NDTV Khabar
होम | राजनीति

राजनीति

  • मध्यप्रदेश: विधानसभा में शुक्रवार दोपहर 2 बजे किया जाएगा फ्लोर टेस्ट
    मध्य प्रदेश में जारी सियासी संकट के बीच शुक्रवार को दोपहर 2 बजे विधानसभा में फ्लोर टेस्ट किया जाएगा. इससे पहले गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने कमलनाथ सरकार को शुक्रवार शाम बजे से पहले फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित करने को कहा था. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मध्यप्रदेश में अनिश्चितता की स्थिति को फ्लोर टेस्ट द्वारा प्रभावी ढंग से हल किया जाना चाहिए. कोर्ट ने सात दिशा-निर्देश दिए हैं इनमें, मध्यप्रदेश असेंबली सेशन 20 मार्च को बुलाया जाए, केवल एक एजेंडा, क्या सरकार को बहुमत है? हाथ उठाकर हो मतदान, वीडियोग्राफी और लाइव टेलीकास्ट किया जाए, शांतिपूर्ण तरीके से मतदान हो, शाम 5 बजे तक पूरा होगा मतदान और एमपी व कर्नाटक के डीजीपी को सुनिश्चित करना चाहिए कि सत्र की व्यवस्था से 16 विधायकों पर कोई प्रतिबंध ना हों. अगर वे आना चाहते हैं तो सुरक्षा दी जाए.
  • क्या कांग्रेस की सत्ता को बचा पाएंगे सरकार के यह फैसले, तीन नए जिले; नेताओं की नियुक्तियां
    मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार ने 3 नए जिलों नागदा, मैहर और चाचौड़ा को सैद्धांतिक रूप से मंजूरी दे दी, जिसके परिणामस्वरूप राज्य में 55 जिले हो जाएंगे. मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में राज्य मंत्रिमंडल ने चार दिनों में दूसरी बार बैठक की, जहां दूसरे प्रस्तावों के अलावा तीन नए जिलों के निर्माण के लिए मंजूरी दी गई.
  • मध्यप्रदेश : भोपाल में बीजेपी और कांग्रेस कार्यकर्ता भिड़े, हाथापाई हुई; पुलिस ने बलप्रयोग किया
    मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में धारा 144 लगे होने के बावजूद बड़ी संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने बीजेपी दफ्तर का घेराव किया. जहां दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई हुई. उन्हें रोकने की कोशिश में पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा.
  • Coronavirus: भीड़भाड़ न करने का आदेश देने वाले बीएस येदियुरप्पा खुद भीड़ का हिस्सा बन गए
    कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा एक नए विवाद से घिर गए हैं. उन्होंने एक आदेश के तहत किसी भी तरह की भीड़भाड़ पर प्रतिबंध लगा दिया था, जिसमें शादी भी शामिल है. अब खुद मुख्यमंत्री और गृह मंत्री बेलगावी में एक बीजेपी नेता की बेटी की शादी में शामिल हुए. इस शादी में काफी भीड़ थी. नियम तोड़ने में कांग्रेस भी पीछे नहीं रही. कांग्रेस की एैक बैठक हुई जिसमें भारी भीड़ जुटी. 
  • मध्यप्रदेश : मुख्यमंत्री कमलनाथ मिले राज्यपाल से, कहा-हम अपना बहुमत साबित करेंगे
    मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज शाम को राज्यपाल लालजी टंडन से राजभवन पहुंचकर मुलाकात की. कमलनाथ ने इस मुलाकात के बाद कहाकि ''मैंने अभी राज्यपाल महोदय से वर्तमान राजनीतिक परिस्थितियों पर चर्चा की है. आज बजट सत्र में उनके अभिभाषण पर उन्हें धन्यवाद अर्पित किया है. मैंने उन्हें कहा है कि संविधान के दायरे व नियम प्रक्रिया के तहत हम हर चीज में राजी हैं.'' 
  • सुप्रीम कोर्ट में मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार का फ्लोर टेस्ट टलने के मामले पर सुनवाई कल
    मध्यप्रदेश विधानसभा में कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) द्वारा बहुमत परीक्षण को टाले जाने के मामले को लेकर बीजेपी (BJP) की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) मंगलवार को सुनवाई करेगा. जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस हेमंत गुप्ता की बेंच इस मामले की सुनवाई करेगी. सुनवाई सुबह सवा ग्यारह बजे होने की संभावना है. याचिका में 12 घंटे के भीतर फ्लोर टेस्ट कराने की मांग की गई है.
  • सिंधिया खेमे के 16 बागी विधायकों ने स्पीकर को फिर से भेजे इस्तीफे, कहा- मंजूर कीजिए, क्योंकि...
    मध्यप्रदेश कांग्रेस (MP Congress) के ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) खेमे के 16 बागी विधायकों ने एक बार फिर विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति (Narmada Prasad Prajapati) को अपने इस्तीफे भेजे हैं. इन विधायकों ने स्पीकर से कहा है कि व्यक्तिगत तौर पर मिलना संभव नहीं है. जैसे छह विधायकों के इस्तीफे स्वीकार किए हैं, वैसे ही हमारे इस्तीफे भी स्वीकार करें. गौरतलब है कि विधानसभा स्पीकर ने शनिवार को मध्यप्रदेश के छह मंत्रियों के विधानसभा सदस्यता से त्याग पत्र मंजूर कर लिए हैं.
  • मध्य प्रदेश क्या आज बड़े राजनीतिक मोड़ से रूबरू होगा? स्पीकर ने दिए कुछ और ही संकेत
    MP Govt Crisis : मध्यप्रदेश में 15 साल बाद, 15 महीने से सत्ता में बैठी कांग्रेस (Congress) का भविष्य आज तय हो सकता है. राज्यपाल के आदेश के मुताबिक आज बहुमत परीक्षण होना है. हालांकि कैबिनेट मंत्रियों के बयान और स्पीकर के इशारों से लग रहा है कि बहुमत परीक्षण टल भी सकता है. इस बीच जयपुर में रुके कांग्रेस के विधायक वापस आ चुके हैं. दूसरी तरफ गुरुग्राम गए बीजेपी (BJP) के विधायक आज देर रात लौट चुके हैं.
  • मध्यप्रदेश : ज्योतिरादित्य के समर्थक छह मंत्रियों के इस्तीफे मंजूर किए गए, कांग्रेस ने जारी किया व्हिप
    मध्यप्रदेश विधानसभा (Madhya Pradesh Assembly) के अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति (Narmada Prasad Prajapati) ने ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) का समर्थन करने वाले छह पूर्व मंत्रियों के इस्तीफे स्वीकार कर लिए हैं. इन मंत्रियों ने 10 मार्च को इस्तीफे दिए थे. अध्यक्ष ने मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रभुराम चौधरी, प्रद्युम्न तोमर, तुलसीराम सिलावट और इमरती देवी के इस्तीफे स्वीकार कर लिए हैं.
  • क्या बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की बात नहीं सुनते बीजेपी के यह मंत्री?
    बिहार में यह बात किसी से छिपी नहीं है कि जब से नीतीश कुमार ने अपनी पुरानी सहयोगी पार्टी बीजेपी के साथ एक बार फिर सरकार बनाई है, वो चाहे मुजफ्फरपुर इलाके में दिमागी बुखार से डेढ़ सौ से अधिक बच्चों की मौत हो या पटना में जलजमाव, उनकी फजीहत के पीछे किसी न किसी भाजपा के मंत्री की नाकामी रही है.
  • मध्यप्रदेश : कमलनाथ सरकार के मंत्री ने 'शत्रु' के विनाश के लिए किया यह खास अनुष्ठान
    MP Govt Crisis: मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) पर संकट के बादल छाये हुए हैं. कांग्रेस (Congress) सरकार के पतन के हालात बन चुके हैं. ऐसे समय में राज्य सरकार के कैबिनेट मंत्री पीसी शर्मा (PC Sharma) ने शनिवार को देवी की शरण में जाकर उन्हें अनुष्ठान करके मनाने की कोशिश की. उन्होंने आगर मालवा जिले के नलखेड़ा में खास किस्म का 'शत्रु विनाशक हवन' किया. यह हवन नलखेड़ा के देवी बगलामुखी के मंदिर में किया गया. ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के कांग्रेस से विदा लेने, बीजेपी (BJP) में शामिल होने और उनके समर्थक मंत्रियों, विधायकों के भी सरकार का साथ छोड़ते हुए इस्तीफे देने से मध्यप्रदेश सरकार डगमगाने लगी है. सरकार को संकट से उबारने के लिए मंत्री गण अपने-अपने तरीके से प्रयास कर रहे हैं.
  • दिल्ली विधानसभा में NPR और NRC के खिलाफ प्रस्ताव पारित, केजरीवाल ने कहा- मेरी पूरी कैबिनेट के पास बर्थ सर्टिफिकेट नहीं
    दिल्ली विधानसभा में आज नेशनस पॉपुलेशन रजिस्टर (NPR) और राष्ट्रीय नागरिकता पंजी (NRC) के खिलाफ प्रस्ताव पारित किया गया. अरविंद केजरीवाल ने विधानसभा में अध्यक्ष से कहा कि ''अपनी नागरिकता साबित करने के लिए मेरे पास भी जन्म प्रमाण पत्र नहीं है. मेरी बीवी के पास भी नहीं है, मेरे मां-बाप के पास भी नहीं है. बस बच्चों के हैं. क्या दिल्ली के मुख्यमंत्री और उनके परिवार को डिटेंशन सेंटर में भेज दिया जाएगा? मेरी पूरी कैबिनेट के पास जन्म प्रमाण पत्र नहीं है. अध्यक्ष महोदय आपके पास भी नहीं है.''
  • Exclusive : मध्यप्रदेश के बागी विधायकों को चाहिए CRPF की सुरक्षा, विधानसभा स्पीकर को लिखे पत्र
    कांग्रेस (Congress) की कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) से बगावत करने वाले विधायकों ने विधानसभा में केंद्रीय बल की सुरक्षा की मांग की है. उन्होंने इस बारे में विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखे हैं. इन पत्रों को लेकर विधानसभा सचिवालय की ओर से मध्यप्रदेश पुलिस के महानिदेशक को पत्र लिखा गया है. डीजीपी से केंद्रीय सुरक्षा बल का इंतजाम करने के लिए कहा गया है. विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने गुरुवार को बागी विधायकों से शुक्रवार और शनिवार को उनके सामने पेश होने को कहा था. इसके लिए इन विधायकों को नोटिस भेजे गए हैं.
  • मध्यप्रदेश : विधानसभा स्पीकर ने कांग्रेस के 22 बागी विधायकों में से 13 को नोटिस भेजा
    मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने कांग्रेस के इस्तीफा देने वाले 22 विधायकों में से 13 को नोटिस जारी किया है. उन्हें शुक्रवार और शनिवार को उनके सामने पेश होने को कहा गया है. विधानसभा के प्रिंसिपल सेक्रेटरी एपी सिंह ने इसकी पुष्टि की है. उन्होंने कहा है कि विधायकों से उपस्थित होकर यह स्पष्ट करने के लिए कहा गया है कि उन्होंने इस्तीफा स्वेच्छा से दिया है या किसी दबाव के कारण दिया है.
  • दिग्विजय का राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन, कांग्रेस संकट में, आंकड़ों से बीजेपी जीत सकती है बाजी
    मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने 26 मार्च को होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिए गुरुवार को नामांकन दाखिल किया. उधर बुधवार को बीजेपी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को पार्टी ज्वाइन करने के चंद घंटों बाद ही राज्यसभा चुनाव के लिए पार्टी का प्रत्याशी घोषित कर दिया था. बीजेपी ने गुरुवार को अपने दूसरे उम्मीदवार का नाम भी घोषित कर दिया. बीजेपी ने सुमेर सिंह सोलंकी को राज्यसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाकर आदिवासियों को साधने की कोशिश की है.
  • राजनीति में कोई 'सगा' नहीं! उन्हीं ज्योतिरादित्य के स्वागत में बिछी बीजेपी जिन्होंने कभी कहा था शिवराज..
    राजनीति में कोई किसी का सगा नहीं होता. यह बात ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के कांग्रेस (Congress) छोड़कर बीजेपी (BJP) ज्वाइन करने से ही नहीं बल्कि उनके आज भोपाल में हुए भव्य स्वागत से भी साफ हो गई. भोपाल में जहां ज्योतिरादित्य सिंधिया का जोरदार स्वागत वही बीजेपी कर रही थी जिसके नेता और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) के बारे में उन्होंने कहा था कि ‘ऐसा कोई सगा नहीं, जिसको इन्होंने ठगा नहीं.’ पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का गुरुवार को भोपाल आने पर ऐतिहासिक स्वागत हुआ. भगवा पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ता सिंधिया के स्वागत में बिछते हुए नजर आए. हवाई अड्डे से प्रदेश बीजेपी कार्यालय तक रैली निकाली गई.
  • मध्यप्रदेश के कांग्रेस विधायकों को बीजेपी ने बंधक बनाया, कांग्रेस ने लगाया आरोप; दिखाए वीडियो
    Madhya Pradesh Government Crisis: मध्यप्रदेश कांग्रेस ने बीजेपी पर आरोप लगाया है कि उसने उसके विधायकों को बंधक बनाया है. कांग्रेस ने कहा है कि उसके विधायकों के साथ मारपीट की गई. कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि वह इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगी.
  • ज्योतिरादित्य सिंधिया आज भोपाल जाएंगे, 13 को जमा करेंगे नामांकन पत्र
    भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया कल अपरान्ह 3 बजे विमान द्वारा भोपाल पहुंचेंगे. वे राजा भोज विमानतल से भाजपा कार्यालय पंडित दीनदयाल परिसर पहुंचेंगे.
  • कांग्रेस में अंतर्कलह उभरी, वरिष्ठ नेता ने कहा- पार्टी लीडरशिप के लिए खतरे की घंटी
    ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके समर्थकों के कांग्रेस छोड़ने के बाद कांग्रेस कई सवालों से जूझ रही है. मध्यप्रदेश कांग्रेस में अंदरूनी कलह से निपटने में नाकामी ने पार्टी के सामने एक बड़ी चुनौती खड़ी कर दी है. ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में शामिल होते ही प्रताप सिंह बाजवा ने एनडीटीवी से कहा कि "मध्यप्रदेश कांग्रेस में जो संकट खड़ा हुआ है वह कांग्रेस लीडरशिप के लिए एक खतरे की घंटी है. सिंधिया के जाने से कांग्रेस को बहुत नुकसान हुआ है. वह एक बड़े युवा नेता हैं...किसी भी स्टेट में जो कांग्रेस नेता मुख्यमंत्री बनता है वह किसी और के लिए कोई जगह ही नहीं छोड़ता है."
  • बीजेपी के इस दिग्गज नेता ने ज्योतिरादित्य के पार्टी में आने से नाराजगी की खबरों पर दिया यह जवाब
    बीजेपी (BJP) के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद प्रभात झा (Prabhat Jha) ने ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के बीजेपी ज्वाइन करने पर उनकी नाराजगी की खबरों को निरर्थक और निराधार बताया है. उन्होंने कहा है कि इन खबरों से उनका कोई संबंध नहीं है. उन्होंने यह भी कहा है कि इस शरारतपूर्ण खबर की वे भर्त्सना करते हैं. बीजेपी से झा की कथित नाराजगी को लेकर उन्होंने कहा है कि ''मेरी प्रमाणिकता, नैतिकता और पार्टी निष्ठा को कोई चुनौती नहीं दे सकता.''
12345»

Advertisement

 
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com