BJP) के दो अन्य नेताओं ने ले ली है. सुशील मोदी की कमी खलेगी. सुशील मोदी के पूर्व बॉस नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने आज यह बात कही. यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें मोदी की कमी अनुभव होगी- उन्होंने "हाँ" कहा. नीतीश कुमार ने आज 24 अन्य मंत्रियों के साथ मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली.  
  • अशोक गहलोत ने कपिल सिब्‍बल पर साधा न‍िशाना, कहा - आंतरिक मसलों को मीडिया में लाने की जरूरत नहीं थी
    अशोक गहलोत ने कपिल सिब्‍बल पर निशाना साधते हुए कहा है कि आंतरिक मसलों को मीडिया में लाने की जरूरत नहीं थी.गहलोत ने अपने ट्वीट में लिखा, 'कपिल सिब्‍बल को मीडिया के समक्ष हमारे आंतरिक मुद्दे का जिक्र करने की कोई जरूरत नहीं थी, इससे देश भर में पार्टी कार्यकर्ताओं की भावनाओं को ठेस पहुंची है.'
  • मां से मिले संघ के संस्कार, अब बिहार की पहली महिला उप मुख्यमंत्री बनीं रेणु देवी
    Bihar Oath Ceremony: कटिहार से चौथी बार निर्वाचित विधायक तारकिशोर प्रसाद को रविवार को बीजेपी विधानमंडल दल का नेता और बेतिया से पांचवी बार विधायक चुनी गईं रेणु देवी (Renu Devi) को उपनेता चुना गया. बाद में इन दोनों को बिहार का उप मुख्यमंत्री (Deputy CM) बनाने का फैसला लिया गया. नीतीश कुमार (Nitish Kumar) नीत नई एनडीए सरकार में तारकिशोर प्रसाद (Tarkishore Prasad) और रेणु देवी ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. रेणु देवी अति पिछड़ा वर्ग के तहत नोनिया समुदाय से आती हैं. रेणु देवी ने शपथ लेकर बिहार की पहली महिला उप मुख्यमंत्री बनने का इतिहास रच दिया है.
  • कई उतार-चढ़ाव के बावजूद नीतीश कुमार का राजनीतिक कद लगातार बढ़ता गया
    नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने एक बार फिर मुख्यमंत्री (Chief Minister) के रूप में ताजपोशी के साथ बिहार (Bihar) की सत्ता संभाल ली है. वे पूर्व में केंद्रीय रेल मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री पद का सफर तय कर चुके हैं. वैसे तो नीतीश कुमार 70 के दशक में छात्र जीवन में ही जयप्रकाश नारायण के संपूर्ण क्रांति आंदोलन के दौरान राजनीतिक क्षेत्र में सक्रिय हो गए थे लेकिन उन्होंने मुख्यधारा की राजनीति में साल 1985 में कदम रखा. वे इस साल पहली बार विधायक चुने गए थे. इसके बाद कई उतार-चढ़ाव के बाद भी नीतीश का राजनीतिक कद लगातार बढ़ता गया. वे सांसद बने, केंद्रीय रेल मंत्री बने और फिर बिहार के मुख्यमंत्री बने. उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में आज सातवीं बार शपथ ग्रहण की. 
  • बीजेपी और संघ परिवार से बहुत कुछ मिला, कार्यकर्ता का पद कोई नहीं छीन सकता : सुशील मोदी
    बिहार की नई सरकार में उप मुख्यमंत्री पद पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी (Sushil Modi) की जगह तारकिशोर प्रसाद (Tarkishore Prasad) लेंगे. सुशील मोदी ने रविवार को कहा कि उन्हें बीजेपी और संघ परिवार (RSS) से बहुत कुछ मिला है और एक कार्यकर्ता का पद उनसे कोई छीन नहीं सकता. नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की जनता दल यूनाइटेड (JDU) के साथ बीजेपी (BJP) की गठबंधन (NDA) सरकार में सुशील कुमार मोदी लगातार उप मुख्यमंत्री रहे हैं लेकिन इस बार सरकार गठन की कवायद के बीच उप मुख्यमंत्री पद को लेकर संशय बना रहा. सुशील मोदी को केंद्रीय कैबिनेट में भेजे जाने की खबर आई तो उप मुख्यमंत्री के नाम को लेकर सवाल उठे. बाद में तय हो गया कि बीजेपी एमएलए तारकिशोर प्रसाद उप मुख्यमंत्री बनेंगे.
  • तारकिशोर प्रसाद होंगे बिहार के अगले उप मुख्यमंत्री, सुशील मोदी को केंद्रीय कैबिनेट में मिलेगी जगह
    बिहार (Bihar) की एनडीए (NDA) सरकार में लंबे अरसे से उप मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी संभाल रहे सुशील मोदी (Sushil Modi) को अब  केंद्र सरकार की कैबिनेट में नई जिम्मेदारी दी  जा रही है. उनकी जगह बिहार के अगले उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद (Tarkishore Prasad) होंगे.  ताड़किशोर प्रसाद कटिहार से बीजेपी के विधायक चुने गए हैं. सुशील मोदी को केंद्रीय कैबिनेट में जगह मिलेगी. यानी कि नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और सुशील मोदी की जोड़ी अब जुदा हो जाएगी. नीतीश कुमार कल मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. 
  • कैलाश विजयवर्गीय  बोले, 'असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी के बंगाल से चुनाव लड़ने से BJP को नहीं पड़ेगा फर्क'
    बंगाल में अगले साल अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने की उम्मीद है जहां विपक्षी भाजपा के सामने ममता बनर्जी की अगुवाई वाली सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस का गढ़ भेदने की चुनौती है. कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, “ओवैसी (की पार्टी) बंगाल चुनावों में उतरें या नहीं उतरें, लेकिन हमें विश्वास है कि वहां दो तिहाई बहुमत से हमारी सरकार बनेगी.”
  • मध्यप्रदेश: डबरा सीट पर ज्योतिरादित्य सिंधिया की कट्टर समर्थक मंत्री इमरती देवी चुनाव हारीं
    Madhya Pradesh by-election Result: मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर उपचुनाव के परिणामों में अधिकांश भाजपा उम्मीदवार भले चुनाव जीत गए हों लेकिन बीजेपी नेता और राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव परिणाम में करारा झटका लगा है. उनकी कट्टर समर्थक प्रदेश सरकार में मंत्री इमरती देवी ग्वालियर जिले की डबरा सीट से चुनाव हार गईं. बीजेपी की उम्मीदवार इमरती देवी तब चर्चा में आई थीं जब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने चुनाव प्रचार के दौरान एक चुनावी सभा में उन्हें कथित तौर पर ‘‘आइटम’’ कहा था. कमलनाथ की इस टिप्पणी पर राजनीतिक हल्कों में काफी जुबानी जंग भी हुई थी.
  • बिहार में बीजेपी और नीतीश कुमार का राज बरकरार, तेजस्वी की आरजेडी बनी सबसे बड़ी पार्टी
    Bihar Assembly Results 2020: बिहार विधानसभा की सभी 243 सीटों के परिणाम बुधवार को तड़के चार बजे के बाद घोषित हो गए. इस चुनाव में नेशनल डेमोक्रेटिक एलायंस (NDA) को साफ बहुमत मिल चुका है. सबसे अंत में एक सीट का परिणाम घोषित हुआ जिस पर जनता दल यूनाईटेड (JDU) ने जीत हासिल की. एनडीए को 125 और महागठबंधन (Mahagathbandhan) को 110 सीटें मिली हैं. एनडीए ने 125 सीटें जीतकर बहुमत का जादुई आंकड़ा प्राप्त कर लिया. तेजस्वी यादव की आरजेडी 75 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बन गई है. बीजेपी 74 सीटों के साथ दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनी है.
  • Bihar Election Results 2020: वोटिंग शुरू होने के पहले तेज प्रताप यादव ने किया ट्वीट-तेजस्वी भवः बिहार!
    Bihar Election Result: आरजेडी के नेता तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav)ने अपने, बिहार के और महागठबंधन के चुनावी भविष्‍य का फैसला होने के पहले एक संक्षिप्‍त और सारगर्भित ट्वीट किया है. वोटिंग की शुरुआत होने से ठीक पहले उन्‍होंने अपने ट्वीट में लिखा- तेजस्वी भवः बिहार!
  • मेघालय में कांग्रेस आक्रामक, आज विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव पेश करेगी
    कांग्रेस (Congress) मंगलवार को मेघालय विधानसभा (Meghalaya Assembly) में एनपीपी (NCP) के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव (No-confidence motion) पेश करेगी. विपक्ष के नेता मुकुल संगमा ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार सभी मोर्चों पर विफल रही है. कांग्रेस नेता ने कहा कि कॉनराड संगमा सरकार राज्य के हितों की रक्षा करने में विफल रही है.
  • नीतीश के 'अंतिम चुनाव' संबंधी संदेश पर शिवानंद तिवारी की दोटूक, 'प्रचार के अंतिम दिन यह उनका अंतिम अस्‍त्र'
    शिवानंद तिवारी ने कहा, 'भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ गठबंधन से अलग होने के बाद नीतीश जी ने बिहार विधानसभा में घोषणा की थी कि मैं मिट्टी में मिल जाऊंगा लेकिन फिर इनके (भाजपा के) साथ नहीं जाऊंगा. आज उन्हीं नीतीश ने बिहार की जनता को संदेश दिया कि यह मेरा अंतिम चुनाव है. इस प्रकार उन्होंने बिहार के मतदाताओं पर 'भावनात्मक तीर' चलाया है. चुनाव प्रचार के अंतिम दिन यह उनका अंतिम अस्त्र था.
  • बिहार में नीतीश की सभा के दौरान फेंके गए प्‍याज, सीएम बोले-खूब फेंको, फेंकते रहो
    Bihar Assembly polls: मधुबनी के हरलाखी में आयोजित जनसभा में जब नीतीश नौकरियों की बात कर रहे थे उसी दौरान भीड़ से किसी ने उन पर प्याज फेंकी. इसपर सीएम नीतीश मंच से ही नाराज हो गए और बोलने लगे- खूब फेंको, फेंकते रहो, इसका कोई असर नहीं पड़ेगा.'
  • शत्रुघ्न सिन्हा ने बताया बिहार चुनाव के नतीजों के बाद कौन हो जाएगा 'खामोश'..
    Bihar Assembly Polls: शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने यह भी कहा, ‘‘बिहार में महागठबंधन की जीत सुनिश्चित है क्योंकि लोग ऐसा ही चाहते हैं. युवा दिलों की धड़कन राहुल गांधी और तेजस्वी यादव को लेकर जो उत्साह है, मैं तो यही कहूंगा कि यह देखकर आपको जीत का विश्वास हो जाएगा.’’
  • नीतीश के राज में लेबर कमाई, युवा पढ़ाई और बीमार दवाई के लिए बाहर जाने को मजबूर : तेजस्‍वी
    उन्‍होंने नीतीश सरकार पर निशाना साधा और कहा कि लेबर कमाई, युवा पढ़ाई और बीमार दवाई के लिए बाहर जाने को मजबूर है. बिहार का पैसा बाहर जा रहा है. पीएम नरेंद्र मोदी की की ओर से चुनाव प्रचार के दौरान 'युवराज ऑफ जंगल राज' के संबोधन पर उन्‍होंने कहा कि लोग उम्‍मीद कर रहे थे कि वे बाढ़ के बारें में बोलें, बेराजगारी के बारे में बोलें, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.
  • ट्रंप और बाइडेन में मुकाबला टाई हुआ तो अमेरिकी संसद तय करेगी नया राष्ट्रपति
    प्रत्याशियों में बराबर वोट या बहुमत से कम वोट पर अमेरिकी संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा (House of Representatives) में बहुमत से निर्णय होता है कि कौन अगला राष्ट्रपति होगा. उप राष्ट्रपति पद के लिए सीनेट (US Senate ) में वोटिंग होती है. 
12345»

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com