NDTV Khabar
होम | राजनीति

राजनीति

  • बीजेपी अपने वादे पूरे करती है, अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनेगा : राजनाथ सिंह
    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कहा कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जाएगा. झारखंड में विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान वरिष्ठ भाजपा नेता ने पलामू में एक रैली में कहा, "भाजपा अपने वादे को पूरा करती है. लोग कहते थे कि भाजपा केवल वादे करती है लेकिन हमने सभी वादे पूरे किए हैं. अब (अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद) एक कानून है. अब देश में एक कानून है. हमने तीन तलाक को समाप्त करने के लिए कानून बनाया. अयोध्या में एक भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जाएगा."
  • महाराष्ट्र : बीजेपी नेतृत्व वाली सरकार बनवाने के लिए जुटे नारायण राणे
    महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे (Narayan Rane) उन प्रमुख लोगों में शुमार हैं जिन्हें भाजपा (BJP) ने किसी भी कीमत पर देवेंद्र फडणवीस सरकार के लिए बहुमत का बंदोबस्त करने के मोर्चे पर लगाया है. भाजपा कोटे से राज्यसभा सांसद राणे को इस मोर्चे पर लगाने की वजह यह है कि वह शिवसेना (Shiv Sena) और कांग्रेस (Congress) में लंबे समय तक रह चुके हैं. दोनों दलों में आज भी वरिष्ठ नेताओं से लेकर विधायकों तक से राणे के निजी रिश्ते हैं. कांग्रेस के नेताओं से भी उनके अच्छे संबंध माने जाते हैं.
  • सब साथी एमएलए छोड़कर वापस NCP में जा रहे, फिर भी अजित पवार क्यों अड़े? यह है उनकी ताकत का राज
    Maharashtra News : महाराष्ट्र में सरकार के गठन को लेकर जारी कशमकश के दौर में यह सवाल उठ रहा है कि वास्तव में क्या है बीजेपी (BJP) का गेम प्लान? बीजेपी का दावा है कि अब भी अजित पवार (Ajit Pawar) ही एनसीपी (NCP) विधानमंडल दल के नेता हैं. बीजेपी ने जयंत पाटिल की नियुक्ति को अवैध बताया है. बीजेपी के साथ गए अजित पवार के समर्थक विधायक एक-एक करके लौट रहे हैं लेकिन अजित पवार अब भी अपने फैसले पर अड़े हैं. उन्हें मनाने गए नेताओं को भी खाली हाथ लौटना पड़ा है. सवाल है कि अकेले अजित पवार के सहारे कैसे बीजेपी की नैया पार होगी?
  • महाराष्ट्र के राज्यपाल ने सोचा नहीं कि 'रात है ऐसी मतवाली तो सुबह का आलम क्या होगा', NDTV से बोले वरिष्ठ वकील
    सुप्रीम कोर्ट के महाराष्ट्र (Maharashtra) को लेकर फैसले के बाद वरिष्ठ वकील और संविधान के जानकार संजय हेगड़े ने कहा कि अभी मैच जारी है, यह कह सकते हैं कि कल पता लगेगा. सारे पत्र को देखकर कार्यवाही होगी. उन्होंने कहा कि राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी के फैसले को अनुचित कह सकते हैं, गैरकानूनी नहीं है. फैसला बाद में बदला जा सकता है. संजय हेगड़े ने NDTV से कहा कि इमरजेंसी तो थी नहीं, पर पुराना गाना है... 'रात है ऐसी मतवाली तो सुबह का आलम क्या होगा.' शायद राज्यपाल ने सुबह का आलम नहीं देखा है.
  • अजित पवार ने क्यों छोड़ा चाचा शरद का साथ? पढ़ें- इनसाइड स्टोरी
    विधानसभा चुनावों में पार्टी के प्रमुख शरद पवार के एक अन्य भाई के पोते रोहित पवार ने जीत दर्ज की. जानकारों की मानें तो रोहित के उदय से अजित पवार (Ajit Pawar) के अंदर असुरक्षा की भावना और बढ़ी.
  • अजित पवार के शपथ समारोह में मौजूद रहे NCP के नौ विधायक शरद पवार के पास लौटे
    महाराष्ट्र में शनिवार की सुबह अजित पवार के उपमुख्यमंत्री पद के शपथग्रहण समारोह में हिस्सा लेने वाले कम से कम नौ एनसीपी विधायकों ने शाम में पार्टी में वापसी करते हुए पार्टी प्रमुख शरद पवार के प्रति एकजुटता प्रकट की. बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने और एनसीपी के अजित पवार के उप मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के समारोह के दौरान ये विधायक राजभवन में मौजूद थे.
  • महाराष्ट्र में दोहराया जा रहा 41 साल पुराना इतिहास, अब चाचा की जगह भतीजा हुआ बागी
    महाराष्ट्र (Maharashtra) में राजनीतिक भूचाल लाने वाला आज का घटनाक्रम 41 साल पुरानी घटना की याद दिला रहा है. बस फर्क सिर्फ इतना है कि 41 वर्ष पहले जिस स्थान पर चाचा थे आज उस स्थान पर भतीजा है. चाचा ने तब मुख्यमंत्री पद हासिल किया था, भतीजे को उप मुख्यमंत्री पद मिला है. महाराष्ट्र में जैसे इतिहास दोहराया जा रहा है. चार दशक पहले जिस रास्ते पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) ने चले थे आज वही रस्ता उनके भतीजे अजित पवार (Ajit Pawar) ने अपनाया.
  • महाराष्ट्र सरकार का गठन : शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया
    महाराष्ट्र में सरकार के गठन का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करने पहुंची हैं. शिवसेना ने अपनी याचिका में मांग की है कि राज्यपाल के उस आदेश को रद्द कर दिया जाए जिसमें उन्होंने देवेंद्र फडणवीस को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था. याचिका में कहा गया है कि राज्यपाल का फैसला असंवैधानिक, मनमाना, गैरकानूनी और समानता के अधिकार का उल्लंघन है.
  • महाराष्ट्र में सरकार के गठन के बाद दिग्विजय सिंह ने शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी को दे डाली यह सलाह
    Digvijaya Singh: महाराष्ट्र में नाटकीय घटनाक्रम के बीच भाजपा के देवेंद्र फड़णवीस के मुख्यमंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता अजित पवार के उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने इस गठबंधन को असंवैधानिक बताते हुए शनिवार को कहा कि शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा (एनसीपी) को अपनी ताक़त ज़मीन पर दिखाकर मुंबई की सड़कों पर उतरना चाहिए. उन्होंने दावा किया कि अजित पवार अकेले इस भाजपा नीत नई सरकार में शामिल हुए हैं और राकांपा का कोई अन्य विधायक इस सरकार में शामिल नहीं होगा.
  • महाराष्ट्र में कैसे पलट गई बाजी, कैसे फिर से सीएम की कुर्सी पर पहुंचे फडणवीस? यह है पर्दे के पीछे का खेल
    महाराष्ट्र (Maharashtra) में जारी उठापटक के बीच बड़ा उलटफेर हुआ और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने दोबारा सीएम पद की शपथ ले ली. उनके साथ आए एनसीपी नेता अजित पवार ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ले ली. सुबह करीब आठ बजे राजभवन में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने दोनों नेताओं को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई. सत्ता के लिए बीजेपी (BJP) और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता अजित पवार के बीच हुई डील बहुत गोपनीय तरीके से हुई. वास्तव में महाराष्ट्र में शुक्रवार को एक तरफ शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे सीएम की कुर्सी पर बैठने का ख्वाब पूरा करने की तैयारी में जुटे थे तो दूसरी तरफ ठीक उसी वक्त देवेंद्र फडणवीस को फिर से सत्तासीन करने की कहानी लिखी जा रही थी.
  • सत्ता के लालची शिवाजी की बात न करें : रविशंकर प्रसाद
    महाराष्ट्र में सियासी उठा-पटक के बाद अब आरोपों का दौर शुरु हो गया है. शिवसेना और कांग्रेस की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद बीजेपी की ओर से केंद्रीय रविशंकर प्रसाद ने पत्रकारों से बातचीत में शिवसेना और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ''शरद पवार और कांग्रेस ने परिणाम के बाद बयान दिया था कि हमें विपक्ष में बैठने का जनमत मिला है. फिर ये विपक्ष में बैठने का जनमत कुर्सी के लिए मैच फिक्सिंग कैसे हो गया?''
  • महाराष्ट्र में सरकार बन जाने के बाद भी पेंच बरकरार
    खबरों के अनुसार, एनसीपी के विधायकों ने ब्लैंक समर्थन पत्र अजीत पवार को दिया था, जिसमें मुख्यमंत्री का नाम नहीं लिखा था. इस समर्थन पत्र के आधार पर अजित पवार द्वारा नई सरकार के गठन को संबंधित विधायकों द्वारा चुनौती दी जा सकती है कि उनके समर्थन पत्र को धोखे से लिया गया. 
  • क्या इस वजह से अजित पवार ने बदला पाला? कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने किया Tweet
    महाराष्ट्र के सियासी उलटफेर पर कांग्रेस ने बीजेपी पर निशाना साधा है. कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट कर कहा, ''ईडी ने कुछ महीने पहले ही 25000 करोड़ के कथित मनी लॉन्डरिंग केस में अजित पवार के खिलाफ केस दर्ज किया था. ऐसे मामलों को बंद कराने का ये आसान तरीका है.'' 
  • PM मोदी ने पूरा किया वादा, देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री बनवाकर ही लिया दम
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था, "देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में आने वाले पांच साल महाराष्ट्र के विकास को और अधिक ऊंचाई पर ले जाने वाले होंगे, ऐसी मुझे उम्मीद है. हरियाणा और महाराष्ट्र, भाजपा के परंपरागत राज्य नहीं थे, फिर भी इस तरह के नतीजे दोनों मुख्यमंत्रियों द्वारा ईमानदारी से जनता की सेवा का परिणाम है." प्र
  • कौन हैं महाराष्ट्र के नए 'किंगमेकर' अजित पवार? 
    अजित पवार (Ajit Pawar) की सियासी कर्मभूमि बारामती है, जहां शरद पवार ने भी राजनीति का ककहरा सीखा था. अजित पवार यहां से 1991 से अब तक 7 बार विधायक चुने गए हैं.
  • महाराष्ट्र के सियासी उलटफेर पर कुमार विश्वास का Tweet, बोले- अब शेरो-शायरी...
    कुमार विश्वास (Kumar Vishvas)) ने ट्वीट किया, '' यानि अब शेर-ओ-शायरी सिर्फ़ हम लोग के लिए बख्श दी जाएगी? या पूरे पांच साल दर्द और बदले के शेर सुनने पड़ेंगे?
  • शिवसेना नेता संजय राउत का नया Tweet, लिखा- 'पाप के सौदागर'
    महाराष्ट्र के ताजा घटनाक्रम पर शिवसेना नेता संजय राउत ने ट्वीट किया, 'पाप के सौदागर!' संजय राउत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अजित पवार पर जमकर निशाना साधा.
  • क्या शरद पवार ने सोनिया गांधी से 1991 का हिसाब चुकता कर लिया?
    शरद पवार (Sharad Pawar) कई मौकों पर कहते रहे हैं कि सोनिया गांधी के 'वीटो' की वजह से वे 1991 में प्रधानमंत्री नहीं बन पाए.
  • महाराष्ट्र: BJP नेता देवेंद्र फडणवीस ने दोबारा ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, NCP नेता अजित पवार बने डिप्टी सीएम
    महाराष्ट्र में जारी उठापटक के बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है. बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने दोबारा सीएम पद की शपथ ली है. वहीं, एनसीपी नेता अजित पवार ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली है. सुबह करीब आठ बजे राजभवन में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने दोनों नेताओं को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई.
  • महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे लेंगे सीएम पद की शपथ, शिवसेना की इच्छा होगी पूरी; एनसीपी-कांग्रेस सहमत
    महाराष्ट्र में शिवसेना को आखिरकार मुख्यमंत्री का पद मिलने जा रहा है. आज शाम को एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने इसकी घोषणा कर दी. शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. महाराष्ट्र में एनसीपी-शिवसेना और कांग्रेस के बीच सरकार के गठन को लेकर अंतिम फैसला हो चुका है. इसके मुताबिक शिवसेना का मुख्यमंत्री पूरे पांच साल के लिए बनेगा. दो डिप्टी सीएम कांग्रेस और एनसीपी के बनेंगे और दोनों पांच साल तक रहेंगे.
«1234567»

Advertisement