इंजमाम-उल-हक ने दुनिया भर के बल्लेबाजों को दिया 'सचिन चैलेंज'

इंजमाम ने कहा, "मुझे इस बात पर अभी भी हैरानी होती है कि उन्होंने 16-17 साल की उम्र में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पदार्पण किया और शानदार काम किया.

इंजमाम-उल-हक ने दुनिया भर के बल्लेबाजों को दिया 'सचिन चैलेंज'

इंजमाम उल हक की फाइल फोटो

लाहौर:

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट कप्तान इंजमाम-उल-हक (Inzmam-Ul-Haq) ने एक तरह से दुनिया के बल्लेबाजों को 'सचिन चैलेंज' दिया है. एक समय पूर्व कप्तान और पाकिस्तान के वर्तमान पीएम इमरान खान एक समय इंजमाम और सचिन की तुलना करते थे, लेकिन करियर की समाप्ति पर सचिन ने इंजमाम को मीलों पीछे छोड़ दिया था. अब क्रिकेट पंडित और पूर्व क्रिकेटर अब सचिन तेंदुलकर की तुलना विराट कोहली से से करते हैं. आपको याद दिला दें कि सचिन ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 664 मैचों में कुल 34,357 रन बनाए हैं. सचिन ने अपने करियर में 200 टेस्ट और 463 वनडे के अलावा एक टी-20 अंतर्राष्ट्रीय भी खेला था. 

यह भी पढ़ें: मेजबान बांग्लादेश ने एकमात्र टेस्ट में जिंबाब्वे को बड़े अंतर से दी मात

भारतीय टीम के मौजूदा कप्तान विराट कोहली को सचिन के रिकार्ड को तोड़ने के सबसे प्रबल दावेदार के रूप में देखा जाता है, लेकिन इंजमाम इंतजार कर देखना चाहते हैं कि कौन मास्टर ब्लास्टर के रनों के पहाड़ को पार करता है. उन्होंने एक तरह से इस पीढ़ी के बल्लेबाजों को चैलेंज देते हुए कहा कि उन्हें इंतजार है कि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने के सचिन तेंदुलकर के रिकार्ड को कौन बल्लेबाज तोड़ता है. इंजमाम ने यूट्यूब चैनल पर कहा, "वह क्रिकेट के लिए पैदा हुए थे. मुझे हमेशा से लगता है कि क्रिकेट और वो एक दूसरे के लिए बने थे. मैं सर्वकालिक महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर की बात कर रहा हूं"

यह भी पढ़ें: कपिल देव ने केएल राहुल के बहाने खड़ा किया यह बड़ा सवाल

उन्होंने कहा, "मुझे इस बात पर अभी भी हैरानी होती है कि उन्होंने 16-17 साल की उम्र में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पदार्पण किया और शानदार काम किया. यह तभी मुमकिन हो सकता है जब कोई असाधारण हो. बल्कि असाधारण से भी आगे कोई है, तो वो हैं सचिन." उन्होंने कहा, "कहना आसान है, करना मुश्किल. उन्होंने वकार यूनुस और वसीम अकरम के सामने 16 साल की उम्र में पदार्पण किया था. उन्होंने जिस तरह की क्रिकेट खेली, जिस गेंदबाजी आक्रमण के सामने खेली, वो चमत्कारिक था." सचिन इकलौते ऐसे क्रिकेटर हैं जिनके नाम 100 अंतर्राष्ट्रीय शतक हैं.

VIDEO:  पिंक बॉल बनने की पूरी कहानी जान लीजिए, स्पेशल स्टोरी. 

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान ने कहा, "मुझे लगता है कि उनकी दूसरी सबसे बड़ी विशेषता उनके रिकार्ड हैं. उस दौरान, इतने रन बनाने का चलन नहीं था. महान खिलाड़ी आठ, साढ़े आठ हजार रन तक बनाते थे. सिर्फ सुनील गावस्कर ने 10 हजार रन बनाए थे और ऐसा लगता था कि रिकॉर्ड नहीं टूटेगा। लेकिन सचिन ने रन बनाकर सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए. अब मुझे इंतजार है कि सचिन के रनों के पहाड़ को कौन पार करेगा"

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com