NDTV Khabar

नीतीश कुमार के 'दही-चूड़ा' से खुद को दूर रखेगी कांग्रेस, बीजेपी को निमंत्रित करने से नाराज

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नीतीश कुमार के 'दही-चूड़ा' से खुद को दूर रखेगी कांग्रेस, बीजेपी को निमंत्रित करने से नाराज

मकर संक्रांति पर पटना में सीएम नीतीश कुमार लालू प्रसाद यादव के घर पहुंचे.

खास बातें

  1. बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक चौधरी ने नाखुशी जाहिर की
  2. जदयू के नेताओं ने कहा कांग्रेस थोड़ी जल्दबाजी दिखा रही
  3. मकर संक्रांति पर लालू यादव के घर पहुंचे नीतीश कुमार
पटना:

जनता दल यूनाइटेड के रविवार को आयोजित चूड़ा-दही के भोज से कांग्रेस खुद को अलग रखेगी. कांग्रेस इस भोज में बिहार भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को निमंत्रण देने से नाखुश है.

हालांकि आधिकारिक रूप से कांग्रेस के नेता फिलहाल कुछ नहीं बोल रहे लेकिन बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक चौधरी का कहना है कि बिहार जनता दल के अध्यक्ष  वशिष्ठ नारायण सिंह जानते हैं कि आखिर बीजेपी को क्यों इस साल बुलाया गया. और यह उनका अधिकार है कि वे किसे बुलाएं, लेकिन पार्टी इस निर्णय से निश्चित रूप से खुश नहीं है.

हालांकि जनता दल यूनाइटेड के नेताओं का कहना है कि कांग्रेस थोड़ी जल्दबाजी दिखा रही है, क्योंकि न केवल बीजेपी बल्कि वामपंथी दलों के नेताओं को भी निमंत्रित किया गया है. निमंत्रित तो लालू यादव ने भी बीजेपी नेताओं को किया था, लेकिन कांग्रेस के नेताओं ने उस पर कोई तीखी प्रतिक्रिया नहीं दी. यह अलग बात है कि बिहार बीजेपी के नेताओं ने लालू यादव के चूड़ा-दही के भोज का यह कहकर निमंत्रण ठुकरा दिया कि लालू यादव ने खुद उन्हें निमंत्रित नहीं किया बल्कि अपने सहयोगियों से फोन करवाया. बिहार बीजेपी के नेता सुशील मोदी ने रविवार को जनता दल यूनाइटेड के भोज में जाने की पुष्टि करते हुए कहा है कि नीतीश कुमार के साथ उन लोगों के पुराने सम्बंध रहे हैं.
 
यह भी पढ़ें- दही-चूड़ा राजनीति! मकर संक्रांति पर नीतीश कुमार के भोज में बीजेपी नेता आमंत्रित

टिप्पणियां

जनता दल यूनाइटेड के नेता कहते हैं कि अपने विरोधियों को बुलाने की शुरुआत लालू यादव ने की है और उनकी पार्टी बस इस अच्छी परंपरा को आगे बढ़ा रही है. हालांकि शनिवार को लालू यादव द्वारा आयोजित भोज में बीजेपी के नेताओं के अलावा महागठबंधन के सभी नेता मौजूद थे. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बोध गया में काल चक्र फेस्टिवल के समापन समारोह में भाग लेने के बाद पटना वापस आने के बाद लालू यादव के घर पहुंचे. वहीं बीजेपी के नेता, पार्टी के विधायक रजनीश कुमार सिंह के घर पर भोज में जुटे.


कांग्रेस की घोषणा के बाद अब सबकी निगाहें जनता दल यूनाइटेड के रविवार के भोज पर रहेगी. सवाल है कि क्या कांग्रेस के मंत्री ही इससे अपने आपको अलग रखेंगे? पार्टी के विधायक भाग लेंगे या नहीं? जो भी हो, लेकिन निश्चित रूप से बिहार में मकर संक्रांति का भोज भी इस बात का सूचकांक बनता जा रहा है कि राज्य की राजनीति किस करवट बैठ रही है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... CAA पर फिलहाल रोक से SC का इनकार, केंद्र 4 हफ्ते में देगा जवाब, CJI बोले- एकतरफा रोक नहीं लगा सकते

Advertisement