NDTV Khabar
होम | पंजाब

पंजाब

  • अमृतसर: सरकारी कर्मचारियों के बैंक खातों में आई डबल सैलरी, दिवाली का बोनस समझ रहे थे मगर...
    अगर आपके खाते में एक महीने की सैलरी के बदले, दो महीने की सैलरी क्रेडिट हो जाए, तो आपकी खुशी का क्या ठिकाना होगा? दरअसल, पंजाब के अमृतसर में कई सरकारी कर्मचारियों की तब खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा जब उन्होंने पाया कि उन्हें अक्टूबर महीने की तनख्वाह दो बार मिल गयी है. उन्हें लगा कि पंजाब सरकार ने उन्हें दिवाली का उपहार दिया है. लेकिन उनकी खुशी तब रफूचक्कर हो गई जब उन्हें बताया गया कि भूल से उनके बैंक खातों में अतिरिक्त रकम चली गयी है और वे उस अतिरिक्त राशि को नहीं निकालें.
  • पंजाब: टॉयलेट में सेनेटरी पैड देख टीचर ने कथित तौर पर लड़कियों के उतरवाए कपड़े
    पंजाब के फाजिल्का जिले में एक सरकारी बालिका विद्यालय में शौचालय के अंदर एक फेंका हुआ सेनेटरी पैड मिलने के बाद शिक्षिकाओं ने यह देखने के लिये कुछ छात्राओं के कपड़े उतरवा दिये कि उनमें से किसने सेनेटरी पैड पहना है. एक वीडियो क्लिप में कुछ लड़कियां रोते हुए यह शिकायत करती दिख रही हैं कि तीन दिन पहले कुंडल गांव में उनके विद्यालय परिसर में शिक्षिकाओं ने उन्हें निर्वस्त्र किया.
  • आम आदमी पार्टी ने बागी नेता सुखपाल सिंह खैरा को पार्टी से निलंबित किया, यह है वजह
    आम आदमी पार्टी (आप) ने असंतुष्ट नेताओं में से बागी तेवर अपनाने वाले सुखपाल सिंह खैरा और कंवर संधू को कथित रूप से ‘पार्टी विरोधी गतिविधियों’ में लिप्त रहने के लिए शनिवार को पार्टी से निलंबित कर दिया. आम आदमी पार्टी की पंजाब इकाई की कोर कमेटी ने चंडीगढ़ में यह निर्णय लिया जिसकी अध्यक्षता विधायक बुध राम कर रहे थे. 
  • पंजाब में उग्रवाद को ‘पुनर्जीवित’ करने के लिए प्रयास किये जा रहे हैं: सेना प्रमुख
    पंजाब में जो कुछ हो रहा है, हम अपनी आंखें बंद नहीं कर सकते हैं और, अगर हम अब जल्द कार्रवाई नहीं करते हैं, तो बहुत देर हो जायेगी. पंजाब ने 1980 के दशक में खालिस्तान समर्थक आंदोलन के दौरान उग्रवाद का एक बहुत बुरा दौर देखा था जिस पर अंतत: सरकार ने काबू पा लिया था. पैनल चर्चा में उत्तर प्रदेश के पूर्व डीजीपी प्रकाश सिंह ने भी इस मुद्दे को रेखांकित किया और कहा कि पंजाब में उग्रवाद को पुनर्जीवित किये जाने के प्रयास किये जा रहे है.
  • पंजाब में बॉर्डर के नजदीक दो संदिग्ध पाकिस्तानी पकड़े गए, पाक आर्मी का पहचान पत्र बरामद : रिपोर्ट
    भारतीय सुरक्षाबलों ने एक बार फिर पाकिस्तान के मंसूबों पर पानी फेर दिया है. सूत्रों के मुताबिक बीएसएफ (Border Security Force) ने रविवार को फिरोजपुर में दो संदिग्ध पाकिस्तानी नागरिकों को पकड़ा है. दोनों संदिग्धों के पास से पाकिस्तानी सेना का पहचान पत्र, चार फोटोग्राफ, फोन पाकिस्तानी करेंसी और अन्य सामान बरामद किया गया है.
  • महिला अधिकारी को मंत्री जी का मैसेज, सीएम ने मंगवाई माफी, कांग्रेस बोली- यह यौन उत्पीड़न नहीं
    पंजाब के एक मंत्री द्वारा एक महिला अधिकारी को कथित रुप से ‘अनुपयुक्त संदेश’ भेजने पर उठे विवाद के बीच कांग्रेस सचिव आशा कुमारी ने शुक्रवार को कहा कि एसएमएस संदेश कोई यौन उत्पीड़न नहीं है. उनकी इस टिप्पणी पर विपक्षी शिरोमणि अकाली दल ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की. उसने आरोप लगाया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कुमारी को तकनीकी शिक्षा मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की करतूतों पर लीपापोती करने का जिम्मा सौंपा है. पार्टी के पंजाब मामलों की प्रभारी कुमारी ने सीबीआई में हाल के उठापठक के खिलाफ यहां पार्टी के प्रदर्शन के मौके पर संवाददाताओं से बातचीत में यह बात कही.
  • पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह 5 दिन की इजरायल यात्रा पर गए
    पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह  पांच दिन की इज़राइल यात्रा पर रविवार की शाम को पहुंच गए हैं.  उनकी इस यात्रा का लक्ष्य कृषि, वानिकी और डेयरी के क्षेत्र में आपसी सहयोग को मजबूत करना है. सिंह के साथ अधिकारियों का एक शिष्टमंडल भी आया है. सिंह कृषि, वानिकी, डेयरी और दूषित जल शोधन के क्षेत्र में काम करने वाली विभिन्न कंपनियों और संस्थानों दौरा करेंगे ताकि पंजाब की जरूरतें पूरी करने वाले मौकों का लाभ लिया जा सके.
  • अमृतसर ट्रेन हादसा : 62 लोगों की मौत का जिम्मेदार कौन, 3 दिन बाद डीजीपी बोले- हम पता लगाएंगे
    पंजाब के डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने कहा है कि अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (रेलवे) इकबाल प्रीत सिंह सहोता अमृतसर ट्रेन हादसे की जिम्मेदारी तय करने के लिए जांच करेंगे. डीजीपी ने कहा कि अमृतसर में किसकी ओर से ‘‘लापरवाही’’ हुई है और इस जांच का आदेश जिम्मेदारी तय करने के लिए दिया गया है.
  • Amritsar Train Accident : स्थानीय लोगों ने कहा, ट्रेन ड्राइवर झूठ बोल रहा है, आस-पास मृत और घायल लोग पड़े हों और हम पत्थर फेकेंगे?
    बता दें कि पुलिस और रेलवे अधिकारियों को दिये एक बयान में ट्रेन के चालक ने कहा कि उसने ट्रेन नहीं रोकी क्योंकि दुर्घटनास्थल पर भीड़ ने पत्थर फेंकना शुरू कर दिया था. 19 अक्टूबर को रावण का पुतला दहन देखने के दौरान एक ट्रेन की चपेट में आने से 62 लोगों की मौत हो गई थी. 
  • अमृतसर रेल हादसा : सिद्धू ने रेलवे पर साधा निशाना, कहा - ट्रेन ड्राइवर को एक दिन में ही क्यों क्लीन चिट दी जा रही है
    पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने रविवार को भारतीय रेलवे पर निशाना साधते हुए उसके कामकाज पर कई सवाल उठाये और पूछा कि कैसे ट्रेन के लोको पायलट को ‘क्लीन चिट’ दी जा रही है.
  • अमृतसर हादसा : झड़प के बाद पटरियों से हटाए गए प्रदर्शनकारी, 40 घंटे बाद बहाल हुई ट्रेन सेवाएं
    अमृतसर में जिस रेलवे ट्रैक पर दशहरे के दिन 61 लोगों की जान चली गई थी ठीक उसी रेलवे ट्रैक पर रविवार को ट्रेन निकालकर रेल सेवा बहाल कर दी गई. इससे पहले स्थानीय लोगों और पुलिस में जोर आजमाइश भी हुई और हिंसा भी.
  • अमृतसर ट्रेन हादसा: CCTV में देखें कैसे हादसे के बाद फरार हुआ रावण दहन का आयोजक सौरभ मदान
    पंजाब के अमृतसर (Amritsar train accident) में दशहरा के दिन एक ट्रेन हादसे ने खुशी के पल को ऐसे मातम में बदला कि 61 जिंदगियां काल के गाल में समा गईं. दरअसल, रावण दहन को देखने के लिए लोग पटरियों की ट्रैक पर खड़े थे , तभी ट्रेन गुजरी और उसकी चपेट में आने से इतने सारे लोग मर गये. हालांकि, इस हादसे के बाद आरोप- प्रत्यारोप का दौर जारी है. पुलिस को रामलीला के आयोजक की तलाश अब भी जारी है, जो घटना के बाद से फरार बताया जा रहा है. पुलिस की मानें तो घटना के बाद से कांग्रेस नेता का बेटा अमृतसर के जोड़ा फाटक में रामलीला का आयोजक सौरभ मदान मिट्ठू फरार है. मगर अब एनडीटीवी को जो सीसीटीवी फुटेज मिला है, उसमें दिख रहा है कि अमृतसर हादसे के तुरंत बाद सौरभ मदान गाड़ी में बैठकर भाग जाता है. बता दें कि शुक्रवार को दशहरा के दिन अमृतसर में जोड़ा फाटक के पास रावण दहन के दौरान ट्रेन की चपेट में आने से 61 लोगों की मौत हो गई और 50 से अधिक घायल हो गये. 
  • अमृतसर ट्रेन हादसा: 'रावण दहन' के आयोजक के घर पर पथराव, प्रशासन पर फूटा लोगों का गुस्सा
    पंजाब के अमृतसर में हुए रेल हादसे के बाद से स्थानीय लोगों का गुस्सा लगातार फूट रहा है. अमृसर ट्रेन हादसे में सुरक्षा व्यवस्थआ में पुलिस की खामियों को लेकर यहां के स्थानीय लोग आक्रोशित हैं और वे लोग घटना स्थल पर लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं. इतना ही नहीं, शनिवार की रात को भी इनका प्रदर्शन जारी रहा. बताया जा रहा है कि रविवार को भी ये लोग बड़ी संख्या में घटनास्थल यानी की रेलवे ट्रैक के पास जमा हैं. इनका कहना है कि सरकार लोगों की मौत के आंकड़े को कम बता रही है. साथ ही मामले में कार्रवाई करने में देरी की जी रही है. इसके अलावा रावण दहन के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में पुलिस की खामियों को लेकर भी लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है. बताया जा रहा है कि घटनास्थल और आसपास के इलाके में तनाव की स्थिति है. यही वजह है कि भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है.
  • अमृतसर ट्रेन हादसा: अब भी अपनों के इंतजार में है 10 माह का मासूम, अस्पताल ने हेल्पलाइन नंबर जारी कर मांगी मदद
    पंजाब के अमृतसर में रावण दहन के दौरान हुए ट्रेन हादसे से अब भी लोग नहीं उबर पाए हैं. अमृतसर ट्रेन हादसे में 61 लोगों की जान चली गई और कुछ लोग अपनों से बिछड़ भी गए. एक ओर जहां, अभी भी ऐसे कई परिवार अथवा लोग हैं, जिन्हें अपनों का इंतजार है और वहीं, हादसे में घायल मिला एक बच्चा ऐसा भी है, जिसे अब तक उनके अपने लेने नहीं आए हैं. दरअसल, रावण दहन के दौरान अमृतसर ट्रेन हादसे में घायलों में एक ऐसा बच्चा भी है, जिसे लेने के लिए अभी तक उसका परिवार सामने नहीं आया है. बता दें कि दशहरा के दिन रावण दहन देखने के दौरान लोग ट्रैक पर खड़े थे और ट्रेन आई और उन्हें कुचलती हुई चली गई. इस घटना में अब तक 61 की मौत हुई है और 50 से अधिक घायल हैं.
  • Amritsar Train Accident: 61 लोगों की मौत का कोई जिम्मेदार नहीं? हर किसी ने झाड़ा पल्ला
    पंजाब के अमृतसर शहर (Amritsar train accident) में दशहरा के दिन एक ट्रेन हादसे ने खुशी के पल को पूरी तरह से मातम में बदल दिया. अमृतसर के जोड़ा फाटक के पास दशहरे के दिन (Dussehra 2018) रावण दहन देखने के दौरान हुए अमृतसर ट्रेन हादसे (Train accident in Amritsar) में 61 लोगों की जान चली गई और 50 से अधिक लोग घायल हो गये, मगर आश्चर्य है कि इस बड़ी त्रासदी की जिम्मेवारी लेने वाला कोई नहीं है. राज्य सरकार से लेकर रेलवे तक हर कोई इस घटना से पल्ला झाड़ने में लगा है. पुलिस कभी आयोजकों को जिम्मेदार मान रही है तो कभी आयोजक पुलिस को. हालांकि, सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने न्यायिक जांज के आदेश दे दिए हैं, जिसकी रिपोर्ट चार हफ्ते में मिल जाएगी. तो चलिए जानते हैं कि कौन क्या कह कर इस  पूरे मामले से अपना पल्ला झाड़ने की कोशिश में है.
  • अमृतसर ट्रेन हादसे में खुलासा: पुलिस ने दी थी 'रावण दहन' कार्यक्रम के लिए NOC, जानें घटना से जुड़ी 10 बातें
    पंजाब के अमृतसर शहर (Amritsar train accident) में एक ट्रेन हादसे ने खुशी के पल को पूरी तरह से मातम में बदल दिया. ट्रेन हादसा भले ही अमृतसर में हुआ, मगर इसके शोक पूरा देश डूब गया. दरअसल, अमृतसर शहर (Amritsar train accident) के जोड़ा फाटक इलाके में दशहरे (Dussehra 2018) के दौरान हुए अमृतसर ट्रेन हादसे (Train accident in Amritsar) में एक नया खुलासा सामने आया है. ट्रेन हादसे में आरोप-प्रत्यारोप के दौर के बीच पुलिस ने स्वीकार किया कि उसने आयोजकों को अनापत्ति प्रमाण पत्र दिया था लेकिन कहा कि कार्यक्रम के लिये नगर निगम की भी मंजूरी की जरूरत थी. इस बीच सामने आए एक खत से संकेत मिले हैं कि आयोजकों - स्थानीय कांग्रेस पार्षद के परिवार ने कार्यक्रम स्थल पर सुरक्षा इंतजाम की भी मांग की थी जहां पंजाब के मंत्री नवजोत सिद्धु और उनकी पूर्व विधायक पत्नी नवजोत कौर सिद्धु के आने की उम्मीद थी. प्रत्यक्षदर्शियों ने हालांकि शिकायत की कि जोड़ा फाटक के पास पटरियों के साथ लगे मैदान में लोगों की सुरक्षा के लिये इंतजाम पर्याप्त नहीं थे. दरअसल, दशहरा के दिन रावण देखने आए लोग ट्रैक पर खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे, तभी ट्रेन से कटकर करीब 61 लोगों की मौत हो गई और पचास से अधिक घायल हो गये. हालांकि, इस घटना की न्यायिक जांच के आदेश दे दिये गए हैं.
  • VIDEO: 'मैडम, 500 ट्रेन गुजर जाए, तब भी 5000 लोग ट्रैक पर खड़े रहेंगे', हादसे से पहले नवजोत कौर से बोला मंच संचालक
    पंजाब के अमृतसर (Amritsar train accident) में दशहरे के दिन रावण दहन देखने आए लोगों पर से ट्रेन का गुजरी कई परिवारों की तो खुशियां ही उजर गईं. अमृतसर में जोड़ा फाटक के पास शुक्रवार की शाम रावन दहन के दौरान ट्रेन की चपेट में आने से 59 लोगों की मौत हो गई है और 50 से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं, जिनमें कुछ की हालत गंभीर बनी हुई है. बताया जा रहा है कि रावण दहन देखने के लिए यह भीड़ जोड़ा फाटक के नजदीक रेलवे ट्रैक पर खड़ी थी, तभी ट्रेन तेज रफ्तार में आई और कुचल कर चली गई. अब इस मामले में एक नया खुलासा यह सामने आया है कि आयोजनकर्ताओं और नवजोत कौर सिद्धू को पहले से रेलवे ट्रैक पर खड़ी भीड़ के बारे में पता था. 
  • Indian Railway का अमृतसर ट्रेन हादसे पर बड़ा बयान -  ना होगी जांच और ना कार्रवाई, रेलवे की कोई गलती नहीं
    Amritsar Train Accident: रेलवे के तरफ से कहा गया है कि किसी भी प्रकार की कोई जांच नहीं की जाएगी. भूमि रेलवे की नहीं थी न ही रेलवे से को आज्ञा ली गई थी, पढ़िए पूरा बयान
  • अमृतसर ट्रेन हादसा : मृतकों और घायलों की List हुई जारी, 61 लोगों की मौत और 113 घायल
    Amritsar Train Accident: इस लिस्ट में अमृतसर ट्रेन हादसे में घायल और मृतकों के नाम, उम्र, पति एंव पिता के नाम और घर का पता दिया गया है.
  • Amritsar train accident: हादसे की होगी न्यायिक जांच, CM अमरिंदर बोले- 4 हफ्ते में जांच रिपोर्ट मांगी
    पंजाब (Punjab Train Mishap) के अमृतसर (Amritsar train accident) में दशहरे के दिन रावण दहन के दौरान 59 लोगों की मौत के मामले पर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने दुख जताया है. घटना के एक दिन बाद शनिवार को अमृतसर पहुंच कर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और इस मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए. बता दें कि अमृतसर में शुक्रवार की शाम रावन दहन के दौरान ट्रेन की चपेट में आने से 59 लोगों की मौत हो गई है और 50 से ज़्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं, जिनमें कुछ की हालत गंभीर बनी हुई है. 
12345»

Advertisement